--Advertisement--

बोला ये डायरेक्टर- 'मेरे कहने पर कुछ भी कर सकते हैं ये ऐक्टर-ऐक्ट्रेस'

फिल्म के डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने DainikBhaskar.com से बात की और अपने एक्सपीरियेंस को शेयर किया।

Danik Bhaskar | Jan 07, 2018, 09:00 PM IST
अनुराग बोले- नवाजुद्दीन तो ऐसा आदमी है कि मैं उससे बोलूं कि तुम्हें इस छत से कूदना है तो वह कूद जाएगा। पूछेगा भी नहीं। अनुराग बोले- नवाजुद्दीन तो ऐसा आदमी है कि मैं उससे बोलूं कि तुम्हें इस छत से कूदना है तो वह कूद जाएगा। पूछेगा भी नहीं।

लखनऊ. डायरेक्टर अनुराग कश्यप के निर्देशन में बनी फिल्म 'मुक्काबाज' की पूरी स्टारकास्ट टीम शनिवार को लखनऊ में मूवी के प्रमोशन के सिलसिले में आई थी। ये फिल्म स्पोर्ट्स की पॉलिटिक्स पर आधारित है। इस फिल्म की अधिकांश शूटिंग यूपी के लखनऊ, बनारस, बरेली अलीगढ़ आदि शहरों में हुई है। इस फिल्म के डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने DainikBhaskar.com से बात की और अपने एक्सपीरियेंस को शेयर किया।

पद्मावती विवाद पर दिया ये बयान
- अनुराग कश्यप कहते हैं, ''हमारे देश की सबसे बड़ी प्रॉब्लम है कि यहां के लोग बहुत जल्दी बुरा मान जाते हैं। हर आदमी अपना एक अलग इश्यू लेकर बैठा हुआ है। इस लिहाज से देखें तो हम जी ही नहीं सकते। ऐसे में हमें मास सुसाइड (समूह में आत्महत्या) कर लेना चाहिए।''
- ''कोई फिल्म बनती है और उसे किसी कारण रिलीज होने से रोक दिया जाती है तो इसमें सबसे ज्यादा नुकसान प्रोड्यूसर का होता है।''
- ''जहां तक पद्मावती का विवाद है, तो मैं फिल्म के रिलीज के पक्ष में हूं और संजय लीला भंसाली के साथ हूं। फिल्म रिलीज होने से पहले उसे सेंसर बोर्ड देखता है, उसके बाद उसे पास करता है। अगर सेंसर बोर्ड ने किसी फिल्म को पास कर दिया है, तो उसे नहीं रोकना चाहिए।''

इस बयान से मच सकता है फिर बवाल
- ''पद्मावती फिल्म को लेकर हो रहे बवाल के लिए कहीं न कही मीडिया का भी रोल है। मैं तो कहूंगा कि मीडिया का रोल औरों से ज्यादा है।''
- ''बहुत लोगों को तो पता भी नहीं होता है कि वे किस बात को लेकर विरोध कर रहे हैं या फिर किसके खातिर कर रहे हैं। उनमें से कइयों ने तो फिल्म भी नहीं देखी होती है। उन्हें तो बस किसी न किसी बहाने लाइमलाइट में आने और लोगों का अपनी तरफ अट्रैक्ट करने का बहना चाहिए।''
- ''मीडिया ऐसे लोगों को फुटेज देता है। आजकल सही मायनों में प्रदर्शन फिल्म को लेकर नहीं, बल्कि टीवी पर आने के लिए ज्यादा हो रहा है। ये ठीक बात नहीं है।''
- ''ऐसा बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए। फिल्म पर कार्रवाई करने के लिए सेंसर बोर्ड बैठा है। जब बोर्ड किसी फिल्म को रिलीज करने की परमिशन दे देता है, तो फिर उस फिल्म के खिलाफ सड़कों पर उतर कर बेकार का धरना-प्रदर्शन करना ठीक बात नहीं है।''

मुंबई से ज्यादा आसान है यूपी में फिल्में बनाना
- ''आज मुंबई से ज्यादा आसान फिल्में बनाना यूपी और खासकर लखनऊ में है। पहले लोग यूपी में फिल्में बनाने से भागते थे, लेकिन अब यूपी में बाकी शहरों की अपेक्षा ज्यादा बन रही हैं।''
- ''मेरी कई फिल्में अभी तक यूपी में बन चुकी है। गैंग्स ऑफ वासेपुर मूवी की ज्यादातर शूटिंग सोनभद्र में तो मुक्काबाज की शूटिंग लखनऊ, वाराणसी और बरेली में हुई है। मैं आगे भी यूपी में फिल्में बनाने वाला हूं।''

