Hindi News »Uttar Pradesh News »Lucknow News »News» Success Story On Topper Girl In Lucknow University

ऑटो रिक्शा चालक की बेटी ने किया यूनिवर्सिटी टॉप, अब प्रेसिडेंट देंगे मेडल

आदित्य मिश्रा | Last Modified - Dec 14, 2017, 09:22 AM IST

डॉ. भीम राव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी (बीबीएयू) की स्टूडेंट अनीता को राष्ट्रपति मेडल देंगे।
    • अनीता बीबीएयू में एमए हिंदी फाइनल ईयर में टॉप किया है।

      लखनऊ.डॉ. भीम राव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी (बीबीएयू) के दीक्षांत समारोह में स्टूडेंट अनीता को देश के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद 2 गोल्ड मेडल देकर सम्मानित करेंगे। उसने एमए हिंदी फाइनल ईयर के एग्जाम में यूनिवर्सिटी में टॉप किया है। अनीता एक मिडिल क्लास फैमिली से हैं। इन्होंने DainikBhaskar.com से बातकर अपने लाइफ एक्सपीरिएंस को शेयर किया।

      पापा चलाते थे ऑटो रिक्शा...

      - अनीता ने बताया, ''मेरा जन्म 23 मई 1992 को लखनऊ के देवपुर पारा में हुआ था। मेरे पापा जियालाल ऑटो रिक्शा चलाते थे। उनकी कमाई से घर का खर्चा चलता था। मां सुरेमा देवी हाउस वाइफ हैं।''
      - ''हम 2 बहन और एक भाई हैं। मैं सबसे बड़ी हूं, छोटी बहन पूजा और भाई विशाल दोनों पढ़ाई कर रहे है। पापा की कोई खास इनकम नहीं थी इसलिए पढ़ाई में काफी प्रॉब्लम फेस करनी पड़ी थी।''
      - ''मेरे पापा की डेथ 2015 में हार्ट अटैक से हो गई थी, घर में वहीं अकेले कमाने वाले थे। इसके बाद मैं और मेरी बहन साथ मिलकर बच्चों को ट्यूशन देना शुरू कर दिया। दोनों मिलकर 10 हजार रूपए महीने तक कमा लेते हैं।''
      - ''जिससे घर का खर्च और हम भाई-बहनों की फ़ीस जमा हो जाती है।''

      पढ़ाई में रही हमेशा तेज रही
      - ''मैं बचपन से ही पढ़ने में अच्छी थी और हमेशा अपने क्लास में टॉपर रही हूं। मैंने नवयुग कॉलेज से 2009 में हाईस्कूल 68 परसेंट और 2011 में इंटर 67 परेंसट नंबर से पास किया।''
      - ''मेरा ग्रेजुएशन 2014 में कम्प्लीट हुआ है तब मेरे 60 परसेंट मार्क्स आए थे।''

      ये है ड्रीम
      - अनीता ने कहा, ''मैंने 2016 में बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर यूनिवर्सिटी (बीबीएयू) से एमए हिंदी से कम्प्लीट किया। जिसमें मेरे 78 परसेंट मार्क्स आए थे।''
      - ''2017 में मैंने हिंदी सब्जेक्ट से नेट क्वालीफाई किया है, मैं अभी अपनी छोटी बहन पूजा के साथ बीबीएयू से बीएड कर रही हूं।''
      - ''मेरा सपना एक टीचर बनने का है। टीचर बनकर उन बच्चों को पढ़ाना चाहती हूं। जो बच्चों किसी कारण से स्कूल नहीं जा पाते है या पढ़ाई से वंचित रह जाते है।''

    • ऑटो रिक्शा चालक की बेटी ने किया यूनिवर्सिटी टॉप, अब प्रेसिडेंट देंगे मेडल
      +5और स्लाइड देखें
    • ऑटो रिक्शा चालक की बेटी ने किया यूनिवर्सिटी टॉप, अब प्रेसिडेंट देंगे मेडल
      +5और स्लाइड देखें
    • ऑटो रिक्शा चालक की बेटी ने किया यूनिवर्सिटी टॉप, अब प्रेसिडेंट देंगे मेडल
      +5और स्लाइड देखें
    • ऑटो रिक्शा चालक की बेटी ने किया यूनिवर्सिटी टॉप, अब प्रेसिडेंट देंगे मेडल
      +5और स्लाइड देखें
    • ऑटो रिक्शा चालक की बेटी ने किया यूनिवर्सिटी टॉप, अब प्रेसिडेंट देंगे मेडल
      +5और स्लाइड देखें
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Lucknow News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Success Story On Topper Girl In Lucknow University
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    Stories You May be Interested in

        More From News

          Trending

          Live Hindi News

          0
          ×