--Advertisement--

बेटी को मौत के मुंह से वापस खींच लाई मां, 15 मिनट तक तेंदुए से लड़ती रही

तेंदुए ने एक 12 साल की बच्ची पर हमला कर दिया और उसे घसीटते हुए जंगल की तरफ ले जाने लगा।

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 12:47 PM IST

बहराइच. कर्तनियाघाट वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के पास जंगल से सटे बनकटी रमपुरवा गांव में बुधवार को उस समय हड़कंप मच गया, जब तेंदुए ने एक 12 साल की बच्ची पर हमला कर दिया और उसे घसीटते हुए जंगल की तरफ ले जाने लगा, लेकिन बच्ची की मां ने अदम्य साहस का परिचय देते हुए ना सिर्फ तेंदुए से 15 मिनट तक लड़ाई की, बल्कि अपनी बच्ची की जिंदगी भी बचा ली। शादी में आईं थीं मां-बेटी...

बता दें कि रमपुरवा बनकटी गांव में रहने वाले अरविंद कुमार गौतम के घर शादी का कार्यक्रम था। इसमें शामिल होने अरविंद की रिश्तेदार सिंधू अपनी 12 साल की बेटी खुशबू के साथ यहां आईं थीं।

तेंदुए ने हमला कर दिया

बुधवार सुबह दोनों मां-बेटी घर से खेत की तरफ जा रही थीं, तभी मां से कुछ दूरी पर चल रही खुशबू पर तेंदुए ने हमला कर दिया। इसके बाद खुशबू को जबड़े में दबाकर तेंदुआ जंगल की तरफ भागने लगा।

15 मिनट तक लड़ती रही मां

इतने में सिंधू ने तेंदुए का रास्ता रोक लिया और बेटी की जान बचाने के लिए तेंदुए से 15 मिनट तक लड़ती रही। वहीं, शोर-शराबा सुनते ही घर के लोग भी जंगल की तरफ दौड़ पड़े। लोगों को आता देख तेंदुआ बच्ची को छोड़ जंगल में गायब हो गया।

हॉस्पिटल में एडमिट है खुशबू

हालांकि, इस दौरान खुशबू गंभीर रूप से घायल हो गई। परिजनों ने खुशबू को सुजौली पीएचसी ले जाकर भर्ती कराया। जहां हालत गंभीर देखते हुए उसे जिला चिकित्सालय रेफर किया गया।

वन विभाग की टीम कर रही है जांच

थानाध्यक्ष सुजौली अफसर परवेज ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को समझा बुझाकर शांत कराया। डीएफओ जीपी सिंह ने बताया कि वन महकमे की टीम मौके पर गई है। घटना की जांच की जा रही है।