--Advertisement--

वसीम रिजवी के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रही योगी सरकार, गिरफ्तारी की मांग : कल्बे जवाद

रिजवी ने पीएम मोदी को खत लिखकर कहा था-'आतंकी संगठन अवैध रूप से चल रहे कुछ मदरसों की फंडिंग करते हैं।'

Dainik Bhaskar

Jan 10, 2018, 04:14 PM IST
रिजवी के खिलाफ मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने कार्रवाई की मांग की है। (फाइल) रिजवी के खिलाफ मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने कार्रवाई की मांग की है। (फाइल)

लखनऊ. शिया वफ्क बोर्ड के प्रेसिडेंट वसीम रिजवी के खिलाफ शिया संप्रदाय के ही धर्म गुरुओं ने सड़क पर उतरने की चेतावनी दी है। मदरसों को आतंकी फंडिंग के शिया सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी के बयान को निराधार बताते हुए देश के शिया उलमा ने संयुक्त रूप से निंदा की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वसीम रिजवी की गिरफ्तारी की मांग की है। मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने कहा- "शिया समुदाय वसीम रिजवी के बेबुनियाद बयान की निंदा करता है। मौलाना ने यूपी सरकार से सवाल किया कि आखिर वसीम रिजवी को छूट दिए जाने का कारण किया है?

-अभी तक वसीम रिजवी के भ्रष्टाचार की सीबीआई जांच क्यो नहीं कराई गई। पुराने मामलों में पुलिस ने चार्जशीट क्यों दाखिल नहीं की। जबकि उसका अपराध और भ्रष्टाचार साबित हो चुका है।

-मौलाना ने कहा ऐसे बयानों से देश का माहौल खराब हो सकता है और उत्तर प्रदेश में दंगों की स्थिति पैदा हो सकती है इसलिए इस पर सख्त कार्यवाही हो और वसीम रिजवी को गिरफतार किया जाये।
-मौलाना ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वसीम रिजवी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं करते तो उलमा लखनऊ से दिल्ली तक विरोध करने पर मजबूर होंगे।

ओलामा ने की बयान की निंदा


-भारत के सभी महत्वपूर्ण और जिम्मेदार ओलमा ने वसीम रिजवी के बयान की निंदा करते हुये कहा- "वसीम रिजवी ने मदरसों को संदिग्ध बनाने की कोशिश की है, उलमा ने कहा कि वसीम रिजवी अपने हितों को प्राप्त करने और गिरफ्तारी से बचने के लिए ऐसे निराधार और भड़काऊ बयान दे रहा है लेकिन अब इस तरह के बयानों को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।
-उलमा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि वसीम रिजवी के निराधार आरोपों के खिलाफ कार्रवाई की जाए और उसे गिरफ्तार किया जाये, अगर कार्रवाई नहीं की जाती तो हमारे पास विरोध का अधिकार सुरक्षित रहेगा।
-वसीम रिजवी अपने पद का दुरुपयोग कर रहा है और ऐसे बयान दे रहा जिससे देश का माहौल खराब हो सकता है इसलिए उसे गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

-शिया उलमा की ओर से जारी बयान में दिल्ली, मुम्बई, लखनऊ से लेकर देश के दूसरे हिस्सों के शिया धर्म गुरूओं के नाम दर्ज हैं।


क्या कहा था रिजवी ने ?

-यूपी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के प्रसिडेंट वसीम रिजवी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के चीफ मिनिस्टर योगी आदित्यनाथ को एक खत लिखा। उन्होंने लिखा, "आतंकी संगठन अवैध रूप से चल रहे कुछ मदरसों की फंडिंग करते हैं। कितने मदरसों ने डॉक्टर-इंजीनियर दिए। इन्हें खत्म करने की जरूरत है।"

पूर्व मंत्री आजम खां के करीबी हैं वसीम रिजवी

-शिया सेन्ट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी समाजवादी सरकार के प्रभावशाली मंत्री मोहम्मद आजम खां के बेहद करीबी हैं।

-सपा सरकार के दौरान वसीम पर यह भी इल्जाम लगा था कि वह आजम खां के इशारे पर शिया धर्म गुरू के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं।

-वक्फ बोर्ड की सेन्ट्रल काउंसिल ने भी अपनी जांच में वसीम रिजवी पर वक्फ संपत्ति को खुर्द-बुर्द करने का आरोप लगाया था और सीबीआइ जांच कराने की संस्तुति की थी।

-भाजपा सरकार बनने के बाद अल्पसंख्यक कल्याण राज्यमंत्री मोहसिन रजा ने भी वसीम रिजवी के भ्रष्टाचार की जांच कराने का एलान किया था, मगर जांच आगे नहीं बढ़ी।

फाइल । फाइल ।
X
रिजवी के खिलाफ मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने कार्रवाई की मांग की है। (फाइल)रिजवी के खिलाफ मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी ने कार्रवाई की मांग की है। (फाइल)
फाइल ।फाइल ।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..