--Advertisement--

नए साल में इन रूटों पर दौड़ेगी लखनऊ मेट्रो, तेज हुई प्रक्रिया

2018 में केडी सिंह स्टेडियम से मुंशी पुलिया के बीच भी मेट्रो स्टेशन का स्वरूप दिखायी देने लगेगा।

Danik Bhaskar | Jan 01, 2018, 11:02 AM IST
फाइल । फाइल ।

लखनऊ. साल 2017 में जहां राजधानी के लोगों को मेट्रो का तोहफा मिला। वहीं, 6 सितंबर, 2017 को मेट्रो रेल का संचालन भी शुरू हुआ। पहले चरण में साढ़े 8 किमी का संचालन शुरू हुआ जिससे चारबाग से ट्रांसपोर्ट नगर तक आना जाना आसान हो सका। इसके अलावा भूमिगत मेट्रो रूट का काम भी तेजी से शुरू किया गया। हुसैनगंज, सचिवालय और हजरतगंज के भूमिगत स्टेशन जहां पूरा होने को है, वहीं, 2018 में केडी सिंह स्टेडियम से मुंशी पुलिया के बीच भी मेट्रो स्टेशन का स्वरूप दिखायी देने लगेगा।

एलएमआरसी के लिए अभी चुनौती बना

-चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट मेट्रो स्टेशन को दिसंबर 8 तक तैयार करना एलएमआरसी के लिए अभी चुनौती बना हुआ है।
-अफसरों का दावा है कि अगर यह स्टेशन बनकर तैयार होता है तो विश्व में सबसे तेज बनने वाला भूमिगत स्टेशन भारत का होगा।
-नार्थ साउथ कॉरिडोर में चार भूमिगत स्टेशन हैं। एयरपोर्ट से कनेक्टिविटी के मामले में चौधरी चरण सिंह मेट्रो स्टेशन सबसे खास होगा।

मेट्रो का एप होगा लांच

-लखनऊ मेट्रो नए में अपना एप लांच करेगा। लखनऊ मेट्रो की वेबसाइट पर सारी जानकारी मिल रही हैं वह सब इस एप पर मौजूद होगी।
-मेट्रो के अधिकारियों का यह भी कहना है कि ये एप दिल्ली मेट्रो से खास है। एलएमआरसी की एप में फेयर कैलकुलेशन हो सकता है यानी किसी भी स्टेशन के बीच कितना किराया होगा उसका कैलकुलेशन किया जा सकता है।
-जबकि दिल्ली मेट्रो की एप में सिर्फ यह अंकित है कि कहां से किस स्टेशन तक कितना किराया होगा। इस ऐप के जरिए रेजिस्टरड उजर स्मार्ट कार्ड रिचार्ज भी कर सकेंगे।
-इस एप पर आप फेसबुक और जीमेल के जरिये रजिस्टर हो सकेंगे। आने वाले समय में लखनऊ मेट्रो एप यूजर्स को स्पेशल वाउचर देने का भी प्लान बना रहा है।


मेट्रो को मिले कई अवार्ड

-लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन ने बीते साल कई खिताब अपने नाम किए। मेट्रो ने प्रारंभिक चरण में नार्थ साउथ कॉरिडोर की 8.5 किमी को तीन साल के अंदर तैयार कर संचालन शुरू किया। इस उपलब्धि के लिए एलएमआरसी को मेट्रो रेल की श्रेणी में प्रसिद्ध 'डन एंड ब्रैडस्ट्रीट इन्फ्रा पुरस्कार', 2017 से सम्मानित किया गया।
-ये सम्मान एलएमआरसी को 2 नवंबर को मुंबई में दिया गया। कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी शामिल रहे।
-मेट्रो के उद्घाटन से पहले लखनऊ मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को प्लेटिनल अवार्ड से नवाजा गया है। लखनऊ मेट्रो प्रदेश की पहली सरकारी परियोजना है जिसने भारतीय ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल ट्ठआईजीबीसी) रेटिंग पण्राली में सर्वोच्च प्लेटिन रैंकिंग प्राप्त की है।
-मेट्रो को ग्रीन मेट्रो रेल सिस्टम के रूप में प्रमाणित किया गया है। प्रायरिटी कोरीडोर के ट्रान्सपोर्ट नगर से चारबाग तक के सभी आठ स्टेशनों को प्लेटिनम रेटिंग प्रदान किए गए हैं। नवीनतम तौर तरीकों को अपनाने के लिए गौरवपूर्ण डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम मेमोरियल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

बसंतकुंज रूट पर मार्च 2018 में शुरू होगा काम

-ईस्ट-वेस्ट कोरिडोर, चारबाग से बसंतकुंज तक 11.5 किमी में मेट्रो रूट का काम मार्च से शुरू करने की कार्ययोजना तैयार की गई है।
-इस रूट में पूरी तरह से भूमिगत होगा। डीपीआर तैयार कर डीएमआरसी के पास फाइनल स्टडी के लिए भेजा गया है।
-प्रदेश और केन्द्र सरकार से अनुमति मिलने की प्रक्रिया में पूरा करने में दो माह का समय लगेगा।
-इस रूट में 12 स्टेशन होंगे। नई मेट्रो पॉलिसी आने के बाद इस रूट का डीपीआर बदलने की कवायद की गई थी।

फाइल । फाइल ।