--Advertisement--

जब पेड़ से लटकती मिली थीं दो बहनें, मर्डर-सुसाइड का आज तक है शक

DainikBhaskar.com उस पूरी घटना को इन्फोग्राफिक की मदद से बताने जा रहा है।

Danik Bhaskar | Dec 26, 2017, 01:23 PM IST

बदायूं. दिल्ली से सटे नोएडा के सेक्टर-49 में मंगलवार को दो सगी बहनों की डेडबॉडी पेड़ से लटकती मिली। मौके पर पहुंची पुलिस ने बॉडी को उतारकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। ऐसा ही एक मामला 27 मई 2014 को यूपी के बदायूं में देखने को मिला था। यहां दो चचेरी बहनो के शव देर रात पेड़ पर लटके मिले थे। इसे केस में यूपी ये यूएन तक बवाल हुआ था। DainikBhaskar.com उस पूरी घटना को इन्फोग्राफिक की मदद से बताने जा रहा है।

 

जांच से परिवार नहीं थी संतुष्ट
- 27 मई 2014 की रात बदायूं के कटरा सआदतगंज गांव में 14 और 15 साल की दो चचेरी बहनों के शव आम के पेड़ से लटके मिले थे। पुलिस ने हत्या के आरोप में पप्पू नाम के एक शख्स को अरेस्ट किया था।
- इसके अलावा 3 सि‍पाहि‍यों पर भी रेप का केस दर्ज हुआ था। पुलिस ने अपनी एफआईआर में बहनों के साथ गैंगरेप के बाद हत्या का केस दर्ज किया था।
- पुलिस की जांच पर लोगों ने भरोसा नहीं किया। पीड़ित परिवार ने सरकार से सीबीआई जांच की मांग की थी।
- बाद में सीबीआई की जांच से भी परिवार संतुष्ट नहीं था। क्योंकि उनकी र‍िपोर्ट में बहनों की मौत को सुसाइड बताया गया था। साथ ही उन्होंने गैंगरेप की पुष्ट‍ि नहीं की थी। इस बात से परिवार समेत खुद आरोपी अवधेश को इनकार था।

 

करेंट स्टेटस

- मामले के वकील कोकब नकवी ने बताया, ''हाईकोर्ट इलाहाबाद बेंच ने सीबीआई की क्लोजर रिपोर्ट खारिज करते हुए 5 आरोपियों में से एक आरोपी पप्पू यादव को तलब किया था। पप्पू यादव जमानत पर रिहा है, मामले में एवीडेंस पेश किए जा रहे हैं। मैंने कोर्ट में ये अपील की है कि इस मामले से जुड़े सभी लोगों को तलब किया जाए।''