--Advertisement--

पिता के इलाज के लि‍ए ऐसे रोता रहा मासूम, डॉ बोले- फेंकवा दूंगा बाहर

शाहजहांपुर में एक 8 साल का बच्चा अपने पिता के इलाज के लिए कभी डॉक्टर्स के सामने गिड़गिड़ाता है तो मीडिया के सामने।

Dainik Bhaskar

Dec 26, 2017, 11:38 AM IST
शाहजहांपुर जिला अस्पताल में अपने पिता के इलाज के लिए 8 साल के बच्चे ने डॉक्टर्स से लाखों मिन्नतें कीं, लेकिन डॉक्टर का एक बार भी दिल नहीं पसीजा। शाहजहांपुर जिला अस्पताल में अपने पिता के इलाज के लिए 8 साल के बच्चे ने डॉक्टर्स से लाखों मिन्नतें कीं, लेकिन डॉक्टर का एक बार भी दिल नहीं पसीजा।

शाहजहांपुर. यूपी के शाहजहांपुर में स्वास्थ्य विभाग की पोल खुल गई है। यहां एक 8 साल का बच्चा अपने पिता के इलाज के लिए कभी डॉक्टर्स के सामने गिड़गिड़ाता है तो मीडिया के सामने। पिछले 22 दिन से ऐसा ही चल रहा है। इस बच्चे के पास 9 हजार रुपए नहीं हैं इसीलिए डॉक्टर्स ऑपरेशन नहीं कर रहे हैं। साथ ही वो कहते हैं- अगर पैसा नहीं दिया तो अस्पताल से बाहर फेंकवा देंगे। इस मामले पर कोई भी अधिकारी बोलने को तैयार नहीं है। ये है पूरा मामला...

 

- शाहजहांपुर जिला अस्पताल में अपने पिता के इलाज के लिए 8 साल के बच्चे ने डॉक्टर्स से लाखों मिन्नतें कीं, लेकिन डॉक्टर का एक बार भी दिल नहीं पसीजा।
- इस मरीज का नाम लालजीत(45) है। उनका 8 साल का बेटा जगमोहन है। मासूम जगमोहन ने बताया, वो अपने पिता को 22 दिन पहले जिला अस्पताल लेकर आया था। पिता को गांव के ही कुछ दबंगों ने लाठी-डंडों से पीट दिया था।
- इससे उनके शरीर पर काफी ज्यादा गंभीर चोटें आई थीं। पिटाई के दौरान उसके पिता का पैर टूट गया था, साथ ही खून भी ज्यादा बह गया था।
- पिता को उसने अस्पताल में भर्ती तो करा दिया, लेकिन डॉक्टर्स ने 4 यूनिट ब्लड का इंतजाम करने को कह दिया। पैसे नहीं थे, लेकिन किसी तरह दो यूनि‍ट ब्लड का इंतजाम किया।

 

डॉक्टर मांग रहे हैं 9 हजार रुपए
- बच्चे के मुताबिक, डॉक्टर ऑपरेशन के लिए 9 हजार रुपए मांग रहे हैं। कहते हैं- पहले दो यूनीट ब्लड का और इंतजाम करो। साथ ही पैसे भी जमा करो, तभी ऑपरेशन होगा।
- पिछले 15 दिन से वो दर-दर भटक चुका था, लेकिन उसको ब्लड नहीं मिल पा रहा था। तभी वो रोता हुआ एक डाक्टर के पास पहुंचा और खून के लिए भीख मांगने लगा।
- वहां मौजूद मीडिया कर्मियों ने बच्चे का रोता हुआ देख ब्लड बैंक से उसे दो यूनि‍ट ब्लड दिलाया। लेकिन 9 हजार रुपए न होने की वजह से पिता का ऑपरेशन करने को डॉक्टर्स ने मना कर दिया।
- बच्चे ने पैसे देने से इनकार किया, तो जिला अस्पताल के डॉक्टर ओपी गौतम ने धमकी तक दे डाली- ''अगर ऑपरेशन के लिए पैसे नहीं दिए तो उसके पिता को लखनऊ रेफर कर देंगे या फिर अस्पताल के बाहर फेंकवा देंगे।''

