--Advertisement--

प्रधान ने पूर्व MLA के पर लगाया था आरोप, खुलासे में ये सच आया सामने

ग्राम प्रधान ने भाई के साथ मिलकर रची थी अपहरण की साजिश।

Danik Bhaskar | Dec 13, 2017, 10:49 AM IST
पूर्व MLA के बेटों को फंसाने के लिए रची थी साजिश । पूर्व MLA के बेटों को फंसाने के लिए रची थी साजिश ।

बहराइच. दो हफ्ते से गायब दिकोलिया गांव के प्रधान राममिलन भास्कर को बौंडी पुलिस ने सर्विलांस सेल की मदद से खोज निकाला है। उसके भाई ने कैसरगंज के पूर्व विधायक के दो बेटों, ग्राम विकास अधिकारी समेत 9 लोगों पर अपहरण का आरोप लगाते हुए बौंडी थाने और एसपी से शिकायत की थी। प्रधान के बरामदगी के बाद पूछताछ के दौरान अपहरण की कहानी झूठी निकली।

-ग्राम प्रधान ने अपने भाई के साथ मिलकर चुनावी रंजिशन विरोधियों को फंसाने के लिए अपहरण का झूठा मामला रचा था, लेकिन दांव उल्टा पड़ गया। पुलिस ने दोनों को शांतिभंग की आशंका में जेल भेज दिया है।
-फखरपुर विकास खंड अंतर्गत बौंडी थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत दिकोलिया निवासी राममिलन भास्कर ग्राम प्रधान हैं। 28 नवंबर को ग्राम प्रधान रहस्यमय हालात में घर से गायब हो गया था।
-जिसके बाद ग्राम प्रधान के छोटे भाई बिहारी भास्कर ने बौंडी थाने में बीते 3 दिसंबर को कैसरगंज के पूर्व विधायक हसीब खां के बेटे जावेद खां और उजेर अहमद, ग्राम विकास अधिकारी गिरीश कुमार समेत 9 लोगों पर अपहरण का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई थी।
-बिहारी भास्कर ने मामले की शिकायत मुख्यमंत्री, डीएम, सीडीओ, डीपीआरओ, वीडीओ व सीओ से लिखित रूप से की थी। जिस पर बौंडी पुलिस ने ग्राम प्रधान की खोज शुरू की थी।

कॉल डिटेल के आधार पर हुआ भाई पर शक


-पुलिस ने मामले में सर्विलांस सेल का सहारा लिया। कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस को ग्राम प्रधान के भाई बिहारी पर शक हुआ। शक के आधार पर पुलिस ने बिहारी लाल से कड़ाई से पूछताछ की तो वह नरम पड़ गया और पूरे कहानी से पर्दा हटा दिया।
-प्रभारी निरीक्षक बौंडी विद्यासागर वर्मा ने कांस्टेबल रवि प्रताप यादव, प्रभाकर चैधरी, अवध नारायण, सन्तोष यादव व रमेश यादव के साथ छापेमारी कर गायब ग्राम प्रधान राम मिलन को ग्राम पंचायत मुरौव्वा के मजरा धोबिनपुरवा के एक घर से बरामद कर लिया।
-ग्राम प्रधान राम मिलन व उसके भाई बिहारी ने बताया- "उन्होंने अपने विरोधियों को फंसाने के लिए अपहरण का खेल रचा था।

क्या कहना है पुलिस का


-मामले में एसओ विद्यासागर वर्मा ने बताया- "साजिश रचने वाले ग्राम प्रधान राम मिलन भास्कर व उसके भाई बिहारी लाल भास्कर को शांतिभंग करने के आरोप में जेल भेजा गया है।"

भाई ने किया मामले का किया खुलासा। भाई ने किया मामले का किया खुलासा।