विज्ञापन

हरदोई: बुखार के कारण 15 दिनों के भीतर गांव में 8 की मौत, गंदगी और प्रदूषित पानी के कारण फैली बीमारी

Dainik Bhaskar

Aug 06, 2018, 07:20 PM IST

गांव में एंटी मलेरिया कीटनाशक का छिड़काव कराया गया है

8 people die due to fever in Hardoi
  • comment

हरदोई. जिले के सण्डीला तहसील इलाके में उन्नाव बॉर्डर पर बसा मलईयां गांव इन दिनों मलेरिया बुखार की चपेट में है। बताया जा रहा है कि तालाब के प्रदूषित पानी और गांव में गंदगी के चलते पूरा गांव बुखार की चपेट में आ गया है। बुखार के कारण 15 दिनों के अंदर 8 लोगों की मौत हो गई है।

पिछले वर्ष भी बुखार से कई लोगों की हुईं थी मौत: बीते साल भी इस गांव में एक दर्जन से ज्यादा मौतें हुईं थीं। ग्रामीण गांव में बुखार फैलने का कारण तालाब में शुरू हुए मछली पालन को मानते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि जबसे गांव के तालाब में कुछ लोगों ने मछली पालन शुरू किया है तभी से यहां महामारी फैलना शुरू हुई है। तालाब में मांस डालने के अलावा केमिकल का छिड़काव किया जाता है। इसके अलावा कुछ घरों के शौचालय में टैंक नहीं बना जिसकी गन्दगी भी इसी तालाब में जाती है। जिससे गांव में बीमारी फैली है। तालाब की अगर जांच हो तभी साफ हो पायेगा कि इसकी सही वजह क्या है।


स्वास्थ्य विभाग पर ग्रामीणों ने लगाया आरोप: गांव में मौत की ख़बर के बाद स्वास्थ महकमा गांव में टीम भेजकर मरीजों का परीक्षण कराने का दावा कर रहा है। मगर ग्रामीणों का कहना है कि डाक्टरों की टीम गांव खानापूर्ति कर चली गई है। बुखार की चपेट में आने पर ग्रामीण गांव में स्थित राजकीय यूनानी चिकित्सालय या गांव के इकलौते झोलाछाप डॉक्टर के पास जाते हैं। सीएचसी के चिकित्सक डॉ शहनवाज़ आलम का कहना है कि मलइयां गांव में बुख़ार फैला हुआ है डाक्टरों की टीम तीन बार गांव जाकर लोगों का परीक्षण कर मरीज़ों को दवाएं उपलब्ध कराई है। ग्रामीण तालाब में दूषित पानी से संक्रमण फैलने की आशंका जता रहे हैं। एसडीएम ने गांव में टीम तैनात के करने के निर्देश दिए हैं। गांव में एंटी मलेरिया कीटनाशक का छिड़काव कराया है प्रधान से भी सफाई कराने को कहा गया है।

X
8 people die due to fever in Hardoi
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें