ट्रांसफर से गुस्साए दरोगा ने लगाई थी 60 किलोमीटर की दौड़, अब जांच के बाद हुए निलंबित

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दारोगा विजय प्रताप हुए निलंबित - Dainik Bhaskar
दारोगा विजय प्रताप हुए निलंबित
  • विरोध प्रदर्शन के तौर पर दरोगा ने 60 किलोमीटर दौड़ लगाने की ठानी थी
  • बीच रास्ते में ही तबियत खराब होने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था

इटावा. जिले में एक दिलचस्प वाकया उस समय सामने आया जब अपने ट्रांसफ़र किए जाने से नाराज़ दरोगा ने विरोध प्रदर्शन के रूप में 60 किलोमीटर की दौड़ लगाने की ठान ली। लेकिन कुछ ही दूर जाने के बाद दरोगा रास्ते में बेहोश हो गए जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाद में दरोगा विजय प्रताप को ड्यूटी के दौरान गैर हाजिर होने के मामले का हवाला देते हुए निलंबित कर दिया गया।
 
इटावा पुलिस के दरोगा विजय प्रताप की आरआई से नाराजगी के चलते दौड़ कर 60 किमी थाने में ड्यूटी जॉइन करने की खबर प्रसारित होने के बाद दरोगा विजय प्रताप के खिलाफ यह कार्रवाई की गई।
 

आरआई पर लगाया था ट्रांसफर करने का आरोप
वहीं दरोगा विजय प्रताप का कहना था कि अधिकारों का दुरुपयोग करके उनका ट्रांसफ़र किया गया था और इसका विरोध करते हुए वो 60 किमी तक दौड़ लगाएंगे और लोगों को जागरूक करने की ठानी थी। उन्होंने कहा कि, \'आरआई (रिजर्व इंस्पेक्टर ऑफ पुलिस) की तानाशाही की वजह से मेरा ट्रांसफर किया जा रहा है।

एसएसपी ने पुलिस लाइन में ही रहने को कहा था
एसएसपी ने मुझे पुलिस लाइन में ही रहने को कहा था, लेकिन आरआई जबरन मेरा तबादला बिठोली थाने कर रहे हैं। आप इसे मेरा गुस्सा कहें या नाराजगी, मैंने दौड़ते हुए ही बिठोली जाने का निर्णय लिया था। 
 
एसएसपी इटावा के मुताबिक इटावा के व्हाट्सप्प ग्रुप पर दरोगा विजय प्रताप के द्वारा पूर्व में फेसबुक पर पीएम, सीएम के विरोध में टिपण्णी, अनुशाशनहींता, ड्यूटी पर गैर हाजिर होने के आरोप में उन्हें निलंबित किया गया है।

खबरें और भी हैं...