कानपुर / सीएए के विरोध में 33 दिनों से धरने पर बैठीं महिलाओं से पुलिस ने पार्क खाली कराया, डीएम ने कहा- निर्दोष पर कार्रवाई नहीं होगी

पार्क खाली कराए जाने के बाद तैनाती पुलिसकर्मी। पार्क खाली कराए जाने के बाद तैनाती पुलिसकर्मी।
X
पार्क खाली कराए जाने के बाद तैनाती पुलिसकर्मी।पार्क खाली कराए जाने के बाद तैनाती पुलिसकर्मी।

  • नागरिकता संसोशन कानून (सीएए) को वापस लिए जाने की मांग को लेकर धरने पर बैठी थीं महिलाएं
  • पुलिस ने नोटिस जारी कर महिलाओं को चेतावनी दी थी, नहीं हटने पर पार्क खाली करने की कार्रवाई की

दैनिक भास्कर

Feb 10, 2020, 10:45 AM IST

कानपुर. जिले के मोहम्मद अली पार्क में 33 दिनों से सीएए के खिलाफ धरना दे रही महिलाओं से पुलिस ने देर रात जबरन पार्क खाली करवा लिया। इससे पहले शनिवार को डीएम से समझौते के बाद प्रशासन ने राष्ट्रगान के साथ ये धरना समाप्त करवा दिया था। इसके वावजूद कुछ महिलाएं धरने से हटने को तैयार नहीं थी। जिलाधिकारी ने आश्वासन दिया था किसी निर्दोष को जेल नहीं भेजा जाएगा। 

रविवार रात अधिकारियों की मौजूदगी में पार्क खाली करवाए जाने से नाराज सैकड़ों लोग सड़क पर उतर आए, जिन्हें पुलिस अधिकारी समझाने में जुटे हैं। तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए आईजी, डीआईजी पुलिस बल के साथ मोहम्मद अली पार्क पहुंचे। यहां लोगों को समझाया। डीआईजी अनंत देव तिवारी का कहना है कि सीएए के विरोध में पिछले एक महीने से धरना चल रहा था।  

कुछ ऐसे लोग थे जो धरना जारी रखना चाहते थे

तिवारी ने कहा कि शनिवार को सभी प्रबुद्ध नागरिकों से मुलाकात की गई थी। इसके बाद जिलाधिकारी को ज्ञापन दिलवाकर धरने को समाप्त कर दिया गया था। कुछ ऐसे लोग थे जो धरने को जारी रखना चाहते थे, उनको समझाया गया कि अमन-चैन बनाए रखने के लिए जो निर्णय लिया गया है उसका सभी लोग सम्मान करें। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को संज्ञान में लिया है, इसलिए इस पर जो भी निर्णय होगा वो सुप्रीम कोर्ट करेगा।

वहीं, कानपुर जिलाधिकारी ब्रह्मा देव राम तिवारी का कहना है कि धरना दे रहे लोगों से कई बार बात की गई थी, जिसके बाद तय हुआ था कि धरना समाप्त कर दिया जाएगा। कुछ लोग ऐसे थे, जो धरना समाप्त नहीं कर रहे थे, उनको समझाकर धरने को शांतिपूर्वक तरीके से समाप्त कराया जा रहा है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना