--Advertisement--

इस लड़की के लिए IPS ने कैंसिल कराया था टिकट, यहां से शुरू हुई लव स्टोरी

देश के 3 राज्यों में 27 नाटकों के 280 से भी ज्यादा शो कर चुकी सीमा मोदी।

Danik Bhaskar | Jan 21, 2018, 04:59 PM IST
सीमा को थिएटर और म्यूजिक का बहुत शौक है। सीमा को थिएटर और म्यूजिक का बहुत शौक है।

लखनऊ. देश के 3 राज्यों में 27 नाटकों के 280 से भी ज्यादा शो कर चुकी सीमा मोदी को यूपी की बहू के रूप में पुकारा जाता है। इस वक्त वो अपना पूरा फोकस अपने थिएटर आर्ट पर रख रही हैं। सीमा ने DainikBhaskar.com से बातचीत में अपनी शादी की बात को साझा किया। उन्होंने बताया, ''ये अपने किसी रिलेटीव की शादी में आए थे और मुझसे मिलने के लिए अपनी ट्रेन की टिकट तक कैंसिल करा दी।''


ऐसे आ गए थे घर...

- सीमा ने बताया, ''मेरी बेसिक एजूकेशन झारखंड से हुई। मैंने बीए तक की पढ़ाई हजारीबाग से ही किया है। झुमरी तलैया को बहुत सारी फिल्मों में और गानों में लोगों ने जाना है। अक्सर लोग 'झुमरी तलैया' शब्द को मजाक ही समझते हैं लेकिन बहुत कम लोग ही जानते हैं, कि झुमरी तलैया एक बहुत खूबसूरत वादियों वाला शहर है।''
- ''बात 1995 की है, मेरे आईपीएस पति मोहन मोदी अपनी शादी के लिए मेरे किसी रिश्तेदार घर आए थे। किसी कारण से शायद उन्हें लड़की पसंद नहीं आई। इसके बाद मुरादाबाद जानें के लिए स्टेशन पर पहुंचे तो जानकारी हुई, गाड़ी 6 घंटे लेट है।''
- ''मेरा घर स्टेशन के पास में ही था, तो मामा उन्हें लेकर घर आ गए। उस वक्त मैं बहुत ही ज्यादा चंचल स्वभाव की थी। मेरा पूरा घर म्यूजिकल माहौल में था। ढ़ोलक हॉरमोनियम सब व्यवस्था घर पर ही थी, क्योंकि मेरा शौक थिएटर और म्यूजिक था।''

सीमा की बेसिक एजूकेशन झारखंड से हुई। सीमा की बेसिक एजूकेशन झारखंड से हुई।

घर पर बनाया था मजाक


- सीमा ने कहा, ''मेहमान के आने के बाद मां ने कहा, जाओ पकौड़ी बनाओं। मैंने हंसते हुए कहा- मैं मेहमान नवाजी करूंगी, आप बनाओ। फिर मां पकौड़ी तलने लगी और मैं उनको खिलाने लगी।''
- ''जब उनका पेट भरने लगा तो वो खाने से मना करने लगे। मैंने ही चुटकी लेते हुए बोल- मां अब मत बनाओ, मेहमान मना करने वाले हैं। सब हंसने लगे, मां ने मुझे डांटा भी।''
- ''इसके बाद उन्होंने कहा- मुझे लगता है कुछ दिन यही रूक जाऊं। पापा ने कहा- किसने रोका है, तुम्हारा ही घर है। इसके बाद उन्होंने टिकट कैंसिल करवा दिया।''

 

सीमा पूरा फोकस अपने थिएटर आर्ट पर रखी हुई हैं। सीमा पूरा फोकस अपने थिएटर आर्ट पर रखी हुई हैं।

खुद ही बरात लेकर पहुंच गई


- सीमा ने कहा,''अगली सुबह मैंने मोदी जी की फरमाइश पर मैंने एक भजन गाया 'मोरा मन दपर्ण कहलाए' जिसके बाद ही उन्होंने मेरी बहुत तारीफ की।''
- ''मोहन ने मेरे मामा से बाहर आकर कहा- 'मेरी अभी तक की लाइफ के ये 24 घंटे सबसे अच्छे रहे हैं। मैं ड्यूटी पर जा रहा हू, लेकिन मेरी शादी सीमा से ही होगी, आप तैयारी कीजिए।''  
- ''2 महीनों में ही हमारी शादी होनी थी, इस बीच उनका लेटर आया कि छुट्टी नहीं मिल पाएगी, इसलिए सब लोग मुरादाबाद आ जाओ। यहीं से शादी होगी।'' 
- ''इसके बाद हम सब पूरी फैमिली के साथ मुरादाबाद ही आ गए, वहीं पर शादी हुई। आज भी मैं इनको कभी-कभी चिढ़ाती हूं कि मैं खुद बारात लेकर आई थी, क्योंकि मेरे पति के पास समय नहीं था।''  
- ''मैंने मुरादाबाद में रहकर ही एमए फिर हिस्ट्री से पीएचडी की और आज थिएटर के जरिए लड़कियों में कांफिडेंस डेवलप करने की थेरेपी पर काम कर रही हूं।''

आईपीएस पति मोहन मोदी के साथ सीमा। आईपीएस पति मोहन मोदी के साथ सीमा।