पूरी फैमिली एक साथ बैठकर देख सकती है मेरी ये फिल्म
- ''मैंने अपनी लाइफ में पहली बार मुक्काबाज नाम से पहली ऐसी फिल्म बनाई है। जिसे मैं खुद लोगों को जाकर कह सकता हूं कि आप इस फिल्म को घर पर या हॉल में जाकर एक साथ बैठकर देख सकते हैं।''
- ''इसके पहले मैंने अभी तक ऐसी कोई फिल्म नहीं बनाई थी। ये फिल्म लव स्टोरी पर आधारित है। इस फिल्म में एक्टर को एक स्पोर्ट्स मैन के रूप में रूप दिखाया गया है। जो हर पल मुक्का बांधे खड़ा रहता है।''

मैं यूपी की चक्की का आटा खाता हूं
- ''मैं यूपी से बिलॉन्ग करता हूं। मेरी परवरिश यहीं की है। मेरा रसोइया यूपी का है। मेरे घर में आटे से लेकर सत्तू तक सब कुछ यूपी से ही जाता है।''
- ''मैं रहता भले ही मुंबई में हूं, लेकिन मेरा दिल और दिमाग सब कुछ यूपी वाला ही है। मेरी ज्यादातर फिल्में यूपी में शूट हुई हैं या यूपी से कनेक्ट करती हुए बनी है।''

रोकनी पड़ी थी शूटिंग
- शूटिंग के दौरान का एक पुराना किस्सा शेयर करते हुए कहा- ''एक बार हम एक मूवी को वाराणसी में शूटिंग कर रहे थे। मैंने शूटिंग के लिए एक मकान किराए पर लिया हुया था। मैं वहां पर शूटिंग कर रहा था तभी दो भाई पैसे को लेकर आपस में लड़ने लगे। मुझे शूटिंग थोड़ी देर के लिए रोकनी पड़ी।''
- ''मैंने पुलिस को फोन किया। फोन करने के बाद पुलिस वहां पर आई और बोली कि हम इस मामले में कुछ भी नहीं कर सकते। तब पुलिस को बोला कि मैं अब क्या करूं। काफी देर बाद दोनों भाियों में पैसे को लेकर समझौता हो पाया। तब जाकर मेरी फिल्म की शूटिंग आगे बढ़ी।''

नवाजुद्दीन को कभी बोलूं कि कूद जाओ तो वो कूद भी जाएंगे
- ''नवाजुद्दीन और मैं दोनों एक-दूसरे को बहुत पहले से जानते हैं। मैंने नवाजुदीन को लेकर पहले भी फिल्में बनाई हैं और मेरी मुक्काबाज मूवी में वो भी हैं।''
- ''उनके और राधिका आप्टे के साथ बॉलीवुड में काम करना सबसे आसान है। ये दोनों ऐसे इंसान हैं कि इनसे कुछ करने को कहा जाए तो ये ज्यादा सवाल नहीं पूछते।''
- ''नवाजुद्दीन तो ऐसा आदमी है कि मैं उससे बोलूं कि तुम्हें इस छत से कूदना है तो वह कूद जाएगा। पूछेगा भी नहीं। क्योंकि उसे पता है अगर मैंने उससे कुछ कहा है तो कुछ सोच के कहा है। ये दोनों ज्यादा सवाल नहीं पूछते है। बस अपने एक्टिंग पर ध्यान देते हैं।''

टूट चुकीं अनुराग की दो शादियां
- बात अगर अनुराग की पर्सनल लाइफ की करें तो उन्होंने 2 शादियां की हैं।
- उनकी पहली शादी 2003 में आरती बजाज के साथ हुई थी।
- आरती एक जानी-मानी फिल्म एडिटर हैं और वो अनुराग की कई फिल्मों की एडिटिंग कर चुकी हैं। हालांकि, ये रिश्ता 6 साल बाद टूट गया। दोनों की एक बेटी आलिया कश्यप है।

पिछले साल दिसंबर में अनुराग और शुभ्रा के अफेयर की खबर मीडिया में आई थी। पिछले साल दिसंबर में अनुराग और शुभ्रा के अफेयर की खबर मीडिया में आई थी।
दूसरी पत्नी कल्कि कोचलिन के साथ अनुराग कश्यप। दूसरी पत्नी कल्कि कोचलिन के साथ अनुराग कश्यप।
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में जन्मे अनुराग का बचपन कई शहरों में गुजरा। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में जन्मे अनुराग का बचपन कई शहरों में गुजरा।
अनुराग(43) स्ट्रीट पर कथित गर्लफ्रेंड शुभ्रा (22) को Kiss करते नजर आ रहे हैं। अनुराग(43) स्ट्रीट पर कथित गर्लफ्रेंड शुभ्रा (22) को Kiss करते नजर आ रहे हैं।
नवाजुद्दीन और मैं दोनों एक-दूसरे को बहुत पहले से जानते हैं। नवाजुद्दीन और मैं दोनों एक-दूसरे को बहुत पहले से जानते हैं।