--Advertisement--

पुलिस भर्ती कैंडिडेट्स ने विधानसभा के सामने किया प्रर्दशन,

2015-2016 में भर्ती प्रक्रिया के बाद से अब तक फाइनल रिजल्ट घोषित नहीं हुआ।

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2018, 11:56 AM IST
Police Recruitment Candidate protest in front of vidhan sabha

लखनऊ. राजधानी के चारबाग स्टेशन पर बुधवार को सैकड़ो की संख्या में पुलिस भर्ती कैंडिडेट ने प्रदर्शन किया। बता दें, साल 2015 में आई मेरिट बेस्ड सिपाही भर्ती प्रक्रिया का मामला कोर्ट में चला गया। वहीं, आजतक उसका रिजल्ट भी घोषित नहीं हुआ, लेकिन वर्तमान सरकार ने अभ्यर्थियों को बिना कोई राहत देते हुए सीधे नई सिपाही भर्ती प्रक्रिया का शासनादेश जारी कर दिए, जिसमें लिखित परीक्षा होनी है। इस बात से कैडिंडेट नाराज है और सीएम योगी से मिलकर अपना ज्ञापन सौंपना चाहते हैं। साथ ही, सरकार के महाधिवक्ता से मिलकर इस समस्या को रूबरू भी कराना चाहते हैं। मौके से भारी पुलिस फोर्स तैनात...


- सपा सरकार में आई भर्ती प्रक्रिया में बदलाव कर 34 हज़ार 716 सिपाहियों की भर्ती मामले में आज तक परिणाम घोषित नहीं हुआ।
- इसको लेकर बुधवार को सैकड़ों की संख्या में पुलिस अभ्यार्थी अपना विरोध ज़ाहिर कर रहे हैं। वहीं, पुलिस प्रशासन भी स्थिति को काबू करने में लगे हुए हैं।
- बता दें, 29 दिसंबर 2015 को भर्ती बोर्ड ने 28,916 पुरुष और 5800 महिला सिपाहियों की भर्ती का ऑनलाइन आवेदन डाला था।
- इसमें हाईस्कूल और इंटर में अंकों के आधार और शारीरिक परीक्षा में पास होने पर 34 हज़ार 716 सिपाहियों की भर्ती प्रक्रिया पूरी हुई थी। मामला कोर्ट में जाने के बाद भी नई भर्ती प्रक्रिया कराई जा रही है
- प्रदर्शनकारियों का कहना है की कुछ लोगों ने प्रदेश सरकार के खिलाफ भर्ती प्रक्रिया को लेकर इलाहबाद हाईकोर्ट में याचिका डाली थी। जिसके बाद 27 मई 2016 में हाईकोर्ट ने उस पर रोक लगा दी और सरकार की तरफ से सफल प्रयास ना होने पर अभी तक सिपाही भर्ती का परिणाम घोषित नहीं हुआ। कैडिडेंट खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलना चाहते है और हाईकोर्ट के इस फैसले में सरकार की तरफ से पैरवी करवाना चाहते हैं।
- साथ ही, सरकार के महाधिवक्ता राघवेंद्र सिंह से मुलाकात कर अपनी समस्या को भी साझा करना चाहते है। लेकिन भारी पुलिस बल उन्हे लक्ष्मण मेला भेज रहा है।

- वहीं, प्रदर्शन के दौरान कुछ कैंडिडेट्स ने गोमती नदी में छलांग लगा दी। जिससे वहां मौजूद लोगों में खौफ हो गया।

क्या कहती है सरकार

- वहीं, इस मामले में यूपी के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह का कहना है कि 34 हजार 716 भर्तियों का मामला कोर्ट में चल रहा है। ये वैकेंसी पहले की सरकार में निकली थी, जो कोर्ट में है। हमने जो वैकेन्सी निकली है वो अलग है, उसका इससे कोई लेना देना नहीं है। हमारी सरकार ने कोर्ट को बताया है कि हम नई भर्ती प्रक्रिया लाए हैं और जो कोर्ट आदेश करेगा पुरानी वैकेंसी में वैसा ही फैसला लिया जाएगा।

प्रदर्शन में शामिल अभ्यर्थियों ने सड़कों पर प्रदर्शन करते हुए सरकार से वर्दी दो, या फांसी दो के नारे लगाए। प्रदर्शन में शामिल अभ्यर्थियों ने सड़कों पर प्रदर्शन करते हुए सरकार से वर्दी दो, या फांसी दो के नारे लगाए।
प्रदर्शन के दौरान कुछ कैंडिडेट्स ने गोमती नदी में छलांग लगा दी। प्रदर्शन के दौरान कुछ कैंडिडेट्स ने गोमती नदी में छलांग लगा दी।
अभ्यर्थियों ने नयी भर्ती प्रक्रिया के विरोध में आत्मदाह करने की भी चेतावनी दी। अभ्यर्थियों ने नयी भर्ती प्रक्रिया के विरोध में आत्मदाह करने की भी चेतावनी दी।
अभ्यर्थियों ने परिवर्तन चौराहे पर बैठ कर घंटों प्रदर्शन किया। अभ्यर्थियों ने परिवर्तन चौराहे पर बैठ कर घंटों प्रदर्शन किया।
X
Police Recruitment Candidate protest in front of vidhan sabha
प्रदर्शन में शामिल अभ्यर्थियों ने सड़कों पर प्रदर्शन करते हुए सरकार से वर्दी दो, या फांसी दो के नारे लगाए।प्रदर्शन में शामिल अभ्यर्थियों ने सड़कों पर प्रदर्शन करते हुए सरकार से वर्दी दो, या फांसी दो के नारे लगाए।
प्रदर्शन के दौरान कुछ कैंडिडेट्स ने गोमती नदी में छलांग लगा दी।प्रदर्शन के दौरान कुछ कैंडिडेट्स ने गोमती नदी में छलांग लगा दी।
अभ्यर्थियों ने नयी भर्ती प्रक्रिया के विरोध में आत्मदाह करने की भी चेतावनी दी।अभ्यर्थियों ने नयी भर्ती प्रक्रिया के विरोध में आत्मदाह करने की भी चेतावनी दी।
अभ्यर्थियों ने परिवर्तन चौराहे पर बैठ कर घंटों प्रदर्शन किया।अभ्यर्थियों ने परिवर्तन चौराहे पर बैठ कर घंटों प्रदर्शन किया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..