Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» DM Kaushal Raj Sharma Meeting Over Loudspeaker Use

जिसके पास परमिशन नहीं, उनके हटेंगे लाउडस्पीकर: DM कौशल राज शर्मा

लखनऊ में लाउडस्पीकर परमिशन मामले पर डीएम लखनऊ कौशल राज शर्मा ने बैठक बुलाई।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 15, 2018, 10:37 PM IST

  • जिसके पास परमिशन नहीं, उनके हटेंगे लाउडस्पीकर: DM कौशल राज शर्मा
    +1और स्लाइड देखें
    डीएम लखनऊ कौशल राज शर्मा ने लाउडस्पीकर परमिशन फॉर्म मामले पर सभी सीओ, एएसपी, एसीएम, एसडीएम के साथ मीटिंग की।

    लखनऊ. राजधानी में डीएम लखनऊ कौशल राज शर्मा ने लाउडस्पीकर परमिशन फॉर्म मामले पर सोमवार को बैठक बुलाई। इसमें लखनऊ क्षेत्र के सभी सीओ, एएसपी, एसीएम, एसडीएम ने लाउडस्पीकर लगवाने संबंधी एप्लीकेशन फॉर्म डीएम के सामने प्रस्तुत किए। इस दौरान डीएम ने कहा, ''अभी 15 जनवरी तक के सभी फॉर्म जमा हुए हैं। इसपर 22 तारीख तक सारी प्रक्रिया पूरी होगी। मानकों पर जो धार्मिक स्थल खरे उतरेंगे, उनको ही परमिशन दी जाएगी और अनुकूल वालों को रिजेक्ट कर दिया जाएगा।'' बता दें, हाईकोर्ट ने नॉइज पॉल्यूश को लेकर सख्त आदेश जारी किए थे। आदेश था कि सभी धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर बजाने को लेकर 15 जनवरी तक परमिशन लेनी होगी।


    प्रमुख सचिव गृह ने किया ये आदेश

    - प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार की ओर से जारी सर्कुलर में कहा गया है, ''पब्लिक प्लेस पर 10 डेसिबल (डीबी) से ज्यादा और प्राइवेट प्लेस पर 5 डेसिबल से ज्यादा की आवाज नहीं होनी चाहिए।

    - यूपी के आईजी एलओ ने सभी जिलों के एसपी-एसएसपी को हाईकोर्ट के आदेश का पालन कराने का निर्देश दिया है। कार्यवाहक डीजीपी आनन्द कुमार का कहना है, "हाइकोर्ट के आदेश का पालन कराने के लिए सर्कुलर जारी किया गया है।"

    - बता दें, जिन्होंने अभी तक एप्लीकेशन फॉर्म नहीं जमा किए हैं। उनको एक-दो दिन की मोहलत और दी गई है।

    कोर्ट ने टिप्पणी कर दिए थे ये आदेश

    - इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने बुधवार को ध्वनिप्रदूषण (रेग्यूलेशन एण्ड कंट्रोल) नियम- 2000 का पालन न कराने पर सरकार को फटकार लगाई थी।

    - न्यायमूर्ति विक्रमनाथ एवं न्यायमूर्ति अब्दुल मोईन की बेंच ने एक जनहित याचिका पर धार्मिक और सार्वजनिक स्थानों पर बिना अनुमति लाउडस्पीकरों के बजाने पर एतराज जताया था।

    - कोर्ट ने बेंच ने प्रमुख सचिव (गृह) व प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड़ के चेयरमैन से पूछा था कि नियम बना दिए गए तो फिर अफसर उनका पालन क्यों नहीं कराते है।

    - कोर्ट ने सुनवाई के दौरान पूछा था- मंदिरों, मस्जिदों व अन्य धार्मिक स्थलों पर बिना अनुमति के कितने लाउडस्पीकर लगे हैं, कितने उतारे गए हैं? समारोहों या जुलूसों में तेज आवाज वाले लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल पर क्या कार्रवाई की गई? कोर्ट ने दोनों अधिकारियों से ये सारी सूचनाएं व्यक्तिगत हलफनामे में 1 फरवरी तक पेश करने का आदेश दिया है। सूचना न देने पर खुद हाजिर होने को कहा है।

    यह है नियम

    - याची के मुताबिक, नियम है कि बिना अधिकारी की अनुमति के लाउडस्पीकरों का प्रयोग नहीं किया जाएगा। ऑडिटोरियम और कॉन्फ्रेंस रूम जैसे बंद स्थानों को छोड़कर रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकरों का प्रयोग नहीं होगा।
    - हालांकि, राज्य सरकार साल में अधिकतम 15 दिनों के लिए सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यो के लिए रात 10 से 12 बजे के बीच लाउडस्पीकर के इस्तेमाल की छूट दे सकती है।

  • जिसके पास परमिशन नहीं, उनके हटेंगे लाउडस्पीकर: DM कौशल राज शर्मा
    +1और स्लाइड देखें
    हाईकोर्ट का आदेश था कि सभी धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर बजाने को लेकर 15 जनवरी तक परमिशन लेनी होगी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Lucknow News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: DM Kaushal Raj Sharma Meeting Over Loudspeaker Use
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×