--Advertisement--

अफसरों पर नजर रखने को बनी कमि‍टी, विधायक बनेंगे सरकार की 'तीसरी आंख'

लखनऊ. यूपी में ब्यूरोक्रेसी पर नजर बनाए रखने के लिए विधानसभा अध्यक्ष की ओर से लोक लेखा कम‍िटी बनाई गई है।

Danik Bhaskar | Jan 05, 2018, 08:36 PM IST
यूपी असेम्बली। फाइल यूपी असेम्बली। फाइल

लखनऊ. यूपी में ब्यूरोक्रेसी पर नजर बनाए रखने के लिए विधानसभा अध्यक्ष की ओर से लोक लेखा कम‍िटी बनाई गई है। इस समिति में 26 सदस्य होते हैं, जिसमें 21 विधायक और 5 विधान परिषद सदस्यों को रखा गया है। ये पूरे प्रदेश भर में ब्यूरोक्रेसी और अन्य अधिकारियों पर नजर रखेंगे। साथ ही सरकारी धन के खर्च और उसकी सही रिपोर्ट विधानसभा के सामने रखेंगे।

(आगे की स्लाइड्स में पढ़‍िए पूरी ल‍िस्ट)


- प्रमुख सचिव विधानसभा प्रदीप कुमार दुबे ने इसका लेटर जारी करते हुए कहा, ये कमेटी मुख्य रूप से कार्यपालिका के कामों पर नियंत्रण और फाइनेंशियल मामलों को विशेष ध्यान रखते हुए अपनी रिपोर्ट विधानसभा को अपनी रिपोर्ट सौंपेगा।
- इसमें विधानसभा सदस्य रामवीर सिंह अग्निहोत्री मैनपुरी, दलवीर सिंह अलीगढ़, राधा मोहन दास अग्रवाल गोरखपुर, अशोक कुमार सिंह, चंदेल चंद्र प्रकाश शुक्ला, विरेद्र शिरोही, राम कुमार वर्मा, सुरेश श्रीवास्तव, पूरन प्रकाश, पंकज सिंह, चेतराम, अजय प्रताप सिंह उर्फ लल्ला भैया, सुशील सिंह, बजरंग बहादुर सिंह, मयंकेश्वर शरण सिंह, रवि कुमार सोनकर, फागू चोहान, महबूब अली, नरेंद्र सिंह वर्मा, उमा शंकर सिंह, संगम लाल गुप्ता को विधानसभा की ओर से लोक लेखा कम‍िटी का सदस्य नामित किया है।

-इसके अलाव 5 विधान परिषद के सदस्यों को भी नामित किया गया है।