कानपुर / होम्योपैथी डॉक्टर को झोलाछाप कहकर ताना मारते थे लोग, तनाव में आकर उसने खुद को आग लगाई

लपटों से घिरा डॉक्टर।
X

  • कानपुर के रेल बाजार इलाके की घटना, बीएचएमएस की डिग्री है डॉक्टर के पास
  • सीसीटीवी में कैद हुई घटना, पुलिस ने ताना मारने वालों की पहचान शुरू कर दी है

दैनिक भास्कर

Feb 21, 2020, 05:58 PM IST

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले से एक हैरान करने का वाला मामला सामने आया है। यहां एक होम्योपैथी डॉक्टर ने गुरुवार को खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा ली। लपटों से घिरा डॉक्टर क्लीनिक से बाहर निकल कर भागे। इसी बीच एक युवक ने आग पर काबू पाते हुए उसे अस्पताल पहुंचाया। उनकी हालत गंभीर है। शरीर 80 फीसदी शरीर झुलस चुका है। बताया जा रहा है कि होम्योपैथी डॉक्टर खुद को झोलाछाप कहे जाने से तनाव में था। लोग उसे झोलाछाप कहकर ताना मारते थे। यह पूरा मामला सीसीटीवी में कैद हो गया। 

लोगों ने डॉक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने की उड़ा दी थी अफवाह
लाल बंगले में रहने डॉक्टर संदीप सिंह बीएचएमएस डिग्रीधारक हैं। रेलबजार थाना क्षेत्र स्थित मीरपुर में संदीप सिंह अपने पिता इंद्रजीत सिंह के क्लीनिक में बैठते थे। संदीप सिंह पर झोलाछाप डॉक्टर होने का आरोप लगता था। इसके साथ ही लोगों ने यह भी अफवाह उड़ा दी थी कि संदीप सिंह पर मुकदमा दर्ज हो गया है। जिसे लेकर वह और भी तनाव में रहने लगे थे। गुरुवार को डॉक्टर ने खुद को आग के हवाले कर लिया। आग का गोला बनकर डॉक्टर मदद के लिए क्लीनिक से बाहर की तरफ भागा।


ताना मारने वालों पर होगी कार्रवाई
रेलबाजार इंस्पेक्टर दधिबल तिवारी ने बताया कि, शुरूआती जांच में यह बात सामने आई कि उन्हे कुछ लोग झोलाछाप डॉक्टर कह कर परेशान करते थे। इसके साथ ही मुकदमा लिखाने की धमकी देते थे। जिसकी वजह से वो तनाव में रहते थे। ऐसे लोगों को चिन्हित करने का काम शुरू कर दिया गया है। परिजनों की तरफ से जो भी तहरीर मिलेगी, उसी अधार पर कार्रवाई की जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना