कानपुर / डॉक्टर ने नशे का इंजेक्शन लगा किया बेहोश; क्लीनिक में 11वीं की छात्रा से गैंगरेप

पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी। पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी।
X
पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी।पुलिस मामले की पड़ताल में जुटी।

  • 22 नवंबर की घटना, दस दिनों तक आरोपी पूरे परिवार को धमकाता रहा
  • अहमदाबाद से पिता के आने पर बेटी पहुंची चौकी, पर पुलिस ने नहीं सुनी फरियाद
  • एसएसपी से न्याय मांगने पर केस दर्ज हुआ

Dainik Bhaskar

Dec 04, 2019, 11:06 AM IST

कानपुर. यहां एक डॉक्टर की क्लीनिक में नशे का इंजेक्शन देकर 11वीं की छात्रा से गैंगरेप का मामला प्रकाश में आया है। वारदात 10 दिन पहले की है। आरोप है कि, इस बीच दबंग किसी के सामने मुंह नहीं खोलने के लिए धमकाते रहे, जबकि न्याय दिलाने के बजाय पुलिस सुलह का दबाव बना रही थी। पीड़िता का पिता जब अहमदाबाद से लौटा तो वह बेटी को लेकर एसएसपी के सामने पेश हुआ। एसएसपी के आदेश पर मुकदमा लिखा गया है। 

मां के साथ गांव में अकेली रहती है छात्रा
घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र की रहने वाली पीड़िता के पिता अहमदाबाद में प्राईवेट नौकरी करते हैं। पीड़िता गांव में मां के साथ अकेली रहती है। 22 नवंबर को वह स्कूल जा रही थी। आरोप है- रास्ते में प्रॉपर्टी डीलर राज सिंह ने छात्रा को स्कूल छोड़ने की बात कहकर कार में बैठा लिया। राज सिंह जबरन छात्रा को कुल्हौली गांव के एक क्लीनिक ले गया। जहां उसे जबरन नशीला इंजेक्शन लगाया गया। इसके बाद राज सिंह, डॉक्टर और उसके साथी ने गैंगरेप किया।

आरोपी ने बताया, बेटी की तबियत खराब, चल रहा इलाज
जब छात्रा स्कूल से घर नहीं पहुंची तो मां ने उसकी तलाश शुरू की। वह स्कूल भी नहीं पहुंची थी। छात्रा की मां को रास्ते में राज सिंह मिला तो उसने बताया कि स्कूल के पास एक क्लीनिक है, वहां पर भर्ती है। उसकी तबियत ठीक नहीं है। क्लीनिक पर छात्रा बेहोशी की हालत में थी। उसे ग्लूकोज चढ रहा था। छात्रा की मां उसे घर लेकर आई और जब वह दूसरे दिन होश में आई तो उसने मां को आप बीती बताई। पिता को भी मामले से अवगत कराया गया। 

आरोप है कि, इसके बाद राज सिंह छात्रा के परिवार को धमकी देता रहा। परिवार की गाड़ाबंदी होने लगी। राजसिंह के पक्ष में गांव के लोग भी छात्रा के परिवार पर दबाव बनाने लगे कि पुलिस से शिकायत नहीं की जाए।

चौकी पुलिस ने नहीं सुनी तो पिता गया एसएसपी के पास
सोमवार को छात्रा का पिता जब अहमदाबाद से लौट कर आया तो उसने साहस दिखाते हुए बेटी को लेकर साढ चौकी पहुंचा। लेकिन पुलिस ने उनकी फरियाद नहीं सुनी। इसके बाद वह बेटी के साथ एसएसपी ऑफिस पहुंचा। एसएसपी के आदेश के बाद बिधनू थाने में एफआईआर दर्ज की गई है।   

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना