--Advertisement--

UP बोर्ड एग्जाम की तैयार‍ियों पर उठ रहे सवाल, सेंटर्स पर CCTV लगाने का काम नहीं हुआ शुरू

लखनऊ. माध्यमिक शिक्षा परिषद ने यूपी बोर्ड के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा का शेड्यूल जारी कर दिया है।

Dainik Bhaskar

Dec 31, 2017, 04:41 PM IST
स‍िम्बोल‍िक। स‍िम्बोल‍िक।

लखनऊ. माध्यमिक शिक्षा परिषद ने यूपी बोर्ड के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट बोर्ड परीक्षा का शेड्यूल जारी कर दिया है। लेकिन अभी तक लखनऊ समेत प्रदेश भर के सरकारी स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने का काम शुरू नहीं हो पाया है। ये हाल तब है जब प्रदेश सरकार यूपी बोर्ड के हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का आदेश पहले ही जारी कर चुकी है। ऐसे में बोर्ड परीक्षा को नकलविहीन बनाने के दावे पर अभी से सवाल उठने लगे हैं। आगे पढ़‍िए पूरा मामला...

-माध्यमिक शिक्षा परिषद इस बार प्रदेश भर के करीब 8500 परीक्षा केन्द्रों पर बोर्ड परीक्षा आयोजित कराने जा रही है। लखनऊ में बोर्ड परीक्षा के लिए 154 केंद्र बनाए गए हैं।

-प्रदेश सरकार ने हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का निर्देश पहले ही जारी कर दिया है।

-सरकार ने इस बार उन्हीं स्कूलों को बोर्ड परीक्षा के लिए केंद्र बनाने का आदेश जारी किया है। जिन स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगे हों।

-माध्यमिक शिक्षा परिषद ने भी बोर्ड परीक्षा का शेड्यूल भी जारी कर दिया है, लेकिन अभी तक परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम शुरू नहीं हो पाया है।

-ऐसे में बोर्ड परीक्षा की तैयारियों पर अभी से सवाल उठने लगे हैं। सवाल बोर्ड परीक्षा को नकलव‍िहीन सम्पन्न कराने को लेकर भी उठ रहे हैं।

पिछली बार के मुकाबले कम बनें हैं सेंटर्स

- बोर्ड हेड क्वाटर्स ने 16 नवंबर को शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर परीक्षा केन्द्रों की प्रस्तावित सूची भी जारी कर दिया है। इसमें कई नए कॉलेजों को केंद्र बनने का मौका मिला है।
- सेंटर की सूची माद्यमिक शिक्षा परिषद https://upmsp.edu.in/ की वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है। कैंडि‍डेट्स शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर जाकर सेंटर चेक कर सकते हैं।
- यूपी बोर्ड ने 2018 की हाईस्कूल और इंटर परीक्षा के लिए केंद्रों का निर्धारण कार्य पूरा कर लिया है। इस बार बोर्ड हेड क्वार्टर पर कम्प्यूटर के जरिए सेंटर्स बनाए गए हैं। इसके लिए पिछले 5 दिन से प्रक्रिया चल रही थी, जो बुधवार देर रात पूरी हो गई।
- परीक्षा में नकल पर रोक लगाने के लिए राजकीय और अशासकीय विद्यालयों को ही परीक्षा केंद्र बनाने के निर्देश थे, लेकिन अपरिहार्य स्थिति में प्राइवेट कॉलेजों को भी सेंटर बनाया गया है।

- 2017 में जहां कुल 11414 परीक्षा केंद्र बने थे। वहीं, इस बार 2018 में ये संख्या घटकर 8500 रह गई है। परीक्षा केंद्रों का निर्धारण तय मानक और संसाधनों के आधार पर किया गया है।
- हर डिस्ट्रिक्ट में बड़े पैमाने पर सेंटर्स के नामों में कटौती की गई है। कुछ डिस्ट्रिक्ट में तो 400 सेंटर के नाम हटा दिए गए हैं।

क्या कहते हैं अध‍िकारी

-माध्यमिक शिक्षा विभाग के डायरेक्टर अवध नरेश शर्मा ने बताया, बोर्ड परीक्षा केद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने की तैयारी पूरी कर ली गई है। परीक्षा केन्द्रों पर जल्द ही सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने का काम शुरू कराया जाएगा।

X
स‍िम्बोल‍िक।स‍िम्बोल‍िक।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..