--Advertisement--

मायावती का 62वां जन्मदिन, दलितों की आवाज बनकर बनीं यूपी की 'आयरन लेडी'

मायावती का का जन्म 15 जनवरी, 1956 में हुआ था।

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 10:27 AM IST
मायावती ने अपने 62वें जन्मदिन के मौके पर किताब 'ब्लू बुक' का विमोचन किया। मायावती ने अपने 62वें जन्मदिन के मौके पर किताब 'ब्लू बुक' का विमोचन किया।

लखनऊ. अपने 62वें जन्मदिन के मौके पर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने 'दलित मूवमेंट ऑफ मायावती पुस्तक भाग-13' का विमोचन किया। इस किताब को 'ब्लू बुक' का नाम दिया गया है। बुक लॉन्च के बाद मायावती ने लखनऊ में मीडिया को संबोधित किया। उन्होंने कहा- "गुजरात चुनावों से पहले 'हर-हर मोदी, घर-घर मोदी' वाले नरेन्द्र मोदी गुजरात चुनावों में बेघर होते-होते बच गए।" दलितों की हितैषी बनी बीजेपी-कांग्रेस ...

- मायावती ने कहा- "आजादी के बाद से कांग्रेस और बीजेपी ने दलितों को नुकसान पहुंचाया है। आज हर राज्य में संपर्क और जातिवाद माहौल बनाया जा रहा है। विरोधी पार्टी वाले बाबा साहेब की फोटो का इस्तेमाल कर रहे हैं। पश्चिमी यूपी में दलितों पर अत्याचार हुए। उसको लेकर मैंने राज्यसभा में बोलना चाहा, तो मुझे साजिश के तहत बोलने नहीं दिया गया। लिहाजा मुझे इस्तीफा देना पड़ा।"

हथकंडे कितने भी हों, फर्क नहीं पड़ेगा: मायावती

- ईवीएम पर छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए माया ने कहा- "2014 और 2017 के चुनावों में ईवीएम से छेड़छाड़ कर हमारी पार्टी को राजनैतिक नुकसान पहुंचाया गया। इसी तरह इन्होंने राष्ट्रपति चुनावों में दलित उम्मीदवार घोषित कर दलितों को लुभाने की कोशिश की गई। हमारी पार्टी से दलितों को कोई दूर नहीं कर सका। ये चाहे जितने हथकंडे अपना लें, कोई फर्क नहीं पड़ेगा।"

बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग

- मायावती ने कहा, "2017 के यूपी चुनावों में ईवीएम ने बीजेपी की सरकार बनवाई है। अगर बीजेपी अपने को दूध का धुला मानती है, इनको ईवीएम के बजाए बैलेट पेपर से चुनाव कराकर सही साबित करना चाहिए। मैंने चुनाव आयोग को लिखित में दिया है कि चुनावों में बैलेट पेपर का इस्तेमाल करना चाहिए, वरना चुनाव कराना सिर्फ फॉर्मेलिटी ही रह जाएगी। ईवीएम सेट होने की वजह से बीजेपी को जीतना है।"

BSP ने उठाया था BSP में छेड़छाड़ का मुद्दा

- मायावती ने कहा, "देश में बीएसपी एक मात्र पार्टी है, जिसने सबसे पहले ईवीएम में हुई छेड़छाड़ का मुद्दा उठाया था। हमने इसे सुप्रीम कोर्ट से लेकर सदन तक में इस बात को गंभीरता के साथ सामने रखा था।"दरअसल

SC में हुए विवाद पर बोलीं मायावती

- बीएसपी सुप्रीमों ने कहा- "पहले लोग ये उम्मीद रखते थे कि विपक्ष कमजोर होगा, तब सुप्रीम कोर्ट से न्याय मिलेगा। आज के समय सुप्रीम कोर्ट में आपस में विवाद बना हुआ है।"

इस दौरान बीजेपी -कांग्रेस दोनों को मायावती ने जमकर कोसा। इस दौरान बीजेपी -कांग्रेस दोनों को मायावती ने जमकर कोसा।