--Advertisement--

बिहार की तर्ज पर UP में चलेगी 'रोड एम्बुलेंस', एक काॅल पर दूर होगी गड्ढे की समस्या

लखनऊ. ड‍िप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, प्रदेश सरकार 'रोड एम्बुलेंस' नाम से एक सेवा की शुरुआत करेगी।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 10:18 PM IST
केशव प्रसाद मौर्य। फाइल केशव प्रसाद मौर्य। फाइल

लखनऊ. यूपी सरकार सड़कों को हाईटेक बनाने के एक कदम और आगे बढ़कर काम करने जा रही है। सरकार 'रोड एम्बुलेंस' नाम से एक सेवा की शुरुआत करेगी। इसमें काॅल करने के 1 घंटे के अंदर उस जगह पर कर्मचारियों और मशीनरी की टीम पहुंचकर सड़कों की मरम्मत करेगी। दो दिवसीय 'सड़क पर चर्चा' की कार्यशाला में डिप्टी सीएम केशव मौर्या ने ये बातें कही। उन्होंने कहा, बिहार पीडब्ल्यूडी की तर्ज पर इस सेवा को जल्द ही प्रदेश में भी शुरू कराया जाएगा। 'रोड एम्बुलेंस' से होगा प्रदेश में गड्ढा मुक्ति अभियान का शुभारंभ...



- जानकारी के अनुसार, 'सड़क पर चर्चा' कार्यक्रम के दौरान देशभर के कई रोड कंस्ट्रक्शन के एक्सपर्ट और रिसर्च करने वाले इंस्टीट्यूशन्स आईआईटी कानपुर, वाराणसी और खड़गपुर ने भाग लिया।
- इस दौरान कई प्रदेशों के पीडब्ल्यूडी मंत्रियों ने भी अपने-अपने प्रदेशों से जुड़े बात कही। इस कार्यक्रम में बिहार के सीएम नीतीश कुमार को भी आना था, लेकिन किन्हीं कारणों से वो नहीं आ पाए।
- बिहार के पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर नंद किशोर यादव ने कार्यक्रम में बताया, हम सड़क निर्माण में हाईटेक सिस्टम का प्रयोग कर रहे हैं। दुर्घटनाओं को रोकने के लिए भी काम तेजी से हो रहा है। सड़कों के छोटे-मोटे गड्ढे रोकने के लिए 'रोड एम्बुलेंस' की शुरुआत की थी, जो काफी कारगर सिद्ध हुई है।
- इसके बाद डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने कहा, ''जल्द ही हम इसे यहां भी शुरू करने का प्रयास करेंगे। यूपी में भी 'रोड एम्बुलेंस' बनाने पर विचार किया जाएगा। जल्द ही इसपर बातचीत कर यहां भी सड़कों की हालत ठीक करने के ल‍िए 'रोड एम्बुलेंस' बनाई जाएगी। इसमें 1 काॅल पर अब लोगों के पास टीम पहुंचकर उस सड़क को ठीक करेगी।''
- बता दें, दो दिनों से चल रहे इस कार्यक्रम का शन‍िवार को समापन हुआ। इसकी शुरुआत में केंद्रीय मंत्रीनितिन गडकरी सीएम योगी आदित्यनाथ ने की थी।