 

योगी से लगाई गुहार
- पीड़ित लालजीत ने सीएम योगी से मदद की अपील की है। उनका कहना है- ''सुना था कि जिला अस्पताल में तो गरीब का फ्री में इलाज होता है। इसलिए वो सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए आया था, लेकिन यहां भी दवा से लेकर ऑपरेशन तक के पैसे देने पड़ रहे हैं।''
- ''योगी जी, मेरे पास पैसे नहीं है। मेरा फ्री में इलाज करा दो और जितने भी गरीब मरीज यहां हैं, उनका भी इलाज फ्री मे करवा दो।''
 
ऐसे लगी थी चोट
- लालजीत ने बताया, ''मेरी की गांव में 7 बीघा खेती है। खेत के मेड़ का विवाद गांव के ही दबंगों से हो गया था। तीन बीघा खेत में उसका गन्ना तैयार हो चुका था, जिसकी कीमत करीब 60 हजार रुपए थी। लेकिन दबंगों ने पुलिस की मिलीभगत से पहले तो मुझे लाठी-डंडों से पीटा। उसके बाद खेत में तीन बीघा खेत पर तैयार गन्ना कटवा दिया।''
- ''गन्ना बेचने के बाद दारोगा ने महज 3900 रुपए मेरे पास भिजवा दिए। जब मैंने मारपीट की तहरीर थाने में दी, तो उसकी एक भी नहीं सुनी गई।''
- ''22 दिन बीत चुके हैं, दबंग खुलेआम घूम रहे हैं। उनके खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की और हम 22 दिन से जिला अस्पताल में मौत का इंतजार कर रहे हैं।''

मीडिया कर्मियों ने बच्चे का रोता हुआ देख ब्लड बैंक से उसे दो यूनि‍ट ब्लड दिलाया। मीडिया कर्मियों ने बच्चे का रोता हुआ देख ब्लड बैंक से उसे दो यूनि‍ट ब्लड दिलाया।
अगर ऑपरेशन के लिए पैसे नहीं दिए तो उसके पिता को लखनऊ रेफर कर देंगे या फिर अस्पताल के बाहर फेंकवा देंगे। अगर ऑपरेशन के लिए पैसे नहीं दिए तो उसके पिता को लखनऊ रेफर कर देंगे या फिर अस्पताल के बाहर फेंकवा देंगे।
X
शाहजहांपुर जिला अस्पताल में अपने पिता के इलाज के लिए 8 साल के बच्चे ने डॉक्टर्स से लाखों मिन्नतें कीं, लेकिन डॉक्टर का एक बार भी दिल नहीं पसीजा।शाहजहांपुर जिला अस्पताल में अपने पिता के इलाज के लिए 8 साल के बच्चे ने डॉक्टर्स से लाखों मिन्नतें कीं, लेकिन डॉक्टर का एक बार भी दिल नहीं पसीजा।
मीडिया कर्मियों ने बच्चे का रोता हुआ देख ब्लड बैंक से उसे दो यूनि‍ट ब्लड दिलाया।मीडिया कर्मियों ने बच्चे का रोता हुआ देख ब्लड बैंक से उसे दो यूनि‍ट ब्लड दिलाया।
अगर ऑपरेशन के लिए पैसे नहीं दिए तो उसके पिता को लखनऊ रेफर कर देंगे या फिर अस्पताल के बाहर फेंकवा देंगे।अगर ऑपरेशन के लिए पैसे नहीं दिए तो उसके पिता को लखनऊ रेफर कर देंगे या फिर अस्पताल के बाहर फेंकवा देंगे।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..