--Advertisement--

34 करोड़ के टेंडर में 5.5 करोड़ घूस मांग रहे एड‍िशनल प्रोजेक्ट मैनेजर के ख‍िलाफ FIR, ये है पूरा मामला

लखनऊ: ठेकेदार ने यूपीआरएनएन, विद्युत के एड‍िशनल प्रोजेक्ट मैनेजर पर हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई है।

Danik Bhaskar | Dec 12, 2017, 11:34 PM IST
फाइल। फाइल।

लखनऊ. राजधानी के हजरतगंज स्थित दारुलशफा में 34 करोड़ रुपए का काम कराने के बाद रिश्वत नहीं देने पर पेमेंट रोकने का मामला सामने आया है। ठेकेदार ने उत्तर प्रदेश न‍िर्माण न‍िगम ल‍िम‍िटेड (यूपीआरएनएन, विद्युत) के एड‍िशनल प्रोजेक्ट मैनेजर (अपर परियोजना प्रबंधक) पर आरोप लगाते हुए हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई है। वहीं, ठेकेदार पर जाली बिल लगाने के आरोप में एफआईआर दर्ज हुई है। आगे पढ़‍िए पूरा मामला...



- राजधानी के महानगर निवासी शिवराम पांडेय सेवा डेवलपर्स फर्म के मालिक हैं। उन्होंने बताया, दारुलशफा में बिजली का काम होना था।

- साल 2015 में राजकीय निर्माण निगम की तरफ से 34 करोड़ रुपए का ठेका मिला था। जिसमें से बिजली का काम करीब 5.5 करोड़ रुपए का था। शिवराम के मुताबिक, तय समय पर उन्होंने काम पूरा कर दिया।
- इसके बाद सिविल वर्क का पेमेंट उन्हें करा दिया गया, लेक‍िन अपर परिजयोना प्रबंधक (विद्युत) सत्यवीर सिंह यादव टाल-मटोल करते रहे।
- किसी तरह से उन्होंने 4.5 करोड़ रुपए का भुगतान करा लिया। फ‍िर बची हुई पेमेंट देने से सत्यवीर सिंह ने इनकार कर दिया।
-मंगलवार को शिवराम पांडेय ने हजरतगंज कोतवाली में अपर परियोजना प्रबंधक के खिलाफ अमानत में खयानत और धमकी देने की एफआईआर दर्ज कराई है।


दोनों तरफ से हुई एफआईआर
-इंस्पेक्टर हजरतगंज आनन्द शाही ने बताया, शिवराम पांडेय की तरफ से सत्यवीर सिंह यादव के खिलाफ रिपोर्ट लिखाई गई है।
-वहीं, अपर परियोजना प्रबंधक ने शिवराम पांडेय पर सरकारी काम में बाधा डालने, मारपीट और गाली-गलौज करने की एफआईआर दर्ज कराई है। दोनों पक्षों से दस्तावेज मंगा कर मामले की छानबीन की जा रही है।