कानपुर / लोहे की रॉड से पीटकर पति ने की पत्नी की हत्या, बच्चों की हालत नाजुक



Husband beat wife and two innocent children with iron rod
X
Husband beat wife and two innocent children with iron rod

  • पत्नी की मौत के बाद पति ने ट्रक के सामने कूद कर दे दी जान 
  • दोनों बच्चों को गंभीर हालत में हैलट अस्पताल में भर्ती कराया गया

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 01:25 PM IST

कानपुर. जिले के भोगनीपुर थानाक्षेत्र में एक युवक ने शनिवार देर रात पत्नी की लोहे की रॉड से पीट-पीट कर हत्या दी। इस दौरान उसने दो मासूम बच्चों को भी इस कदर पीटा कर वो जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं। बाद में उसने खुद भी हाइवे पर जाकर वाहन के सामने कूद कर जान दे दी।घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों मासूम बच्चो को कानपुर के हैलट अस्पताल में भर्ती कराया है। दोनों बच्चों की हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस ने पत्नी और पति के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

 

मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने की वजह से छोड़ दी थी नौकरी
जिले के भोगनीपुर थाना क्षेत्र स्थित गांधीनगर में रहने वाले दीपक यादव (35) मर्चेंट नेवी में थे। मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण दीपक यादव ने 2011 मे नौकरी छोड़ दी थी। परिवार में पिता रामबिहारी बीएसएफ से रिटार्यड हैं। मां सुमन , पत्नी रश्मी (32) दो बेटों मयंक (6) और हनी (4) के साथ रहते थे। दीपक मानसिक रूप से बिमार रहता था जिसका उपचार चल रहा था।

 

शनिवार को दीपक को डॉक्टर को दिखाना था
दीपक को बीते शनिवार को दवा लेने के लिए जाना था। लेकिन परिजनों का कहना है कि अयोध्या मामले पर फैसला आना था जिसकी वजह से परिवार दीपक को लेकर डॉक्टर के पास नहीं गया था। दीपक रोजाना रात के वक्त पुखरायां रेलवे स्टेशन पर जान देने की बात कह कर भाग जाता था । परिजन और पड़ोसी आयदिन उसे पकड़ कर लाया करते थे ।

 

बीते शनिवार की रात दीपक मकान में परिवार के साथ उपर वाले कमरे सो रहा था। इसी दौरान दीपक ने सोते वक्त पत्नी और बच्चों पर लोहे की रॉड से हमला कर दिया। रश्मी की मौके पर ही मौत हो गई। हत्या करने के बाद जब दीपक देर रात कमरे से नीचे आया तो उसकी मां सुमन की नींद खुल गई। सुमन ने दीपक से पूछा कि कहा जा रहे हो। उसने कोई जवाब नहीं दिया और गेट खोलकर भाग गया।

 

सुमन ने पति रामबिहारी को जगाया और बताया कि दीपक फिर से जान देने के भाग गया है। रामबिहारी भी दीपक को पकड़ने के लिए पीछे गए । इसी दौरान दीपक हाईवे पर गया और ट्रक के आगे कूद कर जान दे दी। इधर जब सुमन बहु के कमरे में गई तो उन्होने देखा कि बेड पर रश्मी का शव पड़ा हुआ था। दोनो मासूम बच्चे दर्द से तड़प रहे थे।

 

हैलट अस्पताल में भर्ती हैं दोनों बच्चे
पुलिस ने दोनों बच्चों को कानपुर के देहात जिला अस्पताल लेकर पहुंची । बच्चो की हालत देखकर डॉक्टरों ने बच्चों को कानपुर के हैलट अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। दोनों बच्चों को आईसीयू में रखा गया है।

 

भोगनीपुर थानाध्यक्ष के मुताबिक दीपक की मानसिक स्थिति ठीक नहीं रहती थी। उसने पत्नी के सिर पर भारी वस्तु से हमला किया था। जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई है। इस घटना में दो बच्चे भी घायल हो गए हैं। इसके बाद दीपक ने भी सुसाईड कर लिया है।  

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना