कानपुर / केंद्रीयमंत्री अठावले का मायावती को ऑफर, बनें रिपब्लिक पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष, मैं छोड़ दूंगा पद



केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास अठावले। केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास अठावले।
X
केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास अठावले।केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास अठावले।

  • केंद्रीय मंत्री ने शनिवार को कानपुर में ओबीसी के जन समरसता प्रतिभा सम्मान समारोह लिया हिस्सा
  • कहा- मायावती पर मुझे गर्व, लेकिन सभी दलित नेताओं को एक होना चाहिए

Dainik Bhaskar

Sep 09, 2019, 01:24 PM IST

कानपुर. ओबीसी के जन समरसता प्रतिभा सम्मान समारोह में पहुंचे केंद्रीय सामाजिक एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास अठावले ने बसपा सुप्रीमो मायावती को रिपब्लिक पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का ऑफर दिया है। लेकिन इसके लिए उन्हे बहुजन समाज पार्टी को छोड़ना पड़ेगा। कहा कि सभी दलित नेताओं को एक होना चाहिए, लेकिन मैं बहुजन समाज पार्टी में नहीं जाऊंगा। रिपब्लिक पार्टी बाबा साहब अंबेडकर की मूल पार्टी है। मैं रिपब्लिक पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष पद छोड़कर मायावती को देने को तैयार हूं।

दलितों पर हर सरकार में हुए अत्याचार, गरीबी के लिए कांग्रेस जिम्मेदार

  1. मंत्री अठावले ने कहा कि, मायावती मुझसे सीनियर लीडर हैं, चार बार मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। तीन बार भाजपा के सपोर्ट से मुख्यमंत्री रहीं। मैं दो बार यहां राज्यमंत्री रहा हूं। मायावती के बारे में मुझे गर्व है कि वो उत्तर प्रदेश में दलित समाज की एक लेडी गुड एडमिनिस्ट्रेटर हैं। 

  2. यह भी कहा कि, मायावती का ये आरोप ठीक नहीं है कि भाजपा के राज्य में अत्याचार हो रहे हैं। दलित पर अत्याचार हमेशा होते रहे हैं, चाहे मुलायम सिंह की सरकार हो या फिर अखिलेश और मायावती की सरकार हो। किसी की भी सरकार हो दलित पर अत्याचार हो रहे हैं। कौन सी पार्टी की सरकार में अत्याचार होते नहीं हैं?

  3. कहा कि, 2019 के लोकसभा के चुनाव में जनता ने नरेंद्र मोदी को जिम्मेदारी सौंप दी है। मैं मानता हूं कि अर्थव्यावस्था देश की ठीक नहीं है। आकड़े बता रहे है कि जीडीपी 5 प्रतिशत तक आ गई है। अर्थव्यावस्था खराब हुई है उसका कारण नरेद्र मोदी की सरकार नहीं है। बहुत वर्षो से ये अर्थव्यवस्था अपने देश की थी। इसको सुधारने की जिम्मेदारी हमारी सरकार की है। आर्थिक मंदी को ठीक करने के लिए हमारा मंत्रीमंडल काम कर रहा है।

     

  4. कहा कि, कांग्रेस कार्यकाल में सिर्फ अश्वासन देने का काम होता था। उत्तर प्रदेश की जनता ने राहुल गांधी के नेतृत्व को नकार दिया है। प्रदेश में कांग्रेस को एक सीट सोनिया गांधी के रूप में मिली है। राहुल गांधी अपनी अमेठी की सीट भी नहीं बचा पाए थे। वायनाड में जाकर उन्हे खुद को बचाना पड़ा। कांग्रेस पार्टी की गलतियों के कारण ही देश में भ्रष्टाचार बढ़ा है। गरीबी और बेरोजगारी की जिम्मेदार कांग्रेस पार्टी है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना