--Advertisement--

4 दिन बाद लौटकर इस बच्चे ने बताई आपबीती, चॉकलेट का लालच देकर ले गया था कबाड़ी

मोहित की जेब से बहराइच जाने वाली रोडवेज बस का टिकट मिला।

Danik Bhaskar | Jan 05, 2018, 01:34 PM IST
9 साल का मासूम खुद घर लौट कर आया। 31 जनवरी को कबाड़ी वाले ने उसे किडनैप किया था। 9 साल का मासूम खुद घर लौट कर आया। 31 जनवरी को कबाड़ी वाले ने उसे किडनैप किया था।

लखनऊ. अलीगंज से 31 दिसंबर को गायब हुआ मासूम 4 जनवरी की देर शाम अपने घर पहुंच गया। सोहित को घर पर परिजनों ने अचानक देख घरवालों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। एसओ बृजेश सिंह ने कहा, "ये जानना जरुरी है कि बच्चे को अगवा करके कहां भेजा गया। फिर वापस कैसे लौट आया। ये गंभीर मामला है। मेडिकल जांच में सोहित सामान्य पाया गया है। मासूम ने बताई आपबीती...

-सोहित जब अपने घर लौटा, तब उसके कपड़े नए थे। उसकी जेब से रोडवेज का टिकट मिला। ये टिकट बहराइच जाने वाली बस का है। नए कपड़े ठेले वाले अंकल ने दिलाए। उन्होंने मुझे खूब अच्छा-अच्छा खाना खिलाया।
-सोहित ने बताया, "ठेले वाले अंकल ने पहले मुझे चॉकलेट का लालच दिया। उसके बाद अपने साथ मुझे लेकर गए। एक जगह उन्होंने अपना ठेला खड़ा किया। उसके बाद टैंपों में मुझे बिठा कर ले गए।फिर गुरुवार को मुझे पुरनिया चौराहे तक एक भैया के साथ भेज दिया।"


वहां थे पांच और बच्चे
-सोहित ने बताया- ठेले वाले अंकल के घर में 5 बच्चे और थे। वो सोहित की पिटाई कर थे। सोहित अंकल से शिकायत करते थे, अंकल उसे डांट देते थे। रात में ओढ़ने के लिए कंबल भी नही था। अंकल पैर के पास सुलाते थे। दो तीन दिन मुझे कबाड़ बेचने के लिए अपने साथ भी ले गए।


-सोहित ने कहा-हमें खाना बहुत खराब मिलता था। गुरुवार को जब अंकल घर से निकले, तब मैंने उनसे कहा, "मुझे ले चलो, मां के पास जाना है।"

कबाड़ी वाले की पहचान हुई
- एसओ बृजेश सिंह ने बताया, "कबाड़ी वाले की पहचान हो गई है। बहराइच जिले के फखरपुर का रहने वाला है।किराए के कमरा लेकर लखनऊ के पुरनिया इलाके का रहता है। उसके मकान मालिक से पूछताछ के बाद ये जानकारी मिली है। क्राइम ब्रांच की टीम उसको पकड़ने के लिए गए है।

मोहित ने बताया- चॉकलेट का लालच देकर अंकल मुझे अपने साथ ले गए थे। मोहित ने बताया- चॉकलेट का लालच देकर अंकल मुझे अपने साथ ले गए थे।
मोहित की जेब से बहराइच जाने वाली रोडवेज बस का टिकट मिला है। मोहित की जेब से बहराइच जाने वाली रोडवेज बस का टिकट मिला है।
31 जनवरी को दोपहर 2 बजे सोहित को कबाड़ी वाला किडनैप करके ले गया था। 31 जनवरी को दोपहर 2 बजे सोहित को कबाड़ी वाला किडनैप करके ले गया था।