--Advertisement--

बेटी को देख नहीं रोक पाया आंसू, 23 दिन बाद कांस्टेबल ने पिता से मिलाया था

वन विभाग में कांस्टेबल के तौर पर तैनात वीरेन्द्र ने उसके पिता राजकुमार से

Dainik Bhaskar

Jan 02, 2018, 12:00 AM IST
राजकुमार अपनी बेटी शबनम को लेकर चले मेरठ वापस लौट गए हैं। राजकुमार अपनी बेटी शबनम को लेकर चले मेरठ वापस लौट गए हैं।

लखनऊ. मेरठ शहर से 23 दिन पहले लापता हुई शबनम से उसके पिता राजकुमार जब मिले, तो अपने आंसू रोक नहीं पाए। अपनी बेटी को देखते ही गले लगाकर रोने लगे। यह देखकर आसपास के लोग भावुक हो गए। फिलहाल, राजकुमार अपनी बेटी शबनम को लेकर चले मेरठ वापस लौट गए हैं। अकेली टहलती मिली थी शबनम...

- जानकारी के मुताबिक, 9 दिसंबर को शहीद पथ पर एक मानसिक तौर पर बीमार एक लड़की टहलती हुई मिली। 181 हेल्पलाइन के कर्मचारियों ने किशोरी को एल्डिको उद्यान-2 में बने सीएफआई संस्था के सुपुर्द कर दिया था।
- संस्था में देखरेख करने वाले ओवी पाल और उनकी पत्नी बिंसी किशोरी की देखरेख कर रहे थे। उन्होंने उसका इलाज कराया। करीब हफ्ते भर बाद शबनम की हालत सामान्य हो पाई।


पुलिस कांस्टेबल ने की मदद
- शबनम जिस एनजीओ के पास थी। उसके लोगों की पहचान वन विभाग में सिपाही के पोस्ट पर तैनात वीरेन्द्र से थी। वीरेन्द्र भी मेरठ के रहने वाले थे। इस वजह से उन लोगों ने उससे संपर्क किया।
-वीरेंद्र ने किशोरी के गांव भीमनगर में रहने वाले अपने कुछ परिचितों को शबनम के बारे में जानकारी दी। पता चला कि शबनम भीमनगर गली नंबर दो की रहने वाली है।


घर में लौट आई खुशियां

-शबनम के पिता राजकुमार ने बताया, " 23 दिन से बेटी के लापता होने के बाद से वह लगातार उसकी खोजबीन कर रहे थे। जब उन्हें जानकारी मिली, उन्हें लगा कि घर में खुशियां लौट आईं है। उसके बाद अपनी बेटी को मेरठ से लखनऊ लेने के लिए

23 दिन बाद बेटी अपने पिता से मिली है। 23 दिन बाद बेटी अपने पिता से मिली है।
वन विभाग में कांस्टेबल के तौर पर तैनात पुलिस कांस्टेबल ने मुलाकात कराई थी। वन विभाग में कांस्टेबल के तौर पर तैनात पुलिस कांस्टेबल ने मुलाकात कराई थी।
X
राजकुमार अपनी बेटी शबनम को लेकर चले मेरठ वापस लौट गए हैं।राजकुमार अपनी बेटी शबनम को लेकर चले मेरठ वापस लौट गए हैं।
23 दिन बाद बेटी अपने पिता से मिली है।23 दिन बाद बेटी अपने पिता से मिली है।
वन विभाग में कांस्टेबल के तौर पर तैनात पुलिस कांस्टेबल ने मुलाकात कराई थी।वन विभाग में कांस्टेबल के तौर पर तैनात पुलिस कांस्टेबल ने मुलाकात कराई थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..