--Advertisement--

UPTET Exam 2017: र‍िजल्ट से संबंध‍ित आंसर व‍िवाद पर कोर्ट ने मांगा व‍िस्तृत र‍िपोर्ट, सुनवाई कल

लखनऊ. कमेटी को यह रिपेार्ट देनी है कि परीक्षा में पूछे गए प्रश्न और उनके उत्तर सही थे अथवा गलत।

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2018, 08:11 PM IST
फाइल। फाइल।

लखनऊ. इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने यूपी-टीईटी परीक्षा 2017 के र‍िजल्ट से संबंधित उत्तरमाला (आंसर) के विवाद पर राज्य सरकार को विशेषज्ञ कमेटी की विस्तृत रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया है। कमेटी को यह रिपेार्ट देनी है कि परीक्षा में पूछे गए प्रश्न और उनके उत्तर सही थे अथवा गलत। इसके पूर्व सरकार ने अपने जवाबी हलफनामे में विशेषज्ञों की जो रिपोर्ट्स कोर्ट में पेश की उससे कोर्ट संतुष्ट नहीं हुई। इस मामले की सुनवाई शुक्रवार को होनी है। आगे पढ़‍िए पूरा मामला...

-यह आदेश जस्टिस विवेक चैधरी की बेंच ने मोहम्मद रिजवान और 103 अन्य की ओर से दाखिल एक याचिका पर पारित किया।

-याचिका पर सरकार की ओर से जवाबी हलफनामे के साथ कुछ विशेषज्ञों की रिपोर्ट भी पेश की गई। जिस पर गौर करने के बाद कोर्ट ने पाया कि उनमें से एक रिपोर्ट संयुक्त निदेशक (शिक्षा) द्वारा दी गई है, जो देहरादून से सेवानिवृत हुए थे।

-कोर्ट ने कहा कि इससे स्पष्ट है कि वह विषय के कितने विशेषज्ञ हैं। कोर्ट ने रिपोर्ट्स पर टिप्पणी करते हुए कहा कि इन पर कई लोगों के हस्ताक्षर हैं जिसमें स्पष्ट नहीं होता कि इसके लिए कमेटी का गठन किया गया अथवा एक व्यक्ति द्वारा ये रिपोर्ट्स दी गईं और अन्य लोगों द्वारा प्रति-हस्ताक्षरित कर दी गई।

-कोर्ट ने रिपोर्ट्स में विशेषज्ञों द्वारा किए दावे के समर्थन में कोई तथ्य न दिए जाने पर भी टिप्पणी की।

-12 जनवरी को मामले की सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने 3 दिन का समय कमेटी की रिपोर्ट पेश करने के लिए मांगा। जिस पर कोर्ट ने कमेटी की विस्तृत रिपोर्ट संबंधित दस्तावेजों के साथ पेश करने का आदेश दिया।

-17 जनवरी को मामले की सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से पुनः समय दिए जाने की मांग की गई, जिस पर कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए 19 जनवरी की तिथि निर्धारित की है।

-दरअसल, याचिका में परीक्षा से संबंधित उत्तरमाला को चुनौती दी गई है। साथ ही पाठ्यक्रम के बाहर से प्रश्न पूछे जाने पर भी आपत्ति की गई है।

-याचिका में परीक्षा में पूछे गए 14 प्रश्नों का मामला उठाया गया है। दावा किया गया है कि 15 अक्टूबर की परीक्षा के बाद 18 अक्टूबर को जारी उत्तर माला में परीक्षा में पूछे गए 8 प्रश्नों के जवाब या तो गलत हैं या कई विकल्प सही हैं।

-22 नवम्बर 2017 को कोर्ट ने यूपी-टीईटी- 2017 के परीक्षा परिणाम को अपने अंतिम आदेश के आधीन कर लिया था।

X
फाइल।फाइल।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..