--Advertisement--

2019 की तैयारी में जुटी सपा, अखिलेश ने कार्यालय में बुलाई इमरजेंसी मीटिंग

गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव रो लेकर करेंगे चर्चा।

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2018, 10:55 AM IST
important meeting of SP over preparation of loksabha election 2019

लखनऊ. समाजवादी पार्टी ने सोमवार को एक अहम बैठक बुलाई। मीटिंग सपा कार्यालय में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की अध्यक्षता में हुई। आपको बता दें कि समाजवादी पार्टी 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर तैयारियों में जुट गई है। इस बैठक में इस बैठक में करीब 400 लोगों ने भाग लिया।

-सपा के स्पोकपर्सन राजेन्द्र चौधरी ने बताया- "इस मीटिंग में 2017 के विधानसभा में हारे सभी प्रत्याशियों मौजूद थे इसके साथ ही कई बड़े नेता भी मौजूद थे।

-2107 विधानसभा चुनाव के करीब 400 उम्मीदवार इस बैठक में शामिल हुए। अखिलेश यादव ने सभी को इस बात का मूलमंत्र दिया कि सपा ही प्रदेश में सबसे मजबूत और बेहतर विकल्प है। 2019 लोकसभा चुनावों के लिए मजबूती से तैयारी करें। 2017 में हमें धोखे से हराया गया था, बीजेपी से लोकतंत्र को खतरा है। -बीजेपी अलग-अलग तरह से लोकतंत्र को खत्म कर रही है। मतदाता सूचियों से नाम काटकर, ईवीएम का गलत इस्तेमाल से इसे अंजाम दिया जा रहा है।

17 जनवरी को सपा आलू एवं गन्ना किसानों के समर्थन में करेगी प्रदर्शन


-उन्होंने बताया 10 महीने में योगी सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है, कोई नया विकास कार्य नहीं हुआ है। सिर्फ सपा के कार्यकाल में किए गए विकास कार्यों का उद्घाटन करने का काम किया है।
-अखिलेश यादव ने बैठक में मौजूद कार्यकर्ताओं से कहा- "योगी सरकार पूरी तरह से संवेदनहीन हो गई है, जनहित से जुड़ी बातों से सरकार को कोई लेना-देना नहीं है।
-2019 की तैयारियों के लिए कार्यकर्ताओं को जमीनी स्तर पर संघर्ष करते रहने को कहा है। 2017 विधानसभा चुनाव में गठबंधन धर्म निभाते हुए जो सीट कांग्रेस को दी गई थी, सपा अब उन सीटों पर सर्वे भी करा रही है।

नहीं मौजूद थे शिवपाल यादव

बैठक में प्रो रामगोपाल यादव मौजूद थे जबकि, शिवपाल यादव मौजूद नहीं थे।

क्या कहना है सपा का ?

-इससे पहले सपा के प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी आशीष यादव ने बताया- "ये हमारी पार्टी की बैठक है। जिसमें पूर्व विधायक, सांसद और 2017 के हारे हुए प्रत्याशियों की बैठक है। इसमें सगंठन को आगे बढ़ाने और 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी पर चर्चा होगी। इसके आलावा फूलपुर और गोरखपुर में होने वाले लोकसभा के उपचुनाव पर पार्टी मंथन करेगी।"


गोरखपुर और फूलपुर में होने हैं उपचुनाव

-गोरखपुर और फूलपुर संसदीय क्षेत्र में उपचुनाव होने हैं। योगी आदित्यनाथ ने यूपी का सीएम बनने के बाद गोरखपुर संसदीय क्षेत्र से इस्तीफा दे दिया था वहीं, फूलपुर संसदीय क्षेत्र से केशव मौर्य ने डिप्टी सीएम बनने के बाद इस्तीफा दे दिया था। इसी कारण से गोरखपुर और फूलपुर संसदीय क्षेत्र में उपचुनाव होने हैं।


EVM को लेकर एकजुट हुआ विपक्ष

-हाल ही में अखिलेश यादव ने लखनऊ में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की जगह बैलेट वोटिंग की मांग को लेकर जनेश्वर मिश्रा ट्रस्ट में मीटिंग बुलाई थी। अखिलेश के बुलावे पर बीजेपी विरोधी कई दलों ने बैठक में हिस्सा लिया था। कांग्रेस और बीएसपी इस बैठक में कोई नहीं आया था, मगर उन्होंने चिट्ठी भेजकर बैठक के निर्णय पर सहमति जताई का भरोसा दिया था।

-सपा नेता रामगोविंद चौधरी ने कहा था, "सभी दलों ने बैलट पेपर से चुनाव कराए जाने पर सहमति जताई है। सीपीएम ने अपने नेशनल लीडरशिप से बात करने के बाद स्थिति साफ करने को कहा है। कांग्रेस और बीएसपी ने अपना सहमति पत्र भेजा है। उनकी चिट्ठी राजेन्द्र चौधरी के पास है।"

सपा 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी में जुट गई है। फाइल सपा 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी में जुट गई है। फाइल
important meeting of SP over preparation of loksabha election 2019
X
important meeting of SP over preparation of loksabha election 2019
सपा 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी में जुट गई है। फाइलसपा 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारी में जुट गई है। फाइल
important meeting of SP over preparation of loksabha election 2019
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..