--Advertisement--

पहली मूवी में इस एक्ट्रेस को मिला ऐसा रोल, बोली-ऑनस्क्रीन नहीं पहनूंगी बिकनी

लखनऊ. शनिवार को बॉलीवुड मूवी मुक्काबाज के कलाकार यूपी की राजधानी पहुंचे।

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 10:00 PM IST
एक्ट्रेस जोया कहती हैं- मुक्का एक्ट्रेस जोया कहती हैं- मुक्का

लखनऊ. शनिवार को बॉलीवुड मूवी मुक्काबाज के कलाकार यूपी की राजधानी पहुंचे। फिल्म की शूटिंग लखनऊ, वाराणसी और बरेली में हुई है। DainikBhaskar.com से बातचीत में फिल्म की एक्ट्रेस जोया हुसैन ने पर्सनल लाइफ से लेकर फिल्म में अपने रोल तक की बातें शेयर की।

इस एक्ट्रेस को ऐसे मिली पहली फिल्म, सिर्फ इसलिए छोड़ा थ‍िएटर

- जोया बताती हैं, मेरा जन्म और पढ़ाई दोनों दिल्ली में हुई है। पेरेंट्स लखनऊ से बिलॉन्ग करते हैं। पापा एडवेंचर ट्रैवल एजेंसी चलाते हैं, मां पहले चाइल्ड साइकोलॉजिस्ट थीं, अब कैटरिंग का काम करती हैं।

- मुझे फैमिली की तरफ से हमेशा अपना मनपसंद काम करने की आजादी मिली। एक्ट्रेस के अलावा एक स्पोर्ट्स पर्सन भी रही हूं। 17 साल की उम्र में थिएटर में कदम रखा। वहां 4 साल काम किया।

- पेरेंट्स मुझे और बहन को पढ़ाई के अलावा पेंटिंग या स्पोर्ट्स में भाग लेने की सलाह देते थे।

- थिएटर से पेट तो पाला जा सकता है, लेकिन उससे आगे ज्यादा कुछ नहीं किया जा सकता। इसलिए मैंने थिएटर छोड़ बॉलीवुड में जाने का फैसला किया।

- पढ़ाई खत्म होने के बाद मैं अपनी कजीन के साथ 2012 में दिल्ली से मुंबई आ गई। मुझे इंडस्ट्री में घुसना था, लेकिन मेरी कोई पहचान नहीं थी। दिल्ली के थिएटर से जो थोड़ी-बहुत पहचान थी, उसी का सहारा लेकर 2 साल तक ऑडिशन देती रही।

- इस दौरान मेरी मुलाकात अनुराग कश्यप से हुई। मैंने उनकी शॉर्ट फिल्म 'तीन और आधा' में काम किया। उसके कुछ साल बाद एक दिन उन्होंने मेरे पास मुक्काबाज मूवी की स्क्रिप्ट भेजी। मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि वो मुझे अपनी फिल्म में लेना चाहते हैं। मैंने स्क्रिप्ट पढ़ी और हां बोल दिया।

- फिल्म में मैंने गूंगी लड़की का रोल किया है। कैरेक्टर में ढलने के लिए मुझे 8 महीने टीचर से साइन लैंग्वेज सीखनी पड़ी। मैं रोजाना 2 से 3 घंटे साइन लैंग्वेज की प्रैक्टिस करती थी, क्योंकि मुझे हर हाल में ये मूवी करनी थी।

- मेरा रोल एक सीधी-सादी लड़की का है। जो हार्ड वर्किंग और डिवोटेड है। वह बोल नहीं पाती, उसे अपनी बात दूसरों को समझाने के लिए काफी प्रॉब्लम फेस करनी पड़ती है। फिल्म में बोल न पाने वाले लोगों के दर्द को बहुत अच्छे से दिखाया गया है।

- मुक्काबाज बॉलीवुड की मेरी पहली बड़ी कमर्शियल फिल्म है। इसके अलावा साउथ की कुछ मूवी में भी काम कर रही हूं।

एक्ट्रेस ने कहा- कभी ऑनस्क्रीन नहीं पहनूंगी बिकिनी

- वो बताती हैं, रियल लाइफ में जो होता है उसे पर्दे पर दिखाना संभव नहीं होता। लेकिन कई बार उसे दिखाने की कोशिश की जाती है।

- इतने ज्यादा एक्सपोजर के साथ मैं किसी सीन को फिल्मों में दिखाने को सही नहीं मानती। मैं ऑनस्क्रीन कभी भी बिकिनी नहीं पहन सकती।

- जहां तक कास्ट‍िंग काउच की बात है तो मैंने इतने ऑड‍िशन दिए, मुझे कभी ऐसा कुछ भी महसूस नहीं हुआ। मेरा मानना है कि आपका काम सबसे ऊपर है, अगर आपके अंदर हुनर है तो इन सब चीजों को फेस नहीं करना पड़ता।