--Advertisement--

मुलायम ने कहा- पार्टी में कुछ लोग कर रहे हैं गुटबाजी, अखिलेश से भी कही है ये बात

शिवपाल यादव की गाड़ी में नहीं दिखा था सपा का झंडा।

Danik Bhaskar | Dec 31, 2017, 01:51 PM IST
मुलायम सिंह यादव ने कहा- पार्टी को आगे ले जाने के लिए संघर्ष जरूरी है। मुलायम सिंह यादव ने कहा- पार्टी को आगे ले जाने के लिए संघर्ष जरूरी है।

लखनऊ. दो माह के अंदर दूसरी बार सपा कार्यालय पहुंचे मुलायम सिंह यादव पार्टी के अंदर की गुटबाजी पर फिर हमलावर रहे। लोकबंधु राजनारायण की 31वीं पुण्यतिथि पर रविवार को सपा दफ्तर में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। और कहा कि कुछ नेता दल के अंदर गुटबाजी को बढ़ावा दे रहे हैं। माना जा रहा है कि उनका इशारा सपा के दो राज्यसभा सदस्यों की ओर था। सपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा, युवजन सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास यादव, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम भी श्रद्धांजलिसभा में शामिल थे।

सपा में है गुटबाजी

-मुलायम सिंह ने कहा- "सपा में कुछ बड़े नेता गुटबाजी कर रहे हैं। गुटबाजी ठीक बात नहीं है। मैंने अखिलेश से भी ये बात कही है। कार्यकर्ताओं से भी कह रहा हूं। गुटबाजी से नुकसान है। " माना जा जा रहा है कि उनका इशारा रामगोपाल यादव की तरफ था। जिनके दबाव के चलते ही शिवपाल यादव सपा में हासिये पर हैं।
-बता दें कि विधायक शिवपाल यादव और उऩके समर्थकों ने अपनी गाड़ियों से शुक्रवार को सपा का झंडा हटा दिया था। इस बारे में मीडियाकर्म‍ियों ने शिवपाल से पूछा तो उन्होंने कहा, अभी इस बारे में बताने का समय नहीं है।
-सितम्बर 2016 से समाजवादी पार्टी में विवाद चल रहा है। जनवरी 2017 से यह ज्यादा मुखर रूप में सामने आया।

-मार्च 2017 में विधानसभा चुनाव का रिजल्ट आने के बाद शिवपाल यादव ने नई पार्टी बनाने का एलान किया।

-मगर नौ महीने से वह दो कदम आगे, चार कदम पीछे की नीति पर चल रहे हैं।

मुलायम ने और क्या कहा

-पार्टी को आगे ले जाने के लिए संघर्ष जरूरी है। लोकबंधु राजनारायण जमीन से जुड़े हुए नेता थे। उन्होंने अन्याय कभी बर्दाश्त नहीं किया।
-उन्होंने कहा- "राजनारायण की मुलाकात इंदिरा गांधी से कराने में मेरा भी हाथ था। वो जो कहते थे वो करते थे। मैं उनके बेहद करीब था।"
-मैंने रक्षा मंत्री रहते हुए मुम्बई के अस्पताल में उनका इलाज कराया था। तब मेरी उन्होंने बहुत तारीफ की थी। राजनारायण का जन्मदिवस पार्टी कार्यालय में मनाने का फैसला मेरा था।

-मुलायम ने राजनारायण के राजनीतिक जीवन से जुड़े किस्से सुनाए।

-मुलायम ने दो भाइयों के झगड़े में राजनारायण के खड़े होने व अन्याय करने वाले भाई के विरुद्ध लड़ने का किस्सा सुनाया।

-इसी बहाने मुलायम ने इशारों में सपा के अंदर भी अन्याय करने वालों के विरुद्ध खड़े होने का इशारा किया।

नहीं नजर आयी युवा टोली

-सपा के हर कार्यक्रम में आगे -आगे रहने वाली युवा टोली कार्यक्रम में मौजूद नहीं थी। सिर्फ एमएलसी आनंद भदौरिया, युवजन सभा के महासचिव मनीष सिंह, राम सिंह राणा ही इस कार्यक्रम में नजर आए।