इटावा / एसएसपी ने दिव्यांग पिता के साथ गुब्बारे बेच रहे बच्चे का कराया दाखिला, यूनिफार्म व किताबें भी दिलवाई

सोहेल। सोहेल।
स्कूल में एसएसपी। स्कूल में एसएसपी।
X
सोहेल।सोहेल।
स्कूल में एसएसपी।स्कूल में एसएसपी।

  • दिव्यांग पिता के साथ गुब्बारे बेचता था बच्चा
  • पुलिस मॉडर्न स्कूल में कक्षा चार में कराया दाखिला
  • डीएम ने सरकारी आवास दिलाने का दिया भरोसा

Jul 10, 2019, 07:34 PM IST

इटावा. दिव्यांग पिता के साथ गुब्बारे बेचकर परिवार के भरण पोषण में मदद करने वाले एक बच्चे के लिए बुधवार की सुबह 'जिंदगी का नया सबेरा' बनकर आई। बच्चे पर बुधवार सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले इटावा के एसएसपी संतोष कुमार मिश्रा की नजर पड़ी। उन्होंने बच्चे से परिवार व पढ़ाई लिखाई के बारें में पूछा तो उनकी मन भारी हो गया। उन्होंने बच्चे का कक्षा चार में पुलिस मॉडर्न स्कूल में दाखिला कराया और कॉपी किताबें भी दिलवाई। इससे बच्चे के चेहरे पर मुस्कान लौट आई है। 

 

इटावा एसएसपी संतोष कुमार मिश्रा बुधवार सुबह मॉर्निंग वॉक पर निकले थे, तभी कंपनी बाग के पास एक दिव्यांग मेहराज अली ट्राई साइकिल बैठे हुए गुब्बारे बेचता हुआ नजर आया। दिव्यांग के साथ उसका 10 साल का बेटा सोहेल भी था। उन्होंने दिव्यांग के पास जाकर बात करना शुरू किया। पहले तो वह एसएसपी को देखकर डर गया। लेकिन एसएसपी के नर्म तेवर को देखकर बात करने लगा। एसएसपी ने दिव्यांग के बेटे से भी बात की और उसके पढाई के बारे में पूछा तो पता चला कि, घर की आर्थिक हालत ठीक न होने के कारण उसकी पढ़ाई कक्षा तीन के आगे छूट गई। 

 

एसएसपी सोहेल को अपने साथ लेकर पुलिस मॉर्डन विद्यालय पहुंचे। जहां उन्होंने प्रिंसपल से बात कर कक्षा चार उसका एडमिशन करवाया और यूनीफार्म, कॉपी किताबें दिलवायी। डीएम जेबी सिंह ने दिव्यांग के लिए सरकारी आवास की व्यवस्था करवाने का आश्वासन दिया है। 

 

मेहराज अली ने कहा कि, गरीबी के कारण वह अपने बेटे को पढ़ाने लिखाने में सक्षम नहीं है। उसकी पीड़ा को एसएसपी सन्तोष कुमार मिश्रा ने समझा है और उसके बेटे सोहेल का दाखिला स्कूल में करवाया है और आवास की व्यवस्था करवाने के लिए डीएम से सिफारिश की है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना