--Advertisement--

लखनऊ के स्कूलों में एंड्रॉयड फोन लगाने पर रोक, इसलिए प्रशासन ने लिया फैसला

प्रसाधन कक्षों एवं छुपने के स्थानों पर सीसीटीवी लगाया जाए।

Danik Bhaskar | Jan 17, 2018, 07:25 PM IST
स्कूलों में मोबाइल प्रतिबंधित स्कूलों में मोबाइल प्रतिबंधित

लखनऊ. राजधानी के स्कूलों के छात्र-छात्राओं को एन्ड्रावयड फोन लेकर जाने पर रोक लगा दी गयी है। अलीगंज के मशहूर ब्राइटलैंड में क्लास फर्स्ट के 7 साल के बच्चे को स्कूल में चाकू मारने और बाथरूम में बंद करने की सनसनीखेज वारदात के बाद प्रशासन ने यह फैसला लिया है। लखनऊ के डीआइओ ने प्रिंसिपल, मैनेजर को भेजे आदेश में कहा है कि इसका सख्ती से पालन किया जाए। ....स्कूलों को ये सलाह भी दी गई।

-लखनऊ के डीआईओएस मुकेश कुमार सिंह की ओर जारी एडवाइजरी में कहा गया है-"बच्चों को एन्ड्रावयड फोन पर लाने पर रोक लगाई जाए।"

-स्कूलों की गैलरी कक्ष, प्रसाधन कक्षों (बाथरूम) में एवं अन्य छुपने के स्थानों पर सीसीटीवी लगाया जाए। सीसीटीवी एेसे स्थानों पर लगाई जाएं जिससे पूरा स्कूल कैम्पस कवर हो सके।

-स्कूल में लगे वाहनों के ड्राइवर, कन्डक्टर का नए सिरे से पुलिस वेरीफिकेशन कराने की भी हिदायत दी गयी है। -प्रबंधकों को कहा गया है कि यह इंश्योर किया जाए कि कोई भी व्यक्ति धारदार अथवा फायरआर्म्स के साथ स्कूल कैम्पस में प्रवेश न कर सके।

-प्रशासन प्रबंधकों से कहा है-कि छात्र, छात्राओं, कर्मचारियों व स्कूल के अधिकारियों के लिए के अलग-अलग शौचालय होने चाहिए। जिन स्कूलों में प्रथृक (सेपरेट) शौचालय नहीं हैं, वहां निर्माण कराया जाए।

-छात्र, छात्राओं की रैण्डमली जांच कराई जाए। और उन्हें कोई आर्म्स, शार्प विपेन न लाने का आवश्यक निर्देश भी दिया जाए।

-प्रशासन ने यह भी कहा-जिन वाहनों से बच्चे स्कूल व घर जाते हैं, उनमें किसी तरह का कोई आर्म्स नहीं होना चाहिए। स्कूल प्रबंधक इसकी पड़ताल सुनिश्चिच करें।

-विद्यालय में अनाधिकृत व्यक्तियों के प्रवेश पर सख्ती से रोक लगाई जाए।

बच्चों की सुरक्षा की समीक्षा होगीः सरकार

-सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि स्कूलों को सतर्कता बरतने की लखनऊ प्रशासन ने हिदायत दी है, मगर प्रदेश के सभी स्कूलों को इस पर अमल करना चाहिए। सरकार जल्द स्कूली बच्चों की सुरक्षा की नए सिरे से समीक्षा करेगी। जो भी खामियां होगी उसे दूर किया जाएगा।

डीआइओएस ने जारी किया यह आदेश डीआइओएस ने जारी किया यह आदेश