न्यूज़

--Advertisement--

गर्वनर ने जारी किया एलयू को नोटिस, बोले-रेवड़ियों की तरह ना बांटे मानद उपाधि

एक से ज्यादा लोगों को मानद उपाधि दिए जाने का अनुमोदन प्रस्तावित करने पर नाराजगी जाहिर कि है।

Danik Bhaskar

Dec 08, 2017, 08:20 PM IST
राज्यपाल राम नाईक के ओएसडी चन्द्र प्रकाश ने एलयू वीसी को नोटिस जारी किया है। राज्यपाल राम नाईक के ओएसडी चन्द्र प्रकाश ने एलयू वीसी को नोटिस जारी किया है।

लखनऊ. राजभवन ने लखनऊ यूनिवर्सिटी(एलयू) के दीक्षांत समारोह में दिए जाने वाले मानद उपाधि पर क्वेश्चन उठाए हैं। राज्यपाल राम नाईक के ओएसडी चन्द्र प्रकाश ने एलयू वीसी को नोटिस जारी किया है। इसमें एक से ज्यादा लोगों को मानद उपाधि दिए जाने का अनुमोदन प्रस्तावित करने पर नाराजगी जाहिर कि है।

गृह मंत्री को मेडल देने पर एलयू टीचर्स ने उठाये थे सवाल

- ओएसडी चन्द्र प्रकाश का कहना है कि एक से ज्यादा लोगों को मानद उपाधि दिये जाने से सोसायटी में इसकी महत्ता और सार्थकता दोनों कम हो जाएगी। इसलिए भविष्य में केवल फेमस पर्सानिलिटी या फिर प्रतिष्ठित व्यक्ति को ही मानद उपाधि दी जाए।

- एलयू कार्य परिषद के एक मेम्बर ने बताया कि 24 नवम्बर को वीसी की अध्यक्षता में एक बैठक आयोजित की गई थी। जिसमें गृह मंत्री राज नाथ सिंह को मानद उपाधि दिए जाने पर चर्चा की गई थी। इस मुद्दे पर कार्य परिषद के कई मेम्बर ने क्वेश्चन उठा दिए थे।
- उनका कहना था कि मानद उपाधि शिक्षाविद को ही दिए जाने चाहिए। देश के गृह मंत्री को नहीं। जिस पर इस पर एलयू के ही एक अधिकारी और कार्यपरिषद सदस्य का तर्क था कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह पहले शिक्षक भी रह चुके हैं। ऐसे में उन्हें मानद उपाधि दी जा सकती है।


नहीं बदली जाएगी मेडल सूची
- एलयू के एग्जाम कंट्रोलर एके शर्मा ने बताया कि जितने भी लोगों ने मेडल सूची में आपत्तियां दर्ज की थी। उनमें से 7 की आपत्तियों को स्वीकार कर उनमें बदलाव कर दिया गया है। अब इस सूची में कोई भी बदलाव नहीं किया जाएगा। यह सूची एलयू की ओर से वेबसाइट पर जारी भी कर दी गई है।

उनका कहना है कि एक से ज्यादा लोगों को मानद उपाधि दिये जाने से सोसायटी में इसकी महत्ता और सार्थकता दोनों कम हो जाएगी। उनका कहना है कि एक से ज्यादा लोगों को मानद उपाधि दिये जाने से सोसायटी में इसकी महत्ता और सार्थकता दोनों कम हो जाएगी।
Click to listen..