--Advertisement--

बैलेट पेपर के साथ निकले 10 के नोट तो कहीं हारते ही कैंड‍िडेट ने किया मोदी पर कमेंट

यूपी के 16 नगर निगम, 198 नगरपालिका और 438 नगर पंचायतों के चुनाव की काउंटिंग शुक्रवार को हुई।

Danik Bhaskar | Dec 01, 2017, 08:58 PM IST
मामला यूपी के मुरादाबाद जिले का है। मामला यूपी के मुरादाबाद जिले का है।

लखनऊ. यूपी के 16 नगर निगम, 198 नगरपालिका और 438 नगर पंचायतों के चुनाव की काउंटिंग शुक्रवार को हुई। ज्यादातर सीटों पर रिजल्ट आ गए हैं। इस दौरान प्रदेश से कुछ अजब-गजब खबरें भी सामने आईं। कहीं बैलेट पेपर्स के साथ 10 के नोट निकले तो कहीं चुनाव हारते ही कैंड‍िडेट ने रोना शुरू कर दिया। DainikBhaskar.com आपको कुछ ऐसे ही मामलों के बारे में बताने जा रहा है।

# बैलेट पेपर्स के साथ निकले 10 रुपए के नोट
मामला मुरादाबाद जिले के ठाकुरद्वारा मंडी समिति मतगणना केंद्र का हैं। शुक्रवार सुबह से यहां वोटों की गिनती शुरू हुई। इस बीच एक कुछ बैलेट पेपर्स के बीच 10-10 रुपए के 10 नोट लगे मिले।
- मामला सामने आने के बाद कांग्रेस और निर्दलीय कैंडिडेट्स ने हंगामा शुरू कर दिया। कांग्रेस कैंडि‍डेट जहांगीर कुरैशी ने कहा- बीजेपी प्रत्याशी ने खरीद फरोख्त की है।
- जबकि बीजेपी कैंडिडेट राजपाल कश्यप ने कहा- ये जनता का प्यार है। जनता जान गई कि ईमानदार कौन है। हमने कभी कोई गलत काम नहीं किया।
- रिटर्निंग ऑफिसर आशीष मिश्रा ने कहा, जिन बैलेट पैपर के साथ नोट निकले हैं, उन्हें कैंसिल किया जाएगा।

लखनऊ से पार्षदी का चुनाव जीती ये लड़की। लखनऊ से पार्षदी का चुनाव जीती ये लड़की।

# यूपी में सबसे कम कम की सभासद बनी ये लड़की
लखनऊ के जोन-2 के वॉर्ड नंबर- 34 की निर्दलीय कैंडि‍डेट सादिया रफीक ने सभासद बनकर जीत दर्ज की है। वो 22 साल की हैं और अभी मास क्म्यूनिकेशन कर रही हैं। बता दें, सादिया यूपी में सबसे कम उम्र की सभासद चुनी गई हैं।

सपा कैंड‍िडेट है ये लड़की। सपा कैंड‍िडेट है ये लड़की।

# जब हारने पर रोने लगी ये सपा कैंडि‍डेट, मिले जीरो वोट
- लखनऊ के रमाबाई अंबेडकर मैदान में काउंटिंग हुई। जानकीपुरम वार्ड नम्बर -58 से सपा कैंडि‍डेट अपूर्वा को एक भी वोट नहीं मिले। रिजल्ट आते ही अपूर्वा रोने लगीं।
- उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा- ईवीएम मशीन से छेड़छाड़ कर मुझे जानबूझकर हराकर बीजेपी कैंडिडेट को जिताया गया। सिर्फ मेरे घर से ही कुल 50 वोट थे, लेकिन ईवीएम मशीन में जीरो वोट दिखाया गया। ऐसा संभव नहीं है। पूरा खेल EVM मशीन का है।
- हर जगह मोदी जी राजा बन गए हैं और हम प्रजा। ये लोकतंत्र नहीं, राजतंत्र है।

मामला मथुरा का है। मामला मथुरा का है।

# यहां लकी ड्रॉ से हुआ जीत का फैसला
- मथुरा के वॉर्ड नंबर 56 में बीजेपी की मीरा अग्रवाल और कांग्रेस उम्मीदवार नैमाई को 874 वोट मिले। निर्दलीय उम्मीदवार दीपक को 324 वोट मिले। सपा के कुंजबिहारी को 284 वोट मिले। लकी ड्रॉ होने के बाद बीजेपी के मीरा अग्रवाल को विजेता घोषित कर दिया।
- जीत के बाद मीरा अग्रवाल ने कहा, "ये सब ठाकुर जी की आशीर्वाद से हुआ है। कन्हैया के आशीर्वाद के बिना हम जीत नहीं सकते थे। अभी हमारी खुशी का कोई ठिकाना नहीं है।

