--Advertisement--

BJP सांसद ने SDM से कहा- जानते नहीं हो मुझे, पढ़े अफसर का रिप्लाई

बाराबंकी में मंगलवार को बीजेपी सांसद प्रियंका रावत ने एक एसडीएम की जमकर नोक-झोक हुई।

Danik Bhaskar | Dec 13, 2017, 06:25 PM IST
बीजेपी सांसद प्रियंका रावत और आईएएस अजय कुमार द्विवेदी की जमकर नोक-झोक हुई। बीजेपी सांसद प्रियंका रावत और आईएएस अजय कुमार द्विवेदी की जमकर नोक-झोक हुई।

बाराबंकी(यूपी). यहां मंगलवार को बीजेपी सांसद प्रियंका रावत ने एक ट्रेनी आईएएस (एसडीएम के पद पर तैनात) अजय कुमार द्विवेदी की जमकर नोक-झोक हुई। बीजेपी सांसद ने कहा- ''अभी नए नए हो यहां..अंडर ट्रेंनिंग में हो। मेरे भी घर में कई आईएएस हैं, इसलिए मुझे बहुत अच्छे से पता है।'' दरअसल, एक तालाब पर अवैध कब्जा हटवाने के लिए एसडीएम साहब पहुंचे थे, लेकिन गुस्साए लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। इसपर बीजेपी की सांसद मौके पर पहुंची। फिर 2 मिनट तक चली हॉट-टॉक...


- सांसद ने IAS से कहा- ''अभी नए नए हो यहां पर..अंडर ट्रेंनिंग में हो। अभी तुम यहां का आकड़ा अच्छे से जानते नहीं हो। मेरे भी घर में कई आईएएस हैं। मैं भी ब्यूरोक्रेटिक फैमिली से हूं, इसलिए मुझे बहुत अच्छे से पता है। आप नए-नए इसलिए आपको फोन कर सीधा आपसे बोला है कि इनकी समस्याएं समझकर दूर करिए।''
- IAS ने कहा- ''कई तालाबों से अवैध कब्जा हटवा लिया गया है। चाहे तो आपको हम पूरा डाटा भी दे सकते हैं, कोई इसे अलग से नहीं चुना गया है। आप मेरे ऊपर अनावश्यक दबाव बना रहे हैं। हमारे विधित काम को रोक रही हैं।''

यह है पूरा मामला

- मामला सिरौलीगौसपुर तहसील के चैला गांव का है। यहां तालाब व सरकारी जमीन पर कई लोगों ने अवैध कब्जा कर सरसों व अन्य फसलें भी बो रखी हैं।
- मंगलवार को शिकायत पर आईएएस अजय कुमार द्विवेदी ने नायब तहसीलदार सुशील प्रताप सिंह की अगुवाई में टीम पुलिस के साथ अवैध कब्जा हटाने के लिए भेजा।
- मौजूद ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया और ट्रैक्टर के आगे लेट गए। हालत बिगड़ती देख मामले को काबू करने आईएएस खुद मौके पर पहुंचे।
- इसी बीच बीजेपी सांसद प्रियंका रावत भी अपने समर्थकों के साथ पहुंच गई। इसके बाद दोनों के बीच 2 मिनट तक हॉट टॉक हुई।
- वहीं, आईएएस का आरोप है, ''एक तालाब पर अलोक सिंह का अतिक्रमण था, उसी को हटवाने गए थे। लेकिन हमारी टीम को काम नहीं करने दिया गया। इस वजह से हमें लौटना पड़ा। यह कार्रवाही हम जारी रखेंगे।''

सांसद बोली : IAS को लोगों से बचाया

- ''बवाल हो जाने के बाद गांव वालों ने उन्हें(IAS) घेर लिया था। मौके पर पहुंचकर मैंने बीच-बचाया किया। उन्हें मेरा शुक्रियादा करना चाहिए, लेकिन वो अब उल्टा ही चल रहे हैं।''

सांसद ने IAS से कहा- अभी नए नए हो यहां पर..अंडर ट्रेंनिंग में हो। मेरे भी घर में कई एसडीएम हैं। सांसद ने IAS से कहा- अभी नए नए हो यहां पर..अंडर ट्रेंनिंग में हो। मेरे भी घर में कई एसडीएम हैं।
आईएएस ने कहा- आप मेरे ऊपर अनावश्यक दबाव बना रहे हैं। हमारे विधित काम को रोक रही हैं। आईएएस ने कहा- आप मेरे ऊपर अनावश्यक दबाव बना रहे हैं। हमारे विधित काम को रोक रही हैं।