--Advertisement--

बाएं पैर में फ्रैक्चर तो दाएं में चढ़ा दिया प्लास्टर, यहां ऐसे हैं डॉक्टर

बाराबंकी में एक बच्चे के बाएं पैर में फ्रैक्चर था। डॉक्टरों ने उसे दाएं पैर में प्लास्टर चढ़ा दिया।

Danik Bhaskar | Jan 20, 2018, 03:52 PM IST
बाराबंकी जिला हॉस्पिटल के डॉक्टर ने बच्चे के गलत पैर में प्लास्टर चढ़ा दिया। बाराबंकी जिला हॉस्पिटल के डॉक्टर ने बच्चे के गलत पैर में प्लास्टर चढ़ा दिया।

बाराबंकी (यूपी). यहां शनिवार को जिला अस्पताल में डॉक्टरों की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां एक बच्चे के बाएं पैर में फ्रैक्चर हुआ तो डॉक्टर ने दाहिने पैर में प्लास्टर चढ़ा दिया। मामले प्रकाश में आने के बाद डॉक्टर ने पैर का प्लास्टर काट कर सही पैर में चढ़ाया। इस लापरवाही के कारण जिला अस्पताल के सीएमएस ने दोषी डॉक्टर के खिलाफ चेतावनी जारी की है।

ये है पूरा मामला...

- मामला बाराबंकी के जिला अस्पताल का है, जहां दरियाबाद क्षेत्र के निवासी अरविन्द मौर्य का ढाई साल का बेटा अर्णव इलाज कराने आए थे। दरअसल अर्णव घर के बाहर खेल रहा था, खेलते-खेलते वह गिर और पैर में चोट आ गई।
- पैरों की सूजन देख कर अरविन्द बच्चे को लेकर जिला अस्पताल आ गए, जहां डॉक्टरों ने उसका पैर फ्रैक्चर बताकर प्लास्टर चढ़ाए जाने की बात कहीं। अरविन्द भी डॉक्टरों की बात मान कर प्लास्टर चढ़ाने के लिए हामी भर दी।
- अर्णव की मां सविता ने कहा, ''डॉक्टर राजेश ने उनके बच्चे के बाएं पैर के बजाय दाहिने पैर में प्लास्टर चढ़ा दिया। डॉक्टरों की गलती जब हॉस्पिटल के सीएमएस से की तब जाकर गलत पैर का प्लास्टर काट कर सही पैर में चढ़ाया।
- पिता अरविंद ने कहा, ''प्लास्टर रूम में जब डॉक्टर को बताया कि आपने गलत पैर में प्लास्टर चढ़ा दिया है, तो मुझसे उलझ गए। बोले- 'तुम दवाई लो और घर जाओ।' मामले की शिकायत करने पर डॉक्टर ने अपनी गलती को स्वीकार किया और प्लास्टर काटकर सही पैर में चढ़ा दिया।''
- बाराबंकी जिला अस्पताल के सीएमएस डॉक्टर एसके सिंह ने कहा, ''ये मामला संज्ञान में आया है, इसमें डॉक्टरों की लापरवाही सामने आई है। मामले के दोषी डॉक्टर को चेतावनी भी जारी कर दी गई है।''

श‍िकायत के बाद बच्चे का सही से इलाज किया गया। श‍िकायत के बाद बच्चे का सही से इलाज किया गया।