--Advertisement--

GST में संशोधन से पीएम आवास योजना में सस्ते होंगे मकान, गरीबों के आएंगे अच्छे द‍िन: CREDAI

क्रेडाई के नेशनल प्रेसिडेंट जाक्षय शाह ने बताया, सरकार ने जीएसटी में संशोधन क‍िया है जि‍ससे अब 4 फीसदी कम टैक्स लगेगा।

Danik Bhaskar | Jan 29, 2018, 01:07 PM IST
स‍िम्बोल‍िक। स‍िम्बोल‍िक।

लखनऊ. 'वन नेशन वन टैक्स' को लेकर एक तरफ जहां विपक्ष इसको लेकर सरकार की खिलाफत करते हुए आपस में भिड़ा हुआ है। वहीं सरकार ने इसमें एक और संसोधन करते हुए रियल इस्टेट सेक्टर में बड़ी रियायत दी है। इससे पीएम आवास योजना में 60 स्क्वाॅयर मीटर तक का मकान या फ्लैट लेने वालों को इसमें जीएसटी 12 प्रतिशत के बजाय मात्र 8 प्रतिशत ही देना होगा। कॉन्फेडेरेशन ऑफ रि‍यल इस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (CREDAI) के नेशनल प्रेसिडेंट जाक्षय शाह ने dainikbhaskar.com से बातचीत के दौरान कहा, पूरे एसोशिएशन की ओर से पीएम मोदी को 'थैंक यू' कहता हूं। क्योंकि 4 प्रतिशत सीधी टैक्स की कमी से वाकई में गरीबों को लाभ होगा और अच्छे दिन आएंगे। आगे पढ़‍िए और क्या बोले क्रेडाई के प्रेस‍िडेंट...


- जाक्षय शाह ने बताया, केंद्र सरकार ने जीएसटी में अमेंडमेंट इस बार किया है। इससे पीएम आवास योजना के तहत मकान लिए जाने पर जीएसटी पर 12 प्रतिशत के बजाय लोगों को 8 प्रतिशत ही टैक्स देना होगा। इससे निश्चित तौर पर एक बड़े तबके को राहत मिलेगी और इसकी बहुत जरूरत थी। 60 स्क्वाॅयर मीटर तक के मकान लेने वालों को इससे फायदा होगा।
- इससे अब गरीब लोगों का भी अपना खुद का घर होने का सपना पूरा होगा। इस बार 18 जनवरी 2018 को केंद्र ने जो अमेंडमेंट किया है उससे हर गरीबों में विशेष तौर पर जो झुग्गी-झोपड़ी में रहते हैं उनको फायदा होगा। क्योंक‍ि उनके लिए जो 60 स्क्वाॅयर मीटर की योजना है उसमें भी इस बार छूट दी गई है। सीधे 4 प्रतिशत जीएसटी माफ किया गया, ये अब तक का बड़ा कदम है।
-जिस तरह से जीएसटी लागू किया गया था, उससे थोड़ी दिक्कतें जरूर आई थी, लेकिन अब जो बदलाव किए जा रहे हैं, वो अच्छे हैं और इनकी जरूरत थी।
- हमने कई बार केंद्र सरकार से मुलाकात करके अपनी बातों को रखा था, अब जो हुआ वो उसमें शामिल था। ये अच्छी बात है कि सरकार हमारी बातों को भी सुनती है। जो बदलाव सबके लिए जरूरी होंगे, उनको हम सरकार के सामने जरूर रखते हैं। आगे भी इसके लिए मिलते रहेंगे।

आगे की स्लाइड्स में पढ़‍िए क्रेडाई के बारे में...

जाक्षय शाह, क्रेडाई के नेशनल प्रेस‍िडेंट। फाइल जाक्षय शाह, क्रेडाई के नेशनल प्रेस‍िडेंट। फाइल

- जाक्षय शाह ने कहा, विश्व की अन्य रियल इस्टेट संस्थाओं की अपेक्षा लोगों का विश्वास इंडिया की क्रेडाई यूनियन में बढ़ा है। हम भी मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट को सफल बनाने के लिए अन्य विदेशी कम्पनियों को यहां क्रेडाई के साथ जुड़कर इनवेस्ट करने की बातचीत लगातार कर रहे हैं। तभी हमारे देश के हर व्यक्त को रोजगार मिल सकेगा।

-उन्होंने बताया, पूरे विश्व में क्रेडाई एक ऐसी संस्था है, जिसमें मार्केट में अपनी पहचान बनाई है। हमारे साथ जो प्रोजेक्ट या कम्पनियां जुड़ी हैं, लोग उनपर ज्यादा विश्वास करते हैं। क्योंकि हमने पूरी तरह से ट्रांसपेरेंट व्यवस्था की शुरुआत की है। हर किसी से इंटरनल मीटिंग के जरिए हम उनकी समस्या को सुलझाने का प्रयास करते हैं, फिर उनकी बातों को नोट करके सरकार तक पहुंचाते हैं।