• Hindi News
  • Uttar pradesh
  • Kanpur
  • SP chief Akhilesh Yadav said the government is hiding the figure of deaths, the bus owner is still away from the grip of the police

कन्नौज बस हादसा / अखिलेश ने डॉक्टर से कहा- भाग जाओ यहां से, आरएसएस-भाजपा के आदमी हो सकते हो; सरकार बोली- यह उनका फ्रस्टेशन

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने शुक्रवार शाम को कन्नौज बस हादसे में घायल हुए लोगों से मुलाकात की थी
X

  • छिबरामऊ में घायलों से मिलने पहुंचे थे सपा अध्यक्ष, पीड़ित ने मुआवजे की चेक नहीं मिलने की बात कही
  • डॉक्टर ने चेक नहीं मिलने के आरोपों को खारिज करने की कोशिश की तो अखिलेश को गुस्सा आया
  • 10 जनवरी की रात छिबरामऊ में ट्रक की टक्कर के बाद आग लगने से बस सवार 20 लोगों के जिंदा जलने का मामला

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2020, 12:49 PM IST

कन्नौज. बस हादसे में घायलों का हाल जानने के लिए सोमवार को छिबरामऊ अस्पताल पहुंचे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव डॉक्टर पर भड़क गए। वे यहां पीड़ितों से मुआवजे के संबंध में बात कर रहे थे, तभी डॉक्टर के बोलने पर अखिलेश को गुस्सा आ गया। अखिलेश ने डॉ. डीएस मिश्रा को कमरे से भगा दिया। कहा- "तुम सरकार का पक्ष नहीं ले सकते। तुम बहुत छोटे कर्मचारी हो। आरएसएस के हो सकते हो, भाजपा के हो सकते हो, लेकिन ये बात नहीं कह सकते कि वो क्या कह रहा है। इसके बाद अखिलेश ने कहा कि एक दम दूर हो जाइए। हट जाइए। बाहर भाग जाओ यहां से।" छिबरामऊ में 11 जनवरी को हुए बस हादसे में 20 लोगों के जलकर मरने की आशंका है। अखिलेश के नाराजगी वाले बयान पर ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि सपा अध्यक्ष सरकारी कर्मचारियों पर अपना फ्रस्टेशन निकाल रहे हैं।  

अखिलेश ने सोमवार को घटनास्थल पर जाकर पहले मृतकों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने प्रत्यक्षदर्शियों से हादसे की जानकारी ली। इसके बाद अस्पताल पहुंचे। यहां एक मरीज के परिजन ने अखिलेश को बताया कि बस में 80 से अधिक लोग थे और अभी तक मुआवजे की चेक तक नहीं मिली है। इस पर ड्यूटी पर तैनात इमर्जेंसी मेडिकल ऑफिसर ने कहा कि घायलों को मुआवजे की राशि दी जा चुकी है। अधिकारी का इतना कहते ही कि अखिलेश नाराज हो गए। उन्होंने मेडिकल अफसर से कहा- "तुम मत बोलो, तुम सरकारी आदमी हो। हम जानते हैं क्या होती है सरकार। इसलिए मत बोलो, क्योंकि तुम सरकार के आदमी हो। तुम्हें नहीं बोलना चाहिए।"

मेडिकल अफसर बोले- मैं चेक मिलने की बात स्पष्ट कर रहा था

इमर्जेंसी मेडिकल ऑफिसर डॉ. डीएस मिश्रा ने बताया- "मैं मरीजों का इलाज कर रहा था, इसलिए वहां मौजूद था। एक मरीज ने कहा कि उन्हें मुआवजे की चेक नहीं मिली। मैंने यह स्पष्ट करने की कोशिश की कि चेक मिल चुकी है। इस पर अखिलेश जी नाराज हो गए और मुझसे कमरा छोड़ने को कहा।"

अखिलेश का आरोप- मौतों का आंकड़ा छिपा रही है सरकार

अखिलेश ने सरकार पर हादसे में मौतों का आंकड़ा छुपाने का आरोप लगाया। कहा- घटना को चार दिन का समय हो गया। लेकिन, अभी तक पुलिस बस मालिक विमल चतुर्वेदी को नहीं पकड़ सकी। उन्होंने कहा कि शासन और प्रशासन बस मालिक को बचाने का प्रयास कर रहा है। बस के पीछे के हिस्से में टिन लगी थी। अगर कांच लगा होता तो सवारियों की जान बच सकती थी। उन्होंने कहा कि सरकार ने मृतकों को दो-दो लाख रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है। यह कम है। वह सरकार से इन परिवारों को दस- दस लाख रुपये दिए जाने की मांग करेंगे। 

कर्मचारियों पर गुस्सा निकाल रहे अखिलेश- प्रदेश सरकार

प्रदेश सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अखिलेश के बयान पर कहा- वे सरकारी कर्मचारियों पर अपना फ्रस्टेशन निकाल रहे हैं। कन्नौज बस हादसा बहुत दुखद था। इसमें घायल हुए लोगों का डॉक्टर इलाज कर रहे हैं। उनकी पीठ थपथपाने की बजाए वह अपना गुस्सा निकाल रहे हैं। कहा- जब मुख्यमंत्री नहीं है तो यह हाल है। यही नीतियों की वजह से वह सरकार में नहीं आ पा रहे हैं। उन्हें कोई स्वीकार नहीं करेगा। 

बस हादसे में 20 लोगों के जिंदा जलने की आशंका

उत्तर प्रदेश के कन्नौज में घिलोई गांव के पास शुक्रवार रात (10 जनवरी) सड़क हादसे में एसी बस में सवार 20 लाेगाें के जिंदा जलने की आशंका है। बस और ट्रक दाेनाें में आग लग गई थी। बस फर्रुखाबाद से जयपुर जा रही थी। कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल के अनुसार, बस में 45 लोग सवार थे। बचाव दल ने 25 लोगों को बाहर निकाल लिया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना