--Advertisement--

27 सांसदों ने इसल‍िए 3 घंटे तक रेलवे अफसरों के साथ की मीटिंग, इन बिंदुओं पर हुई चर्चा

लखनऊ. मंगलवार को यूपी के 27 सांसद ने पूर्वोत्तर रेलवे के डीआरएम के साथ लंबी मीटिंग की।

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 11:34 PM IST

लखनऊ. मंगलवार को यूपी के 27 सांसद ने पूर्वोत्तर रेलवे के डीआरएम के साथ लंबी मीटिंग की। इसमें गोरखपुर डीआरएम से समक्ष लोकसभा सांसद कीर्ति वर्धन ने गोंडा क्षेत्र में बने ओवरब्रिज बनाने और ट्रेनों के टहराव समेत 17 बिन्दुओं का सुझाव दिए। तीन घंटे चली बैठक में ज्यादातर सांसद पूर्वांचल से थे। लोकसभा चुनाव को देखते हुए बढ़ी बेचैनी...


-लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे UP के बीजेपी सांसदों की बेचैनी बढ़ने लगी है। चुनावी समर में कूदने से पहले वो विकास योजनाएं धरातल पर उतराने को लेकर परेशान हैं।
-बताया जा रहा है कि मंगलवार को BJP के तकरीबन 27 सांसद लखनऊ में पूर्वोत्तर रेलवे के डीआरएम से मुलाकात और अपने क्षेत्र में पढ़ने वाले रेलवे की समस्याएं दूर कराने की मांग की हैं।


इन मुद्दों पर हुई चर्चा
-पूर्वांचल के एक सांसद ने कहा, 2014 से केन्द्र में हमारी सरकार है, मगर हम रेलवे से जुड़ी छोटी-छोटी समस्याएं सॉल्व नहीं करा पाए हैं।
-रेल मंत्रालय से कहा गया है क‍ि फंड रिलीज हो गया है, जो काम रेलवे को करना है। वहीं, रेलवे अफसरों के अनुसार, फाइल तैयार है, बस काम शुरू करना है।
-रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया, 17 लोकसभा सांसद और 10 राज्यसभा सांसद ने सामूहिक तौर पर मिलने का समय मांगा था।


वादे पूरे नहीं होने पर सांसद नाराज
- फैजाबाद सांसद लालू सिंह का कहना है कि पार्टी की ओर से जो वादे किए गए थे, उसका ड्राफ्ट और उसका फंड केन्द्र सरकार बनने के बाद जारी किया गया। रेलवे द्वारा काम नहीं करने की वजह से क्षेत्र में परेशानी होती है। हमने अयोध्या-फैज़ाबाद जंक्शन में 7 बिन्दुओं का सुझाव रेलवे को दिया है।
-सांसद कीर्ति वर्धन सिंह ने बताया, हम लोगों ने गोंडा के मनकापुर में इंटरसिटी एक्सप्रेस, काठगोदाम एक्सप्रेस, गोरखधाम एक्सप्रेस के ठहराव को लेटर 2014 में ही दिया था, मगर इस पर आज तक अमल नहीं किया है, ज‍िसको लेकर मीटिंग में चर्चा हुई।
- 7 स्थानोंं पर फुटओवर ब्रिज क प्रस्ताव 2014 में दिया गया था। केंद्र से बजट जारी कर दिया गया, लेक‍िन काम शुरू नहीं हुआ। जिसमें से तीन फुटब्रिज अगले महीने से शुरू करने की जानकारी मीटिंग में दी गई।
- सरयू एक्सप्रेस को फैजाबाद से बढ़ाकर गोंडा तक चलाने का प्रस्ताव अभी तक लंबित है। इलाहाबाद, बनारस, से सीधा कनेक्शन नहीं है जिसपर काम शुरू हो गया है।