न्यूज़

--Advertisement--

मोदी सरकार के खिलाफ BJP सांसद सावित्री बाई का प्रदर्शन, कहा- आरक्षण कोई भीख नहीं; खत्म किया तो बहेंगी खून की नादियां

सावित्री बाई ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार की नीतियों के कारण एससी-एसटी, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक खतरे में हैं।

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 12:03 PM IST
यूपी बहराइच लोसकभा सीट से सांसद है सावित्री बाई फुले। यूपी बहराइच लोसकभा सीट से सांसद है सावित्री बाई फुले।

लखनऊ. बीजेपी सांसद सावित्री बाई फुले ने अपनी ही सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया है। फुले केन्द्र सरकार की दलित विरोधी नीतियों के खिलाफ आज काशीराम स्मृति उपवन में 'भारतीय संविधान व आरक्षण बचाओ महारैली का आयोजन' किया। रैली का शुभारंभ उन्होंने डॉ भीमराव आंबेडकर और काशीराम की मूर्ति पर पुष्प अर्पित कर कार्यक्रम की हुई शुरुआत की। सावित्री बाई फुले यूपी के बहराइच से सांसद हैं।

आरक्षण भीख नहीं

-इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा- आरक्षण कोई भीख नहीं बल्कि प्रतिनिधित्व का मामला है। यदि शासक वर्ग ने भारत के संविधान को बदलने और हमारे आरक्षण को खत्म करने का दुस्साहस किया तो भारत की धरती पर खून की नदियां बहेंगी। यह हमारे बाबा साहेब का दिया अधिकार है किसी और के बाप दादा या भगवान का नहीं।
- उनका कहना है कि इस रैली में प्रदेश के प्रत्येक जिले व गांव शहर से बड़ी तादाद में बहुजन मूलनिवासी समाज के महिला पुरुष शामिल हुए हैं। महारैली में बहुजन मूलनिवासी समाज के लोग तथा नेतागण एवं संगठनों के लोग सादर आमंत्रित हैं।

क्या कहा सावित्री बाई ने?

- उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि- चाहे जान की बाजी क्यों न लगाना पड़े हम पीछे नहीं हटेंगे आप सब कसम खाइए बाबा साहेब के संविधान को बचाने के लिए हम जान भी दे देंगे। भारत के संविधान को आजतक ठीक से लागू नहीं किया गया। हमारे बहुजन समाज के लोगों को आज तक समानता का अधिकार नहीं दिया गया।
- जिस संविधान के बदौलत कार्यपालिका और न्यायपालिका चल रही है जिस संविधान की शपथ देश चलाने के लिए ली जाती है उस संविधान को आजतक लागू क्यों नहीं किया गया। बाबा साहब की मूर्तियां क्यों तोड़ी जा रही हैं।
- अपने स्वाभिमान की लड़ाई हम लोग नहीं लड़ेंगे तो जो लोग बहुजन समाज का नाश करने में लगे हैं वो लोग लड़ेंगे। बाबा साहेब की मूर्तियों को तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की जाती।
- हम सांसद रहें या न रहें लेकिन अपने बहुजनों के साथ अन्याय नहीं होने देंगे। मुख्यमंत्री, राष्ट्र्पति पद तक पहुंचने का अवसर हमें बाबा साहब की वजह से मिला है।
- 17 साल हो गया मैं अपने घर नहीं गई अपने घर और परिवार को त्याग दिया। मेरे शरीर पर ये कपड़ा गौतम बुद्ध जी का है।
- मैं बाबा साहब की बेटी हूं ये सब बर्दाश्त नहीं करूंगी बहुजन समाज अब तक शासक बनाता था अब शासन करके नीचे से ऊपर तक आरक्षण लागू कराने का काम करेगा।

आरक्षण खत्म करने की साजिश
- हाल ही में अपनी ही सरकार व पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा है था कि केंद्र सरकार आरक्षण खत्म करने की साजिश कर रही है।
- सावित्री बाई ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार की नीतियों के कारण एससी-एसटी, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक खतरे में हैं। भारतीय संविधान और आरक्षण भी खतरे में आ गया है।
- सांसद ने अपनी मांगों को सरकार के सामने रखा। इसमें प्राइवेट सेक्टर में भी आरक्षण जैसी व्यवस्था की मांग भी शामिल है।

-सांसद सावित्री बाई फुले ने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर का नाम बदलकर भीमराव रामजी आंबेडकर किए जाने के योगी सरकार के फैसले पर नाराजगी जताई थी।

- बता दें कि योगी सरकार के खिलाफ बीजेपी उनके ही सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर पहले ही नाराजगी जता चुके हैं।

ये हैं प्रमुख मांगे
- पदोन्नति में भी दें आरक्षण।
- 117वां संविधान संशोधन करें। निजी क्षेत्र में दें आरक्षण, एससीएसटी पर अत्याचार रोकें। महिलाओं पर अपराध में कड़ी कार्रवाई करें। विभागों में कोटा तय कर दलितों व अल्पसंख्यकों को आरक्षण दें। आरक्षण को 9वीं अनुसूची में रखकर संरक्षित कर दिया जाए। सभी विश्वविद्यालयों और सरकारी संस्थाओं में आरक्षण का रोस्टर लागू किया जाए।

दलितों के मुद्दे पर नाराज हैं योगी सरकार के मंत्री

- योगी सरकार के मंत्री ओम प्रकाश राजभर दलितों के मुद्दे पर सरकार के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। राजभर का कहना है कि एसएसी एसटी को 21 फीसदी आरक्षण राजनीति में भी मिलता है। जबकि पिछड़ी जातियों को 27 फीसदी आरक्षण तो मिलता है।

सांसद ने बीजेपी सरकार को दलित विरोधी बताते हुए कहा था कि आरक्षण खत्म करने की साजिश हो रही है। सांसद ने बीजेपी सरकार को दलित विरोधी बताते हुए कहा था कि आरक्षण खत्म करने की साजिश हो रही है।
X
यूपी बहराइच लोसकभा सीट से सांसद है सावित्री बाई फुले।यूपी बहराइच लोसकभा सीट से सांसद है सावित्री बाई फुले।
सांसद ने बीजेपी सरकार को दलित विरोधी बताते हुए कहा था कि आरक्षण खत्म करने की साजिश हो रही है।सांसद ने बीजेपी सरकार को दलित विरोधी बताते हुए कहा था कि आरक्षण खत्म करने की साजिश हो रही है।
Click to listen..