--Advertisement--

बच्चों को ढूंढते हुए स्कूल पहुंचा प‍िता, सामने आई प्रि‍ंंसि‍पल की ये करतूत

प्रिंसिपल बच्चों को छोड़ने के लिए उनके पैरेंट्स से पैसे मांग रही थी।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 01:26 PM IST
नदीम के दोनों बेटे हरिस (5) और असद (4) समर पब्लिक स्कूल में नर्सरी में पढ़ते हैं। नदीम के दोनों बेटे हरिस (5) और असद (4) समर पब्लिक स्कूल में नर्सरी में पढ़ते हैं।

लखनऊ. राजधानी के इंदिरानगर स्थित एक स्कूल की प्रिंसिपल द्वारा 2 बच्चों को बंधक बनाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि प्रिंसिपल बच्चों को छोड़ने के लिए उनके पैरेंट्स से पैसे मांग रही थी। फिलहाल, सूचना मिलने के बाद मौक पर पहंची पुलिस ने बच्चों को आजाद कराया। "हाथ उठाकर चले आते हो"


- मामला इंदिरानगर स्थित समर पब्लिक स्कूल का है। यहां इलाके के रहने वाले मोहम्मद नदीम स्लैब का काम करते है। नदीम के दोनों बेटे हरिस (5) और असद (4) समर पब्लिक स्कूल में नर्सरी में पढ़ते है।
- मोहम्मद नदीम ने बताया की पैसों की दिक्कत होने के कारण पिछले 4 महीने से बच्चों की स्कूल फीस नहीं जमा कर पा रहा था। इसके लिए प्रिंसिपल से 4-5 दिन का टाइम भी मांगा था।
- मंगलवार को जब दोनों बच्चे स्कूल पहंचे तो स्कूल प्रबंधक अतहर सिद्दीकी ने उनको 3 घंटे तक बंधक बना लिया। वहीं, छुट्टी होने के बाद भी बच्चे जब घर नहीं पहुंचे तो मैं उन्हें खोजते-खोजते स्कूल पहंच गया।
- जहां प्रिंसिपल और प्रबंधक ने कहा कि पहले पैसे दो तब बच्चों को छोड़ा जाएगा। मैंने उनसे लाख मिन्नते की मगर उन्होंने बच्चों को नहीं छोड़ा। इसके बाद मैंने पुलिस को बुलाया, तब जाकर उन्होंने बच्चों को आजाद किया।
- वहीं, 5 साल के हरिस ने बताया कि प्रिंसिपल ने उससे कहा की हाथ उठाए चला आता है। फिर हमें ऑफिस में बंद कर दिया।

क्या कहती है पुलिस
- एसओ मुकुल प्रकाश वर्मा का कहना है कि जो भी प्रकरण है बंधक बनाने से लेकर उसपर कार्रवाई की जाएगी। स्कूल की प्रिंसिपल और प्रबंधक से पुछातछ का जाएगी।

मंगलवार को स्कूल प्रबंधक अतहर सिद्दीकी ने उनको 3 घंटे तक बंधक बना लिया। मंगलवार को स्कूल प्रबंधक अतहर सिद्दीकी ने उनको 3 घंटे तक बंधक बना लिया।
हरिस ने बताया कि प्रिंसिपल ने उससे कहा की हाथ उठाए चला आता है। फिर हमें ऑफिस में बंद कर दिया। हरिस ने बताया कि प्रिंसिपल ने उससे कहा की हाथ उठाए चला आता है। फिर हमें ऑफिस में बंद कर दिया।