Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Police Recruitment Candidate Protest In Front Of Vidhan Sabha

पुलिस भर्ती कैंडिडेट्स ने विधानसभा के सामने किया प्रर्दशन,

2015-2016 में भर्ती प्रक्रिया के बाद से अब तक फाइनल रिजल्ट घोषित नहीं हुआ।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 17, 2018, 11:56 AM IST

    • लखनऊ. राजधानी के चारबाग स्टेशन पर बुधवार को सैकड़ो की संख्या में पुलिस भर्ती कैंडिडेट ने प्रदर्शन किया। बता दें, साल 2015 में आई मेरिट बेस्ड सिपाही भर्ती प्रक्रिया का मामला कोर्ट में चला गया। वहीं, आजतक उसका रिजल्ट भी घोषित नहीं हुआ, लेकिन वर्तमान सरकार ने अभ्यर्थियों को बिना कोई राहत देते हुए सीधे नई सिपाही भर्ती प्रक्रिया का शासनादेश जारी कर दिए, जिसमें लिखित परीक्षा होनी है। इस बात से कैडिंडेट नाराज है और सीएम योगी से मिलकर अपना ज्ञापन सौंपना चाहते हैं। साथ ही, सरकार के महाधिवक्ता से मिलकर इस समस्या को रूबरू भी कराना चाहते हैं।मौके से भारी पुलिस फोर्स तैनात...


      - सपा सरकार में आई भर्ती प्रक्रिया में बदलाव कर 34 हज़ार 716 सिपाहियों की भर्ती मामले में आज तक परिणाम घोषित नहीं हुआ।
      - इसको लेकर बुधवार को सैकड़ों की संख्या में पुलिस अभ्यार्थी अपना विरोध ज़ाहिर कर रहे हैं। वहीं, पुलिस प्रशासन भी स्थिति को काबू करने में लगे हुए हैं।
      - बता दें, 29 दिसंबर 2015 को भर्ती बोर्ड ने 28,916 पुरुष और 5800 महिला सिपाहियों की भर्ती का ऑनलाइन आवेदन डाला था।
      - इसमें हाईस्कूल और इंटर में अंकों के आधार और शारीरिक परीक्षा में पास होने पर 34 हज़ार 716 सिपाहियों की भर्ती प्रक्रिया पूरी हुई थी। मामला कोर्ट में जाने के बाद भी नई भर्ती प्रक्रिया कराई जा रही है
      - प्रदर्शनकारियों का कहना है की कुछ लोगों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ भर्ती प्रक्रिया को लेकर इलाहबाद हाईकोर्ट में याचिका डाली थी। जिसके बाद 27 मई 2016 में हाईकोर्ट ने उस पर रोक लगा दी और सरकार की तरफ से सफल प्रयास ना होने पर अभी तक सिपाही भर्ती का परिणाम घोषित नहीं हुआ। कैडिडेंट खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलना चाहते है और हाईकोर्ट के इस फैसले में सरकार की तरफ से पैरवी करवाना चाहते हैं।
      - साथ ही, सरकार के महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह से मुलाकात कर अपनी समस्या को भी साझा करना चाहते है। लेकिन भारी पुलिस बल उन्हे लक्ष्मण मेला भेज रहा है।

      - वहीं, प्रदर्शन के दौरान कुछ कैंडिडेट्स ने गोमती नदी में छलांग लगा दी। जिससे वहां मौजूद लोगों में खौफ हो गया।

      क्या कहती है सरकार

      - वहीं, इस मामले में यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह का कहना है कि 34 हजार 716 भर्तियों का मामला कोर्ट में चल रहा है। ये वैकेंसी पहले की सरकार में निकली थी, जो कोर्ट में है। हमने जो वैकेन्सी निकली है वो अलग है, उसका इससे कोई लेना देना नहीं है। हमारी सरकार ने कोर्ट को बताया है कि हम नई भर्ती प्रक्रिया लाए हैं और जो कोर्ट आदेश करेगा पुरानी वैकेंसी में वैसा ही फैसला लिया जाएगा।

    • पुलिस भर्ती कैंडिडेट्स ने विधानसभा के सामने किया प्रर्दशन,
      +4और स्लाइड देखें
      प्रदर्शन में शामिल अभ्यर्थियों ने सड़कों पर प्रदर्शन करते हुए सरकार से वर्दी दो, या फांसी दो के नारे लगाए।
    • पुलिस भर्ती कैंडिडेट्स ने विधानसभा के सामने किया प्रर्दशन,
      +4और स्लाइड देखें
      प्रदर्शन के दौरान कुछ कैंडिडेट्स ने गोमती नदी में छलांग लगा दी।
    • पुलिस भर्ती कैंडिडेट्स ने विधानसभा के सामने किया प्रर्दशन,
      +4और स्लाइड देखें
      अभ्यर्थियों ने नयी भर्ती प्रक्रिया के विरोध में आत्मदाह करने की भी चेतावनी दी।
    • पुलिस भर्ती कैंडिडेट्स ने विधानसभा के सामने किया प्रर्दशन,
      +4और स्लाइड देखें
      अभ्यर्थियों ने परिवर्तन चौराहे पर बैठ कर घंटों प्रदर्शन किया।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×