--Advertisement--

लॉ एंड ऑर्डर को लेकर अखिलेश की प्रेस कॉन्फ्रेंस,

बुधवार को सपा के प्रतिनिधिमंडल ने लॉ एंड ऑर्डर के मुद्दे पर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा था।

Danik Bhaskar | Jan 25, 2018, 11:48 AM IST
लॉ एंड ऑर्डर के मुद्दे पर अखिल लॉ एंड ऑर्डर के मुद्दे पर अखिल

लखनऊ. लॉ एंड ऑर्डर के मुद्दे पर अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। उन्होंने कहा-"पद्मावत का विरोध करने वाले लोग इन्हीं के लोग हैं। ये लोगों को भेज रहे हैं। उन्हें लाठी भी खिलवा रहे हैं। उसके बाद से कानून व्यवस्था ठीक करने का श्रेय भी लेंगे। ये सरकार लॉ एंड ऑर्डर को ठीक करने के बजाए आलू वालों को ढूंढ रही है। बताया गया कि कन्नौज और फर्रुखाबाद के लोगों ने आलू सड़कों पर फेंका है।" हथियारों को जलाने के लिए होली अच्छा त्योहार...

- "अंग्रेजों के जमाने का कानून है। जितने हथियार थाने में होने चाहिए। उससे ज्यादा हथियारों के लाइसेंस लोगों को मिलने नहीं चाहिए। हम तो कहते है कि हथियारों को जलाने का सबसे अच्छा वक्त होली का त्योहार हो सकता है। अच्छा होगा, हथियारों की होली जलाई जाए।" दरअसल यूपी दिवस कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने कहा था- यूपी में लाइसेंसी हथियारों की संख्या सबसे ज्यादा है।

सहारनपुर में बच्चे मदद मांगते रहे

- "सहारनपुर के दो बच्चे मदद मांगते रहे। 100 नंबर की गाड़ी ने मदद नहीं की। वो जानते हैं बीजेपी की सरकार है, उनका क्या होगा। 100 नंबर के एसओपी ने लिखा है कि किसी भी व्यक्ति को संकट आए, तो उसकी मदद के लिए 100 नंबर आएगा। सहारनपुर केस में मदद मंगाते रहे, लेकिन 100 नंबर ने मदद नहीं की। ये सरकार 100 नंबर की परवाह नहीं करती। 100 नंबर की व्यवस्था को हमने शुरु किया, अब देखिए क्या है स्थिति 100 नंबर की।"

सरकार आलू वालों को ढूंढ रही है

-"ये सरकार लॉ एंड ऑर्डर को ठीक करने के बजाए आलू वालों को ढूंढ रही है। बताया गया कि कन्नौज और फर्रुखाबाद के लोगों ने आलू सड़कों पर फेंका है। यूपी में लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति को देखकर आने वाले इनवेस्टर भी डर जाएंगे। अब ये सरकार को समझना है कि इन इनवेस्टर को डर कैसे निकालेगी।"

अपराधियों को सरकार बुला रही है
- "अभी एक साल सरकार को हुए है। मेरठ, आगरा की घटना की सीसीटीवी आपको याद होगी। ये तस्वीरें लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति बता रही है। मेरठ में एक- दो नहीं, 9 गोली महिला को मारी गई। उसको गोली इसलिए मारी गई, क्योंकि वो गवाह है। सरकार एक तरफ कहती है। अपराधी प्रदेश छोड़कर चले जाए। कहीं ऐसा तो नहीं वो अपराधी बुलाने का काम नहीं कर रहे हैं।"

माफिया के साथ कौन जिम कर रहा था

- "3 प्रदेश का माफिया किसके साथ जिम कर रहा था। किसके साथ फोटो लगी है। सरकार बताए जिसको 3 राज्यों की पुलिस ढूंढ रहा थी, वो किसके साथ जिम कर रहा था। कोई किसान सड़कों पर आलू डालकर चला जाए, तो उसकी 10 हजार कॉल्स खंगाली जा रही है। लखनऊ के चिनहट इलाके में डकैती हुई। हमीरपुर में 8 साल की बेटी के साथ घटनाएं हुई। क्या कार्रवाई हुई।"

DGP पोस्ट नहीं हुए, सवाल नहीं उठाया

- डीजीपी नहीं पोस्ट नहीं हुए हमने कोई सवाल नहीं उठाए। अच्छे अफसर को पोस्ट नहीं किये जा रहे है। जी हुजूरी वाले अफसर पोस्ट हो रहे है, ताकि वो खुश कर सके।