पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

72 घंटे की पेरोल पर आए विधायक कुलदीप ने भाई मनोज को दी मुखाग्नि, साथ में रहे सांसद साक्षी महाराज

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दुष्कर्म आरोपी विधायक कुलदीप के साथ सांसद साक्षी महाराज। - Dainik Bhaskar
दुष्कर्म आरोपी विधायक कुलदीप के साथ सांसद साक्षी महाराज।
  • बहुचर्चित उन्नाव रेप कांड में तिहाड़ जेल में बंद हैं विधायक कुलदीप सिंह
  • कुलदीप के छोटे भाई मनोज की शनिवार रात हार्ट अटैक से हुई थी मौत
  • मनोज परिवार संभालने के साथ कुलदीप के मामलों की कर रहे थे पैरवी

उन्नाव. बहुचर्चित उन्नाव रेप कांड के आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई मनोज सिंह सेंगर का सोमवार को गंगा परियर घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। विधायक कुलदीप व उनके भाई अतुल ने मुखाग्नि दी। इस दौरान भाजपा सांसद साक्षी महाराज भी पहुंचे थे। उन्होंने अंतिम दर्शन कर मनोज को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान क्षेत्र के तमाम लोग सेंगर परिवार को ढांढस बंधाने पहुंचे थे। 
 

ये भी पढ़ें
उन्नाव: कुलदीप सिंह सेंगर के भाई मनोज का निधन, दुष्कर्म पीड़िता के साथ हुए सड़क हादसे में थे आरोपी
दरअसल, उन्नाव कांड के आरोपित विधायक कुलदीप सिंह के छोटे भाई मनोज सिंह का शनिवार रात दिल्ली में हृदय गति रुकने से मौत हो गई थी। रविवार शाम मनोज का शव उनके पैतृक गांव लाया गया। इस बीच जेल में बंद कुलदीप व अतुल सिंह ने तीस हजारी कोर्ट से 72 घंटे पेरोल हासिल की। दोनों भाई भी अपने गांव पहुंचे। यह पेरोल अंतिम संस्कार के लिए आरोपित विधायक व उनके छोटे भाई को मिली है।
 
सोमवार सुबह मनोज का शव गंगा परियर घाट लाया गया। यहां विधायक कुलदीप सेंगर व अतुल सेंगर ने मृतक भाई मनोज को दी मुखाग्नि दी। इस दौरान दिल्ली पुलिस कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच विधायक को लेकर पहुंची गंगा तट पहुंची थी। 
 

रायबरेली हादसे में आया था मनोज का नाम
साल 2017 में एक युवती ने विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। कुलदीप वर्तमान में तिहाड़ जेल में बंद हैं। मनोज सेंगर दिल्ली में रहकर कुलदीप सेंगर के मामलों को देख रहा था। रायबरेली में 28 जुलाई के दुर्घटना मामले में वह भी ओरोपी था। मनोज रावण का भक्त था और सभी से ‘जय लंकेश’ कहकर मिलता था। उन्होंने रावण का एक लॉकेट भी पहना था। पिछले साल दोनों भाइयों के जेल जाने के बाद से वह ही परिवार की देख रेख कर रहा था। कुलदीप सेंगर को दुष्कर्म मामले में जेल भेजा गया, जबकि अतुल सेंगर को दुष्कर्म पीड़िता के पिता के साथ हिरासत में मारपीट करने के आरोप में जेल भेजा गया।
 


 

खबरें और भी हैं...