उप्र / एंबुलेंस गांव नहीं पहुंची तो पुलिस वालों ने बुजुर्ग को चारपाई समेत कंधे पर उठाया, 3 किमी तक पैदल चले

X

  • इटावा जिले के कायंछी गांव का मामला
  • भरेह थाना प्रभारी और उनकी टीम का मानवीय चेहरा सामने आया

दैनिक भास्कर

Aug 28, 2019, 11:59 AM IST

इटावा. यहां पुलिस का मानवीय चेहरा सामने आया है। बाढ़ से घिरे गांव कायंछी से एक 75 वर्षीय महिला को चारपाई पर लिटाते हुए उसे कंधे पर लेकर चार पुलिस कर्मियों ने तीन किलो मीटर पैदल चलकर सफर तय किया और उसे एंबुलेंस तक पहुंचाया। बारिश के कारण गांव का रास्ता बेहद खराब हो गया था। इसलिए एंबुलेंस गांव तक नहीं जा सकती थी। ऐसे में आपातकाल में फंसी बुजुर्ग महिला की मदद कर पुलिस ने अपने मानवीय दायित्यों का बखूबी निवर्हन किया है।     

 

बाढ़ से घिरा है गांव

चंबल की बाढ़ से घिरे कायंछी गांव निवासी रूपरानी भदौरिया (15) बीते 15 दिनों से बीमार थीं। मंगलवार को एंबुलेंस मंगाई गई। लेकिन रास्ता खराब होने के कारण गांव से तीन किमी दूर ही एंबुलेंस खड़ी हो गई। एंबुलेंस कर्मी ने कहा, रोड तक मरीज को लाना पड़ेगा। इस पर रूपरानी के बेटे फतेह सिंह ने यूपी 100 को फोन कर मदद मांगी। यह बात भरेह थाना प्रभारी सतीश राठौर को पता चली तो वे सब इंस्पेक्टर भगवत स्वरूप व तीन सिपाहियों के साथ गांव पहुंच गए। सभी ने महिला को चारपाई पर लिटाया और तीन किमी पैदल चलकर रोड तक पहुंचाया। 

 

लीवर की समस्या से पीड़ित है महिला

इसके बाद महिला को एंबुलेंस में लिटाया गया। महिला को राजपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया। जहां उपचार किया गया। डॉक्टरों के मुताबिक, रूपरानी लीवर की समस्या से ग्रसित हैं। महिला के बेटे फतेहसिंह, धन्नू, हरी व मन्नू ने पुलिस कर्मियों का आभार जताया है।  

 

एसएसपी करेंगे सम्मानित

वहीं, भरेह थाना प्रभारी व उनके सहकर्मियों के कार्यों की सराहना करते हुए इटावा पुलिस ने अपने टि्वटर एकाउंट पर वीडियो पोस्ट किया है। एसएसपी संतोष कुमार मिश्रा द्वारा पुलिसकर्मियों को प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया जाएगा। 

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना