Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» यूपी समचार: Loudspeakers Without Permission Not Allowed In Religious Places, बिना परमिशन मंदिर, मस्जिद में लाउडस्पीकर नहो चलेंगे

बगैर इजाजत लाउडस्पीकर बजाने पर होगी कार्रवाई, 5 साल की जेल के साथ एक लाख का जुर्माना

20 दिसंबर को एक याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को फटकार लगाई थी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 08, 2018, 02:01 PM IST

  • बगैर इजाजत लाउडस्पीकर बजाने पर होगी कार्रवाई, 5 साल की जेल के साथ एक लाख का जुर्माना
    +1और स्लाइड देखें
    HC की फटकार के बाद यूपी सरकार ने बगैर इजाजत के धार्मिक स्थलों पर बज रहे लाउडस्पीकर के बारे में ब्योरा मांगा है।

    लखनऊ. ध्वनि प्रदूषण को लेकर हाईकोर्ट के सख्त निर्देशों के बाद धार्मिक स्थलों पर बिना इजाजत चल रहे लाउडस्पीकरों को लेकर सरकार गंभीर नजर आ रही है। प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने डीएम और एसएसपी को पत्र भेजकर जानकारी मांगी है कि उनके जिले में कितने लाउडस्पीकर बिना इजाजत चल रहे हैं? 10 जनवरी तक तैयार करनी है रिपोर्ट


    -प्रमुख सचिव (गृह) ने निर्देश दिया है कि ऐसे धर्मस्थल या सार्वजनिक स्थल जहां नियमित लाउडस्पीकर बजाए जाते हों, उनकी पहचान राजस्व और पुलिस अफसरों को टीम बनाकर 10 जनवरी तक सौंपने का आदेश दिया है। इसके साथ ही टीम पता करेगी कितने धर्म स्थलों पर बिन अनुमति के लाउडस्पीकर बजाए जा रहे हैं।

    - जिन धर्मस्थलों के पास लाउडस्पीकर बजाने की परमीशन नहीं हैं, उन्हें 5 दिन का मौका दिया जाएगा, ताकि वो लाउडस्पीकर बजाने की परमिशन ले सके। फाइनल रिपोर्ट 15 जनवरी तक सरकार के पास होगी। ऐसा आदेश प्रमुख सचिव (गृह) की तरफ से जारी किया गया है।

    -इस आदेश का उल्लंघन करने वालों पर पांच साल की जेल या एक लाख का जुर्माना या फिर दोनों की सजा हो सकती है। ढिलाई बरतने वाले अफसरों पर भी सख्त एक्शन होगा।

    हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को लगाई थी फटकार
    - 20 दिसम्बर 2017 को हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को फटकार लगाते हुए पूछा था कि किसके आदेश पर धार्मिक स्थल पर लाउडस्पीकर बज रहे है। किन अफसरों ने लाउडस्पीकर के इस्तेमाल की इजाजत दी है, ऐसे कितने धार्मिक स्थल हैं?

    - कोर्ट ने कहा था- अफसरों में नियम लागू करने की इच्छाशक्ति नहीं है या फिर उनका उत्तरदायित्व तय नहीं है। ऐसी स्थिति है कि कोर्ट को दखल देना पड़ रहा है।

    - ध्वनि प्रदूषण नियम (2000) को प्रदेश में सख्ती से लागू कराने के लिए क्या कदम उठाए गए?
    - क्या धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर लिखित अनुमति के बाद लगाए गए ? यदि नहीं तो उन्हें हटाने के लिए क्या कार्रवाई की गई?
    - जिन अधिकारियों पर बिना अनुमति के लाउडस्पीकर का प्रयोग रोकने की जिम्मेदारी थी, उन पर क्या कार्रवाई हुई?
    - नियम को सख्ती से लागू न कराने वाले अधिकारियों का क्या उत्तरदायित्व तय किया गया?
    - ध्वनि प्रदूषण की शिकायत के लिए क्या कोई वेबसाइट बनाई गई?

    कहां कितना है ध्वनि का मानक

    एरिया कैटेगरी

    मानक दिनमानक रात
    इंडस्ट्रियल75 डेसी.70 डेसी.
    कॉमर्शियल65 डेसी.55 डेसी.
    रेंजिडेंशियल55 डेसी.45 डेसी
    साइलेंस जोन50 डेसी.40 डेसी
  • बगैर इजाजत लाउडस्पीकर बजाने पर होगी कार्रवाई, 5 साल की जेल के साथ एक लाख का जुर्माना
    +1और स्लाइड देखें
    20 दिसम्बर 2017 को HC ने यूपी सरकार को फटकार लगाते हुए पूछा था- किसके आदेश पर धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर बज रहे हैं।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Lucknow News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: यूपी समचार: Loudspeakers Without Permission Not Allowed In Religious Places, बिना परमिशन मंदिर, मस्जिद में लाउडस्पीकर नहो चलेंगे
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×