Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» BBAU Gold Medalist Girl Success Story In Lucknow

इस लेडी को प्रेसिडेंट के हाथों मिला गोल्ड मेंडल, बोली- दोस्त ने दिलाई सफलता

BBAU के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 4 मेधावी छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल दिया।

उज्जवल सिंह | Last Modified - Dec 20, 2017, 04:14 PM IST

लखनऊ.बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 4 मेधावी छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया। गोल्ड मेडल पाने वाली ऋचा वर्मा ने DainikBhaskar.com से खास बात की। उन्होंने कहा, ''इस सफलता में मेरी दोस्त का सबसे बड़ा हाथ है। जिसकी वजह से मुझे ये मुकाम हासिल हुआ।

एमएससी IT में किया टॉप...

- ऋचा मूल रूप से लखीमपुर खीरी के नई बस्ती की रहने वाली हैं। इनके बाबा हरद्वारी लाल राजस्व विभाग से रिटायर्ड हैं। पापा रिवेन्यू डिपार्टमेंट में जॉब करते हैं।
​- इन्होंने सेंट डान बास्को कॉलेज से हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की पढ़ाई की थी। इसके बाद वह लखनऊ आ गई और नेशनल पीजी कालेज से ग्रेजुएशन किया और पीजी करने के लिए बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी में एडमीशन लिया।
- वहां से इन्फोर्मेशन टेक्नोलोजी में एमएससी करने के लिए एडमीशन लिया। ऋचा ने एमएससी आईटी में यूनीवर्सिटी में टॉप किया, जिसके लिए राष्ट्रपति ने उन्हें गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया है।

बाबा को मानती है आइडल
- ऋचा ने बताया, ''बचपन से ही मेरा मन पढ़ने में बहुत लगता था। मेरे बाबा ने मुझे सबसे ज्यादा प्रमोट किया। जब मेरा ग्रेजुएशन पूरा हुआ तो मैं पढ़ने के लिए लखनऊ आना चाहती थी।''
- ''मेरे बाबा ने मेरा हौसला बढ़ाया और मुझे पढ़ने के लिए लखनऊ भेज दिया। मेरी इस सफलता में उनका बहुत बड़ा रोल है, मैं उनको अपना आइडल मानती हूं।"
- "इस समय समाज में महिलाओं के प्रति अपराध जिस तरह बढ़े हैं। एक अकेली लड़की के लिए अनजान शहर में रहकर पढ़ाई करने में काफी परेशानियां हैं। लखनऊ आई तो मुझे जसलीन कौर मिली। जिसने मेरी पेरेंट्स की तरह मेरा ध्यान रखा।''
- ''मैं 2 बहनों में छोटी हूं, मेरा कोई भाई नहीं है। मेरे पेरेंट्स ने हमें हमेशा हमे बेटों की तरह ही प्यार किया। हमारा भी एक सपना है कि हम पूरे देश में अपने परिवार का नाम रोशन करें।''
- ''मैं आगे चलकर रिसर्च करना चाहती हूं। हम आईटी सेक्टर में अगर देश के लिए कुछ नया और उपयोगी कर सकेंगे तब मेरी मेहनत सही मायने में सफल होगी।"

सफलता के लिए बताए ये मूल मंत्र
ऋचा ने कहा, ''सफलता का सिर्फ एक मूल मंत्र मेहनत है। मेहनत और एकाग्रता से किसी भी मंजिल को हासिल किया जा सकता है। जिस दिन आपके दिल में कुछ कर गुजरने की तमन्ना जाग जाएगी, एस दिन हर मंजिल आपको आसान दिखाई देगी।"

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Lucknow News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: is lady ko president ke haathon milaa gaold meindl, boli- dost ne dilaaee sfltaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×