--Advertisement--

जब फोन पर वाइफ ने बताई ये बात, हसबैंड ने द‍िया ट्र‍िपल तलाक

मामला यूपी के गोंडा ज‍िले का है। द‍िव्यांग बेटी से छुटकारा पाने के लि‍ए ट्र‍िपल तलाक दे द‍िया।

Danik Bhaskar | Jan 06, 2018, 07:22 PM IST
बेटी की इलाज के ल‍िए पैसे मांगा तो पत‍ि ने तीन तलाक दे द‍िया। बेटी की इलाज के ल‍िए पैसे मांगा तो पत‍ि ने तीन तलाक दे द‍िया।

गोंडा. यूपी के गोंडा ज‍िले में शन‍िवार को ट्र‍िपल तलाक देने का मामला सामने आया है। पीड़‍ित मह‍िला का अरोप है क‍ि उसकी एक द‍िव्यांग बेटी है। ज‍िसकी तबीयत खराब होने पर उसने पत‍ि को फोन क‍िया, लेक‍िन वह बेटी की ज‍िम्मेदारी से छुटकारा पाने के लि‍ए हमें ट्र‍िपल तलाक दे द‍िया। आगे पढ़‍िए पूरा मामला...

-मामला गोंडा ज‍िले के वजीरगंज थानाक्षेत्र स्थ‍ित बाल्हाराई गांव का है। यहां के रहने वाले अब्दुल सत्तार ने 17 साल पहले अपनी बेटी शकीना बानो की शादी चड़ौवा गांव न‍िवासी मुबारक अली के साथ की थी।
- पीड़‍ित शकीना ने बताया, ''मुबारक अली मुंबई में जॉब करता है। मैं अपने मायके में दिव्यांग बेटी करिश्मा (14) के साथ रहती हूं।''

- ''मैंने 14 नवंबर 2017 को बेटी के इलाज के लिए पति से पैसे मांगने के ल‍िए फोन क‍िया। इस पर वो काफी भला-बुरा कहा और फोन पर ही ट्र‍िपल तलाक दे दिया। वह अपनी दिव्यांग बेटी की जिम्मेदारियों से पीछा झुड़ाना चाहता है।''

- इसके बाद पत‍ि ने अपने घरवालों को भी इसके बारे में सूच‍ित कर द‍िया। इस पर ससुराल वालों ने मायके भेज दिया। तब से वह मायके में रह रही है।

- इसको लेकर दोनों पक्षों के बीच पंचायत कर समझौते का भी प्रयास क‍िया गया, लेक‍िन उसने साफ मना कर द‍िया।

- अब इसकी श‍िकायत मैं थाने और कोर्ट में करूंगी और इंसाफ की गुहार लगाऊंगी।

- वहीं, पीड़‍िता का भाई मारुफ ने बताया, बहन के ससुराल वालों ने भी कोई मदद नहीं की। जब उसके पत‍ि ने ट्र‍िपल तलाक द‍िया तो उन्होंने भी घर से खदेड़ द‍िया।

द‍िव्यांग बेटी 14 साल की है। द‍िव्यांग बेटी 14 साल की है।
पत‍ि के तलाक देने के बाद ससुराल वालों ने भी घर से न‍िकाल द‍िया। पत‍ि के तलाक देने के बाद ससुराल वालों ने भी घर से न‍िकाल द‍िया।
मायके में रह कर गुजारा कर रही है पीड़‍ित शकीना। मायके में रह कर गुजारा कर रही है पीड़‍ित शकीना।