--Advertisement--

सर्द रात में नंगा कर पूरी रात हुई इस शख्स की प‍िटाई, ऐसा हो गया शरीर

कानपुर: गाड़ी चलाने से इनकार करने पर बदमाशों ने बीएसएनएल कर्मचारी की घर में घुसकर प‍िटाई की।

Dainik Bhaskar

Nov 28, 2017, 04:58 PM IST
पीड़‍ित बीएसएनएल में फोर्थ ग्रेड कर्मचारी है। पीड़‍ित बीएसएनएल में फोर्थ ग्रेड कर्मचारी है।

कानपुर. बीएसएनएल कर्मचारी की दबंगों द्वारा बुरी तरह प‍िटाई क‍िए जाने का मामला सामने आया है। आरोप है क‍ि दबंग उस पर अपनी गाड़ी चलवाने का दबाव बना रहे थे। उसके इनकार क‍रने पर सोमवार रात उसके घर में ही उसे बंधक बना ल‍िया। फ‍िर नंगा कर खुले आसमान के नीचे तब तक पीटा, जब तक वो बेहोश नहीं हो गया। आगे पढ़‍िए पूरा मामला...

- कानपुर के नौबस्ता थानाक्षेत्र न‍िवासी संतोष कुमार कुशवाहा (48) बीएसएनएल के ग्रुप डी का कर्मचारी है। यह ड्राइवर है। घर पर अकेले रहता है। पत्नी अनीता से 7 साल पहले तलाक हो चुका है।

- उन्होंने बताया, ''मेरे इलाके में रवि कुशवाहा रहता है, जो दबंग है। उसका किदवई नगर में होटल है। बीते 15 दिनों से वह मुझ पर अपनी स्कॉर्पियो चलाने का दबाव बना रहा था, लेक‍िन मैंने इनकार कर द‍िया।''

- ''इस बात से नाराज रव‍ि ने जान से मारने की धमकी देने लगा। सोमवार रात को वह अपने दो साथियों के साथ मेरे घर के अंदर घुस आया और बंधक बनाकर एक कमरे में बंद कर द‍िया।''

- ''इसके बाद सभी दूसरे कमरे में जाकर शराब पीने लगे। फ‍िर मेरे कमरे में आए और बाहर न‍िकालकर मुझे नंगा कर द‍िया और बेल्ट से प‍िटाई करने लगे। पूरी रात मेरी प‍िटाई करते रहे, जब मैं बेहोशी की हालत में हो गया तो छोड़कर चले गए। प‍िटाई से मेरा एक हाथ टूट गया।''

- ''सुबह होने पर पड़ोस‍ियों से आपबीती बताई। इसके बाद क‍िसी तरह पुल‍िस के पास पहुंचकर पूरी घटना के बारे में जानकारी दी।''

- नौबस्ता इन्स्पेक्टर मनोज कुमार रघुवंशी ने बताया, कुछ लोगों ने बीएसएनएल कर्मचार‍ी की प‍िटाई की है। मेडिकल के लिए भेजा रहा है। श‍िकायत के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

पूरी रात बदमाशों ने बेल्ट से प‍िटाई की। पूरी रात बदमाशों ने बेल्ट से प‍िटाई की।
पूरा शरीर जख्मों से लाल हो गया। पूरा शरीर जख्मों से लाल हो गया।
खुले आसमान के नीचे रात भर कराहता रहा संतोष। खुले आसमान के नीचे रात भर कराहता रहा संतोष।
X
पीड़‍ित बीएसएनएल में फोर्थ ग्रेड कर्मचारी है।पीड़‍ित बीएसएनएल में फोर्थ ग्रेड कर्मचारी है।
पूरी रात बदमाशों ने बेल्ट से प‍िटाई की।पूरी रात बदमाशों ने बेल्ट से प‍िटाई की।
पूरा शरीर जख्मों से लाल हो गया।पूरा शरीर जख्मों से लाल हो गया।
खुले आसमान के नीचे रात भर कराहता रहा संतोष।खुले आसमान के नीचे रात भर कराहता रहा संतोष।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..