नूतन राठौर यूपी के फिरोजाबाद शहर की रहने वाली हैं। नूतन राठौर यूपी के फिरोजाबाद शहर की रहने वाली हैं।

#ये हैं यूपी की सबसे कम उम्र की मेयर

-नूतन राठौर यूपी के फिरोजाबाद शहर की रहने वाली है। वे यूपी की सबसे कम उम्र की  महापौर चुनी गई है। उनकी उम्र 31 साल की है। उनके पिता मंगल सिंह राठौर बीजेपी के सीनियर लीडर है।
-बैंक की जॉब छोड़कर नूतन पहले एनजीओ का काम करने लगी। इसके बाद पालिटिक्स में आई। बीजेपी ने उन पर  भरोसा जताया और पार्टी से मेयर पद का टिकट दिया।
-नूतन ने 2017 में मेयर पद के लिए पहली बार चुनाव लड़ा और बड़ी जीत दर्ज की। उसे मेयर पद के लिए कुल 98928 वोट मिले है।
-उसने एआईएमआईएम की मेयर पद की कैंडीडेट्स मशरूर फातिमा को 42 हजार 3 सौ 96 वोटों से हराकर  फिरोजाबाद से मेयर की कुर्सी पर कब्जा कर लिया है।
-मशरूर फातिमा को नगर निकाय चुनाव में मेयर पद के लिए कुल 56 हजार 5 सौ 36 वोट मिले है।

गोरखपुर के वार्ड नंबर 68 से निर्दल पार्षद प्रत्‍याशी नादिरा खातून ने बीजेपी की माया त्रिपाठी को हराकर जीत दर्ज की। गोरखपुर के वार्ड नंबर 68 से निर्दल पार्षद प्रत्‍याशी नादिरा खातून ने बीजेपी की माया त्रिपाठी को हराकर जीत दर्ज की।

# सीएम जहां खुद रहे वोटर-वहां हुई बीजेपी की हार; आजम ने की थी ये भविष्यवाणी

-सीएम योगी के गढ़ गोरखपुर के वार्ड नंबर 68 से निर्दल पार्षद प्रत्‍याशी नादिरा खातून ने बीजेपी की माया त्रिपाठी को हराकर जीत दर्ज की। नादरा खातून को 1783 वोट मिले, जबकि माया त्रिपाठी को मात्र 1321 वोट मिलें। जीत के बाद निर्दल प्रत्याशी ने कहा- ''उन्‍हें ईवीएम पर पूरा भरोसा है, इसमें किसी भी प्रकार की कोई गड़बड़ी नहीं हुई है। वार्ड के विकास के लिए सीएम योगी से जरूर मिलने जाऊंगी।'' बता दें, सीएम ने इसी वार्ड पर वोट दिया था।
-बता दें, 26 नवंबर को सपा नेता आजम खान ने संभल में जनसभा की। यहां इन्होंने योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर का राजा और छोटा बादशाह बताते हुए कहा था- "गोरखपुर का राजा (योगी आदित्यनाथ) गोरखपुर से चुनाव नहीं जीत सकता था, इसलिए एमएलसी बन गया।"
-''स्थानीय निकाय में सपा की जीत का दावा करते हुए आजम ने कहा था- "जिस वार्ड में योगी आदित्यनाथ का मंदिर है, वहां से बीजेपी नहीं जीतेगी।"

सीताराम जायसवाल 70 साल के हैं। सीताराम जायसवाल 70 साल के हैं।

#ये हैं यूपी के सबसे बुजुर्ग मेयर

-सीताराम जायसवाल (70) गोरखपुर से इस बार बीजेपी के टिकट पर महापौर का चुनाव जीत गये है। सीताराम जायसवाल ने अपने प्रतिद्वंदी सपा के राहुल गुप्ता को हराकर जीत दर्ज की है। वे 75 हजार वोटों के अंतर से मेयर का चुनाव जीते है।
- सीताराम ने हाईस्कूल तक की पढ़ाई की है। उन्होंने भाजपा में मेयर पद के 26 दावेदारों को पीछे छोड़कर मेयर का टिकट तब हासिल किया था जब चर्चाओं में वह काफी पीछे छूट गए थे।
-वह गोरखपुर से संयुक्‍त व्‍यापार मंडल के अध्‍यक्ष रहने के साथ लम्बे टाइम से संघ से जुड़े रहे है।