--Advertisement--

इन्वेस्टर्स मीट से पहले विभागों की डेड लाइन तय, एयरपोर्ट, नगर निगम, ट्रैफिक पुलिस और एलडीए को अल्टीमेटम

लखनऊ में 21 फरवरी 2018 से इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन किया जायेगा।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 11:17 AM IST

लखनऊ. यूपी में बिजनेस घरानों और अन्य बिजनेसमैन को आकर्ष‍ित करने के लिए राजधानी लखनऊ में 21 फरवरी 2018 से इन्वेस्टर्स मीट का आयोजन किया जायेगा। जो की 22 फरवरी को सम्पन्न हो जाएगा। इन्वेस्टर्स मीट में देश- विदेश की बिजनेस जगत की कई बड़ी हस्तियां मौजूद रहेगी। यूथ को रोजगार और प्रदेश के डेवलपमेंट को लेकर बनाए गए प्रोग्राम 'मेक इन यूपी' को बनाने के लिए कैबिनेट मंत्री सतीश महाना और उनकी पूरी टीम देशभर में रोड शो करेंगे। प्रदेश सरकार ने इन्वेस्टर्स मीट से पहले विभागों की डेड लाइन तय कर दिया है। साथ ही एयरपोर्ट, नगर निगम, ट्रैफिक पुलिस और एलडीए को अल्टीमेटम दिया गया है।

एयरपोर्ट को इनवेस्टर्स मीट से पहले खूबसूरत बनाने के कार्य
-एयरपोर्ट अथारिटी को पार्किंग क्षेत्र को दुरुस्त करना, टैक्सियों के लिए अलग रास्ता बनाने का काम 10 जनवरी तक पूरा करना होगा।
-आड़ी-तिरछी होर्डिंग और विज्ञापन के अन्य ऐसे बोर्ड को 31 दिसम्बर टतक हर हाल में हटाना होगा।
-एयरपोर्ट के भीतरी हिस्से की साफ-सफाई, सड़कों को दुरुस्त और बाउंड्री का निर्माण कार्य 10 जनवरी तक कम्प्लीट करना होगा।
-एयरपोर्ट के गोल चक्कर को संवारने, पौधे लगाने, आगमन और प्रस्थान हॉल को दुरुस्त करने का कार्य 10 जनवरी तक पूरा करना होगा।
-एयरपोर्ट की इमारतों की रंगाई-पुताई और साज सज्जा 10 जनवरी तक पूरी करनी होगी।

नगर निगम की जिम्मेदारी
-एयरपोर्ट के बाहरी हिस्से में साफ सफाई का कार्य 10 जनवरी तक पूरा करना होगा।
-एयरपोर्ट कैम्पस में घूम रहे आवारा पशुओं को हटाने का कार्य 31 दिसम्बर तक पूरा करना होगा।
-एयरपोर्ट पर विज्ञापन व सूचना की अन्य होर्डिंगों को 31 दिसम्बर तक मानकों के अनुकूल बनाना होगा।

ट्रैफिक पुलिस की जिम्मेदारी
-एयरपोर्ट की पार्किंग व्यवस्था दुरुस्त करने और वाहनों के आगमन-प्रवेश के लिए स्थान चयन में अथारिटी का सहयोग करेगी।

नेशनल हाईवे अथारिटी की जिम्मेदारी
- टूटे फूटे बैरियरों को इस माह के अंत तक यानी 31 दिसम्बर तक दुरुस्त करना होगा।
- जहां कहीं भी सड़क के डिवाइडर या किनारे पोस्टर चिपके हैं उनको हटाना होगा।
- स्पष्ट लिखावट वाले बड़े आकार के नए दिशा-स्थान सूचक बोर्ड लगाने होंगे।
- कानपुर रोड की एयरपोर्ट से लेकर शहीद पथ तक मरम्मत का कार्य 10 जनवरी तक पूरा होगा।
- एनएचएआई के मार्गों पर दोनों तरफ सर्विस रोड, अंडर पास की सफाई और मरम्मत 10 जनवरी तक करनी होगी।
- डिवाइडर और सड़क किनारे फूलों के पौधे और उनकी देखरेख का कार्य।
- शहीद पथ के किनारे झुग्गी झोपड़ियों को हटाने का कार्य भी 10 जनवरी तक पूरा होगा।
- शहीद पथ को जोड़ने वाली सड़कों की मरम्मत का कार्य 10 जनवरी तक।

''इनवेस्टर्स को लुभाने के लिए पूरे देश में होगा रोड शो, 18 दिसंबर को बेंगलुरु से होगी शुरुआत...
- फरवरी 2018 में होने वाले इन्वेस्टर्स मीट में ज्यादा से ज्यादा इन्वेस्टर्स को लाने के लिए यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना अपनी पूरी टीम के साथ देशभर में रोड शो करेंगे।
- इसके पीछे एक बड़ा कारण यूपी की छवि को साफ-सुथरी, बिजनेस फ्रेंडली और सुरक्षित दिखाने की भी है, ताक‍ि यहां पर ज्यादा से ज्यादा बिजनेस प्लांट को लगाया जा सके।
- इससे यूपी में उद्योग-धंधों को बढ़ावा और बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा। इस सम्म‍िट में देश और विदेश से 5 हजार से ज्यादा बड़े बिजनेसमैन के शामिल होने की संभावना है।
- इस रोड शो को ज्यादातर मुम्बई, बेंगलुरु, गोवा, कोलकाता, दिल्ली, चंडीगढ़, पंजाब और हैदराबाद में रखा जाएगा।
- कैबिनेट मंत्री सतीश महाना टीम के साथ 18 दिसंबर 2017 को बेंगलुरु से शुरुआत करेंगे। इसके बाद 19 दिसंबर को हैदराबाद और 22 दिसंबर 2017 को मुम्बई में रोड शो किया जाएगा।
- इसके बाद अलग-अलग शहर में अलग-अलग डेट पर कार्यक्रम को बनाकर उसे चलाया जाएगा।

क्यों जरूरी है ये रोड शो, क्या है 'मेक इन यूपी'
- मार्च 2017 विधानसभा में जीत के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने 'मेक इन इंडिया' की तर्ज पर 'मेक इन यूपी' का नारा दिया था। ताक‍ि बाहर के इंन्वेस्टर्स को यूपी में लाकर बिजनेस फ्रेंडली माहौल दिया जाएगा।
-इससे यहां के यूथ को रोजगार मिलेगा। इसी उद्देश्य से इन्वेस्टर्स मीट 2018 का आयोजन किया जा रहा है।


1069 फारेन इन्वेस्टर्स समेत सैकड़ों बिजनेसमैन होंगे शामिल
- मंत्री सतीश महाना ने बताया, इन्वेस्टर्स मीट में लगभग 1069 फाॅरेन इन्वेस्टर्स को भी बुलाया गया है जिसमें ज्यादातर एनआरआई हैं।
- साथ ही 5 हजार से ज्यादा डेलि‍गेट्स विभिन्न क्षेत्रों के लोग शामिल होंगे। इससे 1 लाख करोड़ निवेश आने की संभावना है।
- तीन पार्टनर कंट्री नीदरलैंड, मॉरि‍शस और फिनलैंड के उद्योगपति इस सम्म‍िट में शामिल होने की सहमति मिल चुकी है। बाकी देशों के उद्योगपतियों का कन्फर्मेशन भी जल्दी मिल जाएगा।
- प्रदेश के 22 विभागों को पूंजी निवेश कराने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिनमें प्रमुख रूप से आईटी इलेक्ट्रॉनिक्स, एग्रो एंड फूड प्रोसेसिंग, ऊर्जा, यूपीएसआईडीसी, ग्रेटर नोएडा, वाईईआईडीए, पर्यटन, डेरी डेवलेपमेंट, सिविल एविएशन और पशुधन विभाग शामिल हैं।

दुरुस्त हो व्यवस्था, दुल्हन की तरह सजेगी लखनऊ
- मंत्री ने कहा, ''प्रदेश सरकार का यह पहला इवेंट है, जो इतने भव्य स्तर पर आयोजित किया जा रहा है। लखनऊ को दुल्हन की तरह सजाया जाएगा।''
- ''समिट से एक हफ्ते पहले ही पूरे यूपी को हाईअलर्ट पर रखा जाएगा, जिससे किसी भी तरह का माहौल न बिगड़ने पाए।''
- ''शहर में जितनी भी होर्ड‍िंग्स लगाई जाए, सुंदर और आकर्षक होनी चाहिए। अवैध होर्ड‍िंग को हटाया जाए। यातायात व्यवस्था बेहतर होनी चाहिए। सड़कों को दुरूस्त किया जाए।''