--Advertisement--

AKTU के 15वें कन्वोकेशन में पहुंचे गवर्नर, कहा- मैं पढ़ाई के वक्त कभी दीक्षांत समारोह में नहीं गया

लखनऊ स्थित एकेटीयू का 15वां दीक्षांत समारोह मंगलवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित किया गया।

Danik Bhaskar | Dec 12, 2017, 03:18 PM IST
एकेटीयू के 15वें दीक्षांत समारोह मंगलवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित किया गया। एकेटीयू के 15वें दीक्षांत समारोह मंगलवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित किया गया।

लखनऊ. राजधानी स्थित डॉ. अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी(एकेटीयू) का 15वां दीक्षांत समारोह मंगलवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित किया गया। यहां गवर्नर राम नाईक ने कहा, ''मैं परीक्षा में नकल को कैंसर की तरह मानता हूं। मैंने अपने पढ़ाई के दौरान कभी भी दीक्षान्त समारोह में भाग नहीं लिया। मुझें कभी कोई मेडल नहीं मिला।'' प्रोग्राम में इनके साथ यूपी के टेक्निकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टण्डन और एकेटीयू के वीसी प्रो. विनय कुमार पाठक मौजूद रहे। साथ ही 64 छात्र-छात्राओं को भी मेडल देकर सम्मानित किया गया। 10 दिनों के अंदर में स्पीड पोस्ट से मिलेगी स्टूडेंट्स को डिग्री...

- गवर्नर राम नाईक ने कहा, ''विश्वविद्यालय के जीवन में दीक्षान्त का बहुत बड़ा महत्व होता है। दीक्षांत की रिहर्सल की फोटो पहले ही अखबार में आने से उसका मजा कम हो जाता है।''
- ''दीक्षांत के रिहर्सल में कई बार कुछ लोग इधर- उधर करने की कोशिश करते है। मैंने ऐसे ही एक मामले में एक यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार को हटाया था।''
- ''मैं परीक्षा में नकल को कैंसर की तरह मानता हूं। मैंने अपने पढ़ाई के दौरान कभी भी दीक्षान्त समारोह में भाग नहीं लिया। मुझें कभी कोई मेडल नहीं मिला।''
- ''एकेटीयू के सभी छात्रों की डिग्री दस दिनों के अंदर में उनके घर स्पीड पोस्ट से भेजी जाएगी। समाज में जब दोनों पहिए साथ चलते है तो बराबरी का अहसास होता है।''
- ''दीक्षान्त किसी भी विद्यार्थी के जीवन का पहला पड़ाव होता है। दूसरे क्या बोलते है उस ओर ध्यान मत दो असफलता आने पर फिर से कोशिश करो।''
- ''हिम्मत कभी नहीं हारना चाहिए।काम करते रहना चाहिए। एकेटीयू का अगला दीक्षान्त समारोह न्यू कैम्पस में कराए।''

टेक्निकल एजुकेशन मिनिस्टर ने कही ये खास बातें

- टेक्निकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टण्डन ने का कहा, ''एकेटीयू, छात्रों को गुणवत्तापरक शिक्षा मुहैया कराने के लिए प्रयासरत है। योगी सरकार टीचरों की कमी को दूर करने की लगातार प्रयास कर रही है।'

-''जिस छात्र को माता-पिता और गुरुजनों का आशीर्वाद मिलता है। वहीं जीवन में सफलता प्राप्त करता है।''

एआईसीटीई के प्रेसिडेंट ने कही ये खास बातें
- ''भारत एक ऐसा देश है। जहां सबसे ज्यादा युवा रहते है। देश बदल रहा है लेकिन उसके साथ हमें भी बदलने की जरूरत है।''
- ''एकेटीयू का गौरवपूर्ण इतिहास रहा है। इंजीनियरिंग और टेक्नोलॉजी के फील्ड में काफी चेंज आया है।छात्रों द्वारा शुरू किए गए स्टार्टअप ने देश में विकास की नई क्रांति ला दी है।''
- ''युवाओं को मिलकर एक शशक्त भारत बनाना है। जीवन में असफलता भी आती है लेकिन उससे घबराना नहीं चाहिए।असफलताओं से सीखने का मौका मिलता है।उसे निराश नहीं होना चाहिए।''

- बता दें, गवर्नर ने सौरभ वर्मा को चांसलर मेडल से सम्मानित किया। इस प्रोग्राम में आल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन ( एआईसीटीई) के प्रेसीडेंट प्रो. अनिल डी. सहस्त्रबुद्धे को मानद की उपाधि प्रदान किया गया।

इन छात्रों को मिले गोल्ड मेडल
अंजलि तिवारी- बीटेक( सिविल)- राम स्वरुप इंजीनियरिंग कालेज-लखनऊ।

मोहित अग्रवाल- बीटेक( कंप्यूटर साइंस) - अजय कुमार गर्ग इंजीनियरिंग कालेज-लखनऊ।
-शिवानी सिंह - बीटेक (इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग)- बंसल इंस्टीट्यूट-लखनऊ।

इन टॉप टेन गोल्ड मेडलिस्ट को किया गया सम्मानित।

वैभव गर्ग -बीटेक( इलेक्ट्रानिक्स एंड इंस्ट्रुमेंटरशन इंजीनियरिंग) - केआईईटी कालेज- गाजियाबाद।
सौरभ वर्मा- बीटेक(कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग)- अजय कुमार गर्ग इंजीनियरिंग कालेज- गाजियाबाद।
अनमोल अग्रवाल- बीटेक (मैकेनिकल इंजीनियरिंग) जेएसएस टेक्निकल एजुकेशन- नोएडा।
अरुणिमा सिंह - बीटेक( टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी) निट्रा टेक्निकल कैम्पस- गाजियाबाद।
अंशुमान वत्स-बीटेक ( एग्रीकल्चरल इंजीनियरिंग) एसआर इंस्टीट्यूट- लखनऊ।
कोमल शर्मा- बीटेक( कैमिकल इंजीनियरिंग) मेरठ इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी- मेरठ।
हर्षिता गुप्ता- बीफार्मा- कानपुर इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड फार्मेसी- कानपुर।

प्रोग्राम में यूपी के टेक्निकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टण्डन और एकेटीयू के वीसी प्रो. विनय कुमार पाठक मौजूद रहे। प्रोग्राम में यूपी के टेक्निकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टण्डन और एकेटीयू के वीसी प्रो. विनय कुमार पाठक मौजूद रहे।
64 छात्र-छात्राओं को भी मेडल देकर सम्मानित किया गया। 64 छात्र-छात्राओं को भी मेडल देकर सम्मानित किया गया।