कानपुर / बेटी से छेड़छाड़ की गवाह बनी मां की हत्या, जमानत पर छूटे आरोपियों के हमले में मौसी भी गंभीर रूप से जख्मी

पुलिस ने परिजन के बयान दर्ज किए, आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए 5 टीमें गठित कीं।
X

  • कानपुर के जाजमऊ में 9 जनवरी को दो महिलाओं रूबी-रुखसार पर हमला किया गया था, दोनों सगी बहनें
  • हमले में घायल हुईं रूबी की शुक्रवार को मौत हो गई, रुखसार की हालत गंभीर बनी हुई है
  • हमलावर महबूब ने रूबी की नाबालिग बेटी से छेड़छाड़ की थी, केस वापस लेने के लिए दबाव भी बनाया था

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2020, 03:17 PM IST

कानपुर. छेड़छाड़ पीड़ित के मामले में गवाह बनी मां ने शुक्रवार को अस्पताल में दम तोड़ दिया, जबकि उसकी बहन की हालत गंभीर है। 9 जनवरी को हमलावरों ने दोनों सगी बहनों पर जानलेवा हमला किया था। पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। घटना चकेरी इलाके के जाजमऊ की है।

पुलिस ने बताया कि 2018 में रूबी की नाबालिग बेटी से आरोपी महबूब ने छेड़छाड़ की थी। इसके बाद आरोपी केस वापस लेने को लेकर पीड़ित पक्ष पर लगातार दबाव बना रहे थे। 9 जनवरी को मुख्य आरोपी महबूब ने 10 साथियों के साथ रूबी और उसकी बहन रुखसाना पर हमला कर दिया। दोनों को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया।

पीड़ित के भाई- बदमाश घर में घुसे, बहनों के साथ बदसलूकी की

रूबी के भाई सलीम खान के मुताबिक, हम लोग उस दिन ड्यूटी पर थे। दोनों बहनें घर पर थीं। 10 लोग घर में घुसे और बहनों के साथ बदसलूकी की। दोनों को सड़क पर पीटा गया। रूबी के पति फिरोज आलम ने बताया कि हमलावरों ने पत्थर और धारदार हथियार से हमला किया था। हमलावरों में महबूब, आदिब, पिंटू, श्यामबाबू, महफूज, जबीन, फिरोज, विक्की समेत कुछ और लोग शामिल थे।

पुलिस ने कहा- हमलावरों के साथ पीड़ित का भाई शराब पीता था
एसएसपी अनंतदेव के मुताबिक, छेड़खानी के मामले में 2018 में 5 आरोपियों पर केस दर्ज कराया गया था। हमलावर जमानत पर बाहर थे। पीड़िता के भाई और आरोपी साथ बैठकर शराब पीते थे। इस बात की परिवार ने शिकायत की थी। इसके बाद आरोपियों ने पीड़ित परिवार की महिलाओं के साथ मारपीट की। हमले में घायल महिला 8 दिन से भर्ती